Nainital News: रेन वॉटर हार्वेस्टिंग रिचार्ज से बढ़ेगा जमीन के नीचे पानी, जानें तरीका

हिमांशु जोशी/नैनीताल. उत्तराखंड में नैनीताल जिला प्रशासन की तरफ से भू-जल स्तर को बढ़ाने को लेकर कवायद चल रही है. इसके लिए खास तकनीक का इस्तेमाल किया जा रहा है. नैनीताल जनपद में अब रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम बनाए जा रहे हैं, जो न केवल भू-जल स्तर को बढ़ाने में मदद करेंगे बल्कि पानी को संचय कर उन्हें पीने योग्य भी बनाएंगे.

मुख्य विकास अधिकारी डॉ संदीप तिवारी ने बताया कि कई ग्रामीण इलाकों में बारिश का पानी ऑटोमेटिक जमीन के अंदर चला जाता है हालांकि जनपद के भीमताल, हल्द्वानी व अन्य शहरों में पानी ऊपरी सतह से ही बहकर नदी नालों में मिल जाता है. इसके लिए जिला प्रशासन ने करीब 67 लाख रुपये की लागत से जनपद में 23 रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम बनाए जाने की पहल की है. इनमें से 12 सिस्टम हल्द्वानी, 4 सिस्टम कोटाबाग और 7 रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम बेतालघाट ब्लॉक में बनाए जा रहे हैं.

विकास खंड दफ्तर से शुरुआत
डॉ संदीप ने बताया कि विकास खंड कार्यालय के पास लगे रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम से इसकी शुरुआत की गई है. उन्होंने बताया कि इस सिस्टम के तैयार होने पर भू-जल स्तर को बढ़ाने में मदद मिलेगी. साथ ही पानी को इकट्ठा करने से पीने का पानी भी मिल सकेगा. हर एक रेन वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम को तीन हिस्सों में बांटा गया है. पहले टैंक में बारिश के पानी को इकट्ठा करने में मदद मिलेगी. दूसरे वाले टैंक में फिल्टर लगाया जाना है, जो पानी को अच्छी तरह से छानेगा. इसके अलावा तीसरे टैंक में बोर लगाया जाएगा.

डॉ तिवारी ने आगे कहा कि बरसात के पानी को इकट्ठा करने और भू-जलस्तर को बढ़ाने का यह बेहतर कदम है. इससे बारिश का पानी का सतह से न बहते हुए सीधा जमीन के अंदर जाएगा, जिससे भू जलस्तर में बढ़ोतरी होगी. साथ ही बारिश का पानी गलियों और नालों में भी नहीं जाएगा, जहां अक्सर पानी दूषित हो जाता है.

Tags: Nainital news, Uttarakhand news

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *