Punjab: खालिस्तानी नेता अमृतपाल सिंह फरार, पुलिस की तलाश जारी

Punjab: खालिस्तानी नेता और ‘वारिस पंजाब दे’ संगठन का चीफ अमृतपाल सिंह फरार है। अमृतपाल को पकड़ने के लिए राज्य भर में तलाशी अभियान जारी है। पुलिस के मुताबिक, अमृतपाल सिंह को पकड़ने के लिए तलाशी जारी है। रविवार सुबह पंजाब के कुछ इलाकों में सड़कों पर सख्त चेकिंग देखी गई।

न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक, जालंधर-मोगा रोड पर पुलिस कर्मी लगातार वाहनों की चेकिंग की जा रही है। अमृतसर के जल्लूपुर खेड़ा गांव में ‘वारिस पंजाब डे’ प्रमुख अमृतपाल सिंह के आवास के बाहर भी पंजाब पुलिस के जवान देखे गए। पुलिस ने कहा कि अमृतपाल सिंह को पकड़ने के लिए पंजाब पुलिस की ओर से बड़े पैमाने पर अभियान चलाया जा रहा है।

पंजाब में राज्यव्यापी कार्रवाई में 78 गिरफ्तार

पंजाब पुलिस ने शनिवार को पूरे राज्य में ‘वारिस पंजाब दे’ के तत्वों के खिलाफ राज्यव्यापी कार्रवाई शुरू की है। पुलिस ने राज्य में सांप्रदायिक तनाव फैलाने के आरोप में 78 लोगों को गिरफ्तार किया है। इससे पहले दिन में ऐसी खबरें आई थीं कि अमृतपाल सिंह को हिरासत में लिया गया है, लेकिन पंजाब पुलिस ने न तो इस बात की पुष्टि की और न ही इनकार किया कि सिंह को पकड़ा गया था या नहीं।

बाद में, पंजाब पुलिस ने कहा कि अमृतपाल सिंह सहित कई लोग फरार हैं और उन्हें पकड़ने के लिए बड़े पैमाने पर अभियान चलाया गया है। इस बीच, अफवाहों के प्रसार और संभावित तनाव को रोकने के लिए राज्य के विभिन्न जिलों में इंटरनेट सेवाएं रविवार दोपहर तक निलंबित रहेंगी।

पुलिस अभियान में खालिस्तान समर्थकों से हथियार भी बरामद

पुलिस ने एक बयान में कहा कि राज्यव्यापी अभियान के दौरान अब तक एक .315 बोर की राइफल, 12 बोर की सात राइफल, एक रिवाल्वर और विभिन्न कैलिबर के 373 जिंदा कारतूस सहित नौ हथियार बरामद किए गए हैं। पुलिस ने यह भी कहा कि वारिस पंजाब दे समर्थक लोगों के बीच वैमनस्य फैलाने, हत्या के प्रयास, पुलिस अधिकारियों पर हमले और लोक सेवकों के कर्तव्यों के वैध निर्वहन में बाधा उत्पन्न करने से संबंधित चार आपराधिक मामलों में शामिल हैं।

जानें, कैसे लाइमलाइट में आया अमृतपाल सिंह

अमृतपाल सिंह पिछले महीने तब लाइमलाइट में आया था जब उसके छह सहयोगियों के खिलाफ एक व्यक्ति की शिकायत के आधार पर मामला दर्ज किया गया था। शिकायत में आरोप लगाया गया था कि खालिस्तान नेता के सहयोगियों ने शिकायतकर्ता का अपहरण किया था और उसकी पिटाई की थी। पुलिस ने बाद में अमृतपाल सिंह के करीबी लवप्रीत सिंह तूफान को गिरफ्तार कर लिया।

तूफान की गिरफ्तारी के बाद अमृतपाल ने पुलिस को उसके खिलाफ मामला वापस लेने की चेतावनी जारी की। जल्द ही, उसके सैकड़ों समर्थकों ने पुलिस बैरिकेड्स को तोड़ दिया और धारदार हथियारों से लैस होकर पुलिस परिसर पर धावा बोल दिया। बाद में पकड़े गए लवप्रीत तूफान को छोड़ दिया गया।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *