Nikay chunav: मतदान सूची पुनरीक्षण का विशेष अभियान, सभी BLO को सख्त निर्देश, लापरवाही होने पर कार्रवाई

नगरीय निकाय चुनाव

नगरीय निकाय चुनाव
– फोटो : सोशल मीडिया

ख़बर सुनें

वाराणसी में मतदान सूची पुनरीक्षण कार्यक्रम के तहत आज विशेष अभियान चलाया जा रहा है। इस बाबत शनिवार को काशी विद्यापीठ ब्लाक के सभागार में रोहनिया विधानसभा के बीएलओ व सुपरवाइजरों की बैठक हुई। सहायक निर्वाचन रजिस्ट्रीकरण अधिकारी प्रदीप मिश्रा की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में गरुण एप के माध्यम से मतदाता सूची में नाम जोड़ने, नाम विलोपित करने, के बारे में बताया गया। कई बीएलओ ने स्मार्ट फोन न होने व नेटवर्क न होने की समस्या बताई। आगामी 31 दिसंबर तक 18 वर्ष पूर्ण कर चुके लोगों का मतदान सूची में नाम दर्ज कराने को कहा गया। इस दौरान अतुल तिवारी, मनोज कुमार, अजय प्रकाश, जुनेद अंसारी आदि मौजूद रहे। 
आज सभी बूथ लेविल अधिकारियों (BLO) को अपने मतदेय स्थान पर शाम के चार बजे तक मौजूद रहने के लिए कहा गया है। उप जिला निर्वाचन अधिकारी रण विजय सिंह ने कहा कि निकाय चुनाव में मतदाता पुनरीक्षण का कार्यक्रम चल रहा है। इस दौरान बीएलओ जनता की ओर से मतदाताओं के नाम जोड़ने, काटने, संशोधन और शिफ्ट करने के लिए फार्म लेंगे। इनकी जांच कर निस्तारण कर मतदाता सूची में नाम जोड़ा जाएगा। यदि को बीएलओ फार्म लेने से मना करेगा तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 

विस्तार

वाराणसी में मतदान सूची पुनरीक्षण कार्यक्रम के तहत आज विशेष अभियान चलाया जा रहा है। इस बाबत शनिवार को काशी विद्यापीठ ब्लाक के सभागार में रोहनिया विधानसभा के बीएलओ व सुपरवाइजरों की बैठक हुई। सहायक निर्वाचन रजिस्ट्रीकरण अधिकारी प्रदीप मिश्रा की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में गरुण एप के माध्यम से मतदाता सूची में नाम जोड़ने, नाम विलोपित करने, के बारे में बताया गया। कई बीएलओ ने स्मार्ट फोन न होने व नेटवर्क न होने की समस्या बताई। आगामी 31 दिसंबर तक 18 वर्ष पूर्ण कर चुके लोगों का मतदान सूची में नाम दर्ज कराने को कहा गया। इस दौरान अतुल तिवारी, मनोज कुमार, अजय प्रकाश, जुनेद अंसारी आदि मौजूद रहे। 

आज सभी बूथ लेविल अधिकारियों (BLO) को अपने मतदेय स्थान पर शाम के चार बजे तक मौजूद रहने के लिए कहा गया है। उप जिला निर्वाचन अधिकारी रण विजय सिंह ने कहा कि निकाय चुनाव में मतदाता पुनरीक्षण का कार्यक्रम चल रहा है। इस दौरान बीएलओ जनता की ओर से मतदाताओं के नाम जोड़ने, काटने, संशोधन और शिफ्ट करने के लिए फार्म लेंगे। इनकी जांच कर निस्तारण कर मतदाता सूची में नाम जोड़ा जाएगा। यदि को बीएलओ फार्म लेने से मना करेगा तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *