Piles cure: बवासीर से लेकर ट्यूमर तक ठीक कर सकता है अजवाइन, अमेरिकी रिसर्च में हुआ प्रूव

हाइलाइट्स

अजवाइन में थॉयमोल तत्व मौजूद है जो एंटीबैक्टीरियल, एंटीफंगल और एंटीऑक्सीडेंट्स गुणों से भरपूर होता है
यह एब्डोमिनल ट्यूमर और पाइल्स को ठीक कर सकता है.

Ajwain cure piles: भारत आयुर्वेद की जननी है. यहां दो हजार साल पहले से ही आसपास मौजूद चीजों से बीमारियों का इलाज किया जाता रहा है. अजवाइन से भी आयुर्वेद में कई तरह के इलाज का जिक्र है. अब अमेरिकी वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि अजवाइन में ऐसे तत्व पाए जाते हैं जो एंटीफंगल, एंटीऑक्सीडेंट्, एंटीमाइक्रोबियल, एंटीनोसिसेप्टिव, साइटोटॉक्सिक समेत कई गुण पाए जाते हैं. यही कारण है कि अजवाइन से खतरनाक बवासीर का भी इलाज किया जा सकता है. इसके साथ ही अजवाइन पेट में ट्यूमर को भी खत्म कर सकता है. रिसर्च के मुताबिक अजवाइन में एंटास्पासमोडिक और कार्मिनेटिव गुण मौजूद होता है जिससे डायरिया, एब्डोमिनल ट्यूमर, पेट दर्द, बवासीर, सांस संबंधी दिक्कतें, भूख की दिक्कत, ग्लैक्टोगाउज, अस्थमा जैसी गंभीर बीमारियों को ठीक किया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें- Eating Raw food reduced diabetes: क्या कच्चा भोजन करने से डायबिटीज और मोटापा खत्म हो जाता है, जानें क्या कहते हैं एक्सपर्ट

पाइल्स सहित कई परेशानियों को दूर करता है

पबमेड जर्नल के मुताबिक अजवाइन में डाइजेस्टिव सिस्टम को मजबूत करने की जबर्दस्त क्षमता है. अजवाइन का तेल कई मेडिसीनल प्रोपर्टीज से भरपूर होता है. अजवाइन शरीर की चर्बी को जला देता है जिससे वजन कम करने में बहुत मददगार होता है. रिसर्च के मुताबिक अजवाइन में थॉयमोल (thymol) तत्व मौजूद है जो एंटीबैक्टीरियल, एंटीफंगल और एंटीऑक्सीडेंट्स गुणों से भरपूर होता है. अजवाइन में थॉयमोल के अलावा गामा टरपिनेन और पी साइमेन (thymol, gamma-terpinene, p-cymene) केमिकल पाया जाता है. यह खूशबूदार तेल (volatile oil) होता है जो नर्व कोशिकाओं को जल्दी सक्रिय कर देता है.

इस तरह अजवाइन सक्रिय यौगिकों का एक बेहतरीन स्रोत है जिसमें कई तरह औषधीय प्रभाव हैं. अजवाइन के बीज कड़वे, तीखे और यह कृमिनाशक होते हैं जो लेक्सेटिव तत्वों से भरपूर होते हैं. यह एब्डोमिनल ट्यूमर और पाइल्स को ठीक कर सकता है. अजवाइन के तेल को बवासीर वाली जगह पर लगाया भी जा सकता है जिससे वहां दर्द और खुजली से राहत मिलती है. नियमित रूप से अजवाइन के दानों को रात में भींगा देने के बाद सुबह पीने से पाइल्स की समस्या से छुटकारा मिल सकता है. अजवाइन के पानी को पीने से कई तरह के फायदे हमारे यहां पहले से बताए जा रहे हैं.



वजन कम करने में भी मददगार

अजवाइन डाइजेस्टिव सिस्टम को मजबूत करता है. यह एक तरह से चर्बी को जलाने का काम करता है. इससे वजन कंट्रोल रहता है. अजवाइन में मौजूद थॉयमोल (thymol) रसायन आंत में गैस्ट्रिक जूस के उत्पादन को तेज कर देता है. गैस्ट्रिक जूस भोजन को अवशोषित करने के लिए अनिवार्य तत्व है. जब शरीर में पाचन शक्ति मजबूत होगा तो वजन पर कंट्रोल होना आम बात हो जाएगी. इसके अलावा अजवाइन में फाइबर मौजूद होता है. फाइबर भोजन को पचाने में मदद करता है. इसके अलावा फाइवर शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मददगार होता है.

Tags: Health, Health tips, Lifestyle

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.