UP Nagar Nikay Chunav : यूपी के 4 महंगे नगर निगमों की कमान महिलाओं के हाथ, क्या दोबारा मिलेगा टिकट

Nagar Nigam Budget : नगर निकाय चुनाव का शंखनाद बस होने वाला है, इनमें सबसे ज्यादा चर्चा नगर निगमों को लेकर होती है. लेकिन क्या आपको पता है कि उत्तर प्रदेश के चार महंगे (बजट के आधार पर) नगर निगमों की कमान इस वक्त महिलाओं के हाथ में है. लखनऊ, गाजियाबाद, प्रयागराज और कानपुर की कमान महिलाओं के पास है.ये चारों सीटें इस बार भी अनारक्षित हैं, यानी इन नगर निगम में मौजूदा मेयर को दोबारा टिकट की दावेदारी कायम है और उनका दावा है कि म्यूनिसिपल कारपोरेशन में उन्होंने काफी बेहतर काम किया है. हालांकि टॉप 5 में आगरा नगर निगम भी है, जिसकी कमान बीजेपी के ही नवीन जैन के पास है. 

लखनऊ नगर निगम बजट -2162 करोड़ 
लखनऊ नगर निगम ने वित्त वर्ष 2022-23 में बजट 2162.50 करोड़ का बजट पारित किया था. नगर निगम की मेयर यानी महापौर संयुक्ता भाटिया (Samyukta Bhatia) हैं. भाटिया ने इस बार बजट के दौरान पार्षदों को हाउसटैक्स, सीवेज टैक्स, वाटर टैक्स नहीं लेने जैसे तोहफे दिए.मोबाइल फूड बैंक यानी चलती-फिरती दुकानों से कमाई बढ़ाई.  अनुसुइया रसोई में गरीबों को 10 रुपये में भरपेट भोजन मुहैया कराने के लिए 1 करोड़ का बजट रखा.  लक्ष्मण प्रेरणा स्थल में भगवान लक्ष्मण की 151 फीट ऊंची मूर्ति की स्थापना के साथ 7 करोड़ से महिला बाजार बनाने का ऐलान किया. 

2. कानपुर नगर निगम बजट – 1375 करोड़ रुपये 
कानपुर नगर निगम (Kanpur Nagar Nigam Budget) महापौर प्रमिला पांडे (Pramila Pandey) हैं, जो तेजतर्रार नेताओं में मानी जाती हैं.शहर में पार्कों के सौंदर्यीकरण, पाइपलाइन से स्वच्छ जल आपूर्ति के लिए नमामि गंगे परियोजना और गंगा के घाटों की स्वच्छता के लिए उल्लेखनीय कार्य हुए हैं.  

3. प्रयागराज नगर निगम बजट – 800 करोड़
प्रयागराज नगर निगम महापौर (Prayagraj Nagar Nigam Budget) अभिलाषा गुप्ता नंदी (Abhilasha Gupta Nandi)हैं, जो उत्तर प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी की पत्नी भी हैं. प्रयागराज के वित्तीय वर्ष 2022-23 के बजट में साफ सफाई के लिए डेढ़ अरब, जल संभरण (वाटर कंजर्वेशन) और निस्तारण के लिए 2 अरब रखे गए. जन्म मृत्यु प्रमाणपत्र को ऑनलाइन सर्टिफिकेट के लिए नर्सिंग होम अस्पताल से जोड़े जाने की पहल भी की.

गाजियाबाद नगर निगम बजट – 1367 करोड़
गाजियाबाद नगर निगम महापौर आशा शर्मा हैं.बाहुबली की पत्नी को 1 लाख वोटों से हराकर चुनाव जीतीं आशा शर्मा लंबे समय तक पार्षद रहीं.
 उनके तेवरों का नजारा छठ पूजा के दौरान देखने को मिला था, जब उन्होंने तालाब में पानी न होने को लेकर नगर निगम अफसर के अंदर ही पाइप लगाकर पंप चलाने की बात कह डाली थी. गाजियाबाद में बंजर भूमि पर पार्क और चारागाह के साथ स्पेशल थीम पार्क का काम उन्होंने कराया. देखना होगा कि उन्हें दोबारा टिकट मिलता है या नहीं.

नगर निगम : बजट
गाजियाबाद नगर निगम : 1367 करोड़ रुपये 
आगरा नगर निगम : 1050 करोड़ रुपये 
प्रयागराज नगर निगम : 800 करोड़ रुपये 
वाराणसी नगर निगम : 750 करोड़ रुपये 
मेरठ नगर निगम : 700 करोड़ रुपये 
गोरखपुर नगर निगम : 452 करोड़ रुपये 
मुरादाबाद नगर निगम : 417 करोड़ रुपये 
झांसी नगर निगम : 322 करोड़ रुपये 

यह भी पढ़ें. नगर निगम मेयर और नगरपालिका अध्यक्ष पद के आरक्षण का ऐलान, जानें सभी नगर निकाय का हाल

यूपी नगर निकाय चुनाव में दलों- निर्दलीयों को बंटे चुनाव चिन्ह, जानें किसको क्या मिला

 

UP Nikay Chunav 2022: शहर की सरकार में किन्नर भी होंगे दावेदार , नगर निगम मेयर और नगरपालिका अध्यक्ष पदों पर ठोक रहे दावा



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *