Sagar News: चुनाव में मतपत्र फाड़े थे, भाजपा नेताओं को एक साल की जेल

सागर में करीब 8 साल पहले महापौर चुनाव के दौरान तहसीली स्थित एक मतदान केंद्र पर पीठासीन अधिकारी से मारपीट करने व मतपत्र फाड़ने के मामले में भाजपा के दो नेताओं को एक साल की सजा सुनाई है।

Sagar

oi-Chaitanyadas Soni

Google Oneindia News
Bjp leader sanjiv dube, shyam tiwari

भाजपा
की
राष्ट्रीय
स्तर
की
कमेटी
में
सदस्य
रहे
वरिष्ठ
भाजपा
नेता
संजीव
दुबे

सागर
जिला
भाजपा
में
महामंत्री
श्याम
तिवारी
को
सागर
की
कोर्ट
ने
एक-एक
साल
की
कैद

200-200
रुपए
जुर्माने
की
सजा
सुनाई
है।
इन
दोनें
नेताओं
के
खिलाफ
गोपालगंज
थाना
इलाके
में
स्थित
मतदान
केंद्र
पर
चुनाव
के
दौरान
विवाद
करने,
मतपत्र
फाड़ने
और
पीठासीन
अधिकारी
से
मारपीट
करने
के
आरोप
लगे
थे।
लंबी
सुनवाई

गवाही
और
साक्ष्यों
के
आधार
पर
दोनों
नेताओं
पर
आरोप
सिद्ध
पाए
गए
थे।

कोर्ट
में
प्रस्तुत
प्रकरण
के
अनुसार
साल
2014
में
नगर
पालिका
निगम
सागर
में
महापौर
पद
के
लिए
उपचुनाव
आयोजित
किए
गए
थे।
इसमें
भाजपा
प्रत्याशी
पुष्पा
शिल्पी
भाजपा
की
प्रत्याशी
थी,
तो
कांग्रेस
ने
इंदू
चौधरी
को
प्रत्याशी
बनाया
था।
मतदान
के
दिन
दोपहर
में
तहसीली
इलाके
में
स्थित
मतदान
केंद्र
पर
भाजपा
नेता
संजीव
दुबे
और
श्याम
तिवारी
पहुंचे
थे।
पुलिस
की
एफआईआर
के
अनुसार
पीठासीन
अधिकारी
ने
शिकायत
में
उल्लेख
किया
था
कि
इस
मतदान
केंद्र
पर
इन्होंने
भाजपा
प्रत्याशी
के
पक्ष
में
मतदान
केंद्र
पर
मतदान
प्रभावित
करने
का
प्रयास
किया
था,
जब
इन्हें
रोका
गया
तो
इन्होंने
मतपत्रों
को
फाड़
दिया
और
विवाद
के
दौरान
पीठासीन
अधिकारी
से
मारपीट
भी
की
थी।

बाघों की सबसे ज्यादा मौतें मप्र में हुईं, एक साल में 32 टाइगर ने दम तोड़ा बाघों
की
सबसे
ज्यादा
मौतें
मप्र
में
हुईं,
एक
साल
में
32
टाइगर
ने
दम
तोड़ा


कोर्ट
ने
साक्ष्यों

गवाहों
के
बयानों
में
आरोप
सत्य
पाए

पीठासीन
अधिकारी
की
शिकायत
पर
इन
दोनों
के
खिलाफ
धारा
332,
353,
294
सहित
अन्य
धाराओं
में
मामला
दर्ज
किया
गया
था।
न्यायाधीश
ने
कोर्ट
में
प्रस्तुत
साक्ष्यों

गवाहों
के
आधार
पर
दोनों
के
खिलाफ
लगे
आरोपों
को
सही
पाया।
कोर्ट
ने
मतदान
को
प्रभावित
करने
और
मतपत्र
फाड़ने

मारपीट
के
मामले
में
संजीव
दुबे
और
श्याम
तिवारी
को
एक-एक
साल
की
कैद

2-2
सौ
रुपए
जुर्माना
लगाया
है।
हालांकि
कोर्ट
ने
इन
दोनों
को
जमानत
स्वीकार
भी
कर
दी
है।
अब
फैसले
के
खिलाफ
दोनों
नेता
हायर
कोर्ट
में
अपील
कर
सकते
हैं।

English summary

About eight years ago, two BJP leaders have been sentenced to one year in Sagar for assaulting the presiding officer and tearing ballot papers at a polling station in Tehsil during the mayoral election.

Story first published: Friday, December 9, 2022, 22:27 [IST]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *