UP पुलिस की ‘जानलेवा’ करतूत: सब्जी वाले का तराजू रेलवे ट्रैक पर फेंका, उठाने गया तो कट गए दोनों पैर

Deadly act of UP kanpur Police: उत्तर प्रदेश में कानुपर पुलिस का अमानवीय चेहरा सामने आया है। जहां कल्याणपुर क्रॉसिंग के पास अतिक्रमण हटाने गई पुलिस ने एक नाबालिग सब्जी विक्रेता का तराजू उठाकर रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया। जैसे ही सब्जी विक्रेता तराजू उठाने गया सामने से मेमो ट्रेन आ गई। ऐसे में ट्रेन की चपेट में आने से उसके दोनों पैर कट गए। इस घटना को लेकर मौके पर खूब हंगामा हुआ। इसके बाद पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों ने मामले की जांच कराने के आदेश दिए हैं। फिलहाल इस मामले में एक हेड कांस्टेबल को निलंबित किया गया है।

क्या है पूरा मामला?

कानपुर के कल्याणपुर स्थित साहब नगर इलाके में रहने वाला किशोर रेलवे क्रासिंग के पास सब्जी का ठेला लगाता है। शुक्रवार की दोपहर इंदिरा नगर चौकी से सब इंस्पेक्टर सिपाहियों के साथ रेलवे क्रॉसिंग पर पहुंचे और वहां मौजूद ठेले वालों को हटाने लगे। इसी दौरान पुलिसकर्मियों ने किशोर का तराजू उठाकर रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया जब किशोर रेल की पटरियों से अपना तराजू उठाने गया उसी दौरान मेमो ट्रेन निकल पड़ी। इससे वह ट्रेन की चपेट में आ गया। इस घटना में उसके दोनों पैर कट गए। घटना की जानकारी मिलते ही कल्याणपुर क्रॉसिंग पर अन्य सब्जी विक्रेता व व्यापारियों समेत सैकड़ों लोगों की भीड़ इकट्ठा हो गई। लोगों ने तुरंत किशोर को अस्पताल पहुंचाया और मौके पर हंगामा शुरू कर दिया। हालांकि थोड़ी देर बाद मौके पर पहुंचे कल्याणपुर इंस्पेक्टर देवेंद्र दुबे ने लोगों को समझा-बुझाकर शांत कराया।

आग की तरह फैल रहा वीडियो

वहीं, सोशल मीडिया पर आग की तरह मामला फैलने के बाद हुई पुलिसिया कार्यवाही में मात्र एक प्यादे पर गाज गिरा दी गई। पहले तो इस मामले को दबाने के लिए खूब प्रयास किया, लेकिन सोशल मीडिया पर किशोर के रेल की पटरी पर तड़पने का वीडियो वायरल हो गया। इस मामले में लगभग हरेक यूजर ने कानपुर कमिश्नरेट पुलिस को टैग कर खूब भड़ास निकाली। मामला तूल पकड़ने के बाद डीसीपी पश्चिम विजय ढोल एडीसीपी समेत पुलिस अफसर घटनास्थल पर पहुंचे और लोगों से बातचीत की। स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया कि पुलिस आए दिन रेहड़ी ठेले वालों से हफ्ता वसूली करती है। पैसे नहीं देने पर उन्हें परेशान करती है। फिलहाल पुलिस ने मामले की जांच का दावा करते हुए एक हेड कांस्टेबल को निलंबित कर दिया है।

इस घटना के विरोध में व्यापारियों के एक प्रतिनिधि मंडल ने पुलिस कमिश्नर से मुलाकात की। उनसे सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे दर्दनाक वीडियो दिखाकर आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की। साथ ही पीड़ित सब्जी विक्रेता को मुआवजा दिलाने की भी मांग की।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *