Padampur Election: मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कहा भाजपा ने वर्षा का अपमान किया, उनका साथ देने के लिए चुनाव प्रचार किया

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कहा कि वह उपचुनाव से पहले अपनी पार्टी की उम्मीदवार वर्षा सिंह बरिहा के पक्ष में प्रचार करने के लिए व्यक्तिगत रूप से पदमपुर गए थे, क्योंकि वह भाजपा द्वारा पार्टी के उम्मीदवार के प्रति दिखाए गए “अपमान” से आहत थे। उन्होंने कहा, ‘‘जिस तरह से राज्य भाजपा नेतृत्व ने हाल ही में अपने पिता को खोने वाली वर्षा जैसी युवा, शिक्षित और शोकसंतप्त लड़की को परेशान किया है, उससे मैं वास्तव में आहत हूं।

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कहा कि वह उपचुनाव से पहले अपनी पार्टी की उम्मीदवार वर्षा सिंह बरिहा के पक्ष में प्रचार करने के लिए व्यक्तिगत रूप से पदमपुर गए थे, क्योंकि वह भाजपा द्वारा पार्टी के उम्मीदवार के प्रति दिखाए गए “अपमान” से आहत थे।
बृहस्पतिवार को पटनायक की टिप्पणी बरिहा द्वारा भाजपा के प्रदीप पुरोहित के खिलाफ 42,679 मतों से जोरदार जीत दर्ज करने के तुरंत बाद आई।
मुख्यमंत्री ने एक वीडियो संदेश में कहा,‘‘लोग अक्सर मुझसे पूछते हैं कि मैंने पंचायत चुनाव और अन्य उपचुनावों में प्रचार से परहेज करते हुए पदमपुर में प्रचार करना क्यों पसंद किया।’’

उन्होंने कहा, ‘‘जिस तरह से राज्य भाजपा नेतृत्व ने हाल ही में अपने पिता को खोने वाली वर्षा जैसी युवा, शिक्षित और शोकसंतप्त लड़की को परेशान किया है, उससे मैं वास्तव में आहत हूं।’’
चुनाव आयोग ने कहा कि बरिहा को कुल 1,20,807 वोट मिले, जबकि पुरोहित को 78,128 वोट मिले।
पटनायक ने कहा, ‘‘ भाजपा का उनके प्रति व्यवहार सभी महिलाओं का अपमान था। इसलिए, मैं गया और एक पिता, एक भाई और एक दोस्त की तरह वर्षा के साथ खड़ा रहा।’’
उन्होंने कहा कि ओडिशा के लोगों ने कभी महिलाओं का अपमान बर्दाश्त नहीं किया और न ही कभी करेंगे।

चुनाव अभियान के दौरान, पूर्व केंद्रीय मंत्री और सुंदरगढ़ के सांसद जुएल ओराम ने एक गैर-आदिवासी व्यक्ति से शादी के बाद बरिहा की आदिवासी स्थिति पर सवाल उठाकर विवाद खड़ा कर दिया था।
इस बीच, बरिहा के ससुर और भाजपा के वरिष्ठ नेता राम रंजन बलियार सिंह ने पटनायक का समर्थन करते हुए कहा कि जब कुछ भाजपा नेताओं ने उन पर व्यक्तिगत हमला किया तो उन्हें और उनके परिवार के सदस्यों को बहुत दुख हुआ।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *