Meerut: सरधना में दूषित पानी का कहर जारी, हैजा फैलने से चार की मौत, सैकड़ों बीमार, मजबूरी में घर छोड़ रहे लोग

सरधना नगर के मोहल्ला मंडी चमारान में एक और मरीज अनीस (55) पुत्र हनीफ की रविवार को मौत हो गई। वह पांच दिन से निजी अस्पताल में भर्ती थे। उन्हें उल्टियां हो रही थीं। परिवार वाले दूषित जल पीने के बाद हुए हैजा से मौत होना बता रहे हैं, जबकि सीएमओ डॉ. अखिलेश मोहन का कहना है कि अनीस की मौत हैजा से नहीं, बल्कि गुर्दा रोगी होने के कारण हुई है। हैजा के कारण शनिवार को बीमार वृद्धा और युवक की मौत हो गई थी, जबकि इससे पहले बीमार महिला ने मृत बच्चे को जन्म दिया था।

नगर में चौथी मौत की सूचना के बाद से खलबली मची है। कई लोग दहशत के मारे घरों पर ताला लगाकर रिश्तेदारों के यहां चले गए हैं। इस मोहल्ले में दूषित पानी पीने के कारण लोगों को हैजा हुआ था। रविवार को भी आठ मरीज भर्ती कराए गए। अब तक 261 लोग चपेट में आ चुके हैं, जिनमें से 35 अभी भी मेडिकल कॉलेज और सीएचसी सरधना में भर्ती हैं। अभी भी कई मरीजों की हालत गंभीर बनी हुई है। प्रशासनिक अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल की। मोहल्ले के लोगों ने बताया कि घरों में पहुंचे पानी को पीने के बाद लोगों को उल्टी, दस्त, पेट में दर्द शुरू हो गया था। मोहल्ले में पानी आपूर्ति के बिछी लाइन को बदलने का काम नगर पालिका की ओर से कराया जा रहा है। टैंकरों के जरिये लोगों को पानी की सप्लाई की जा रही है।

नगर के मोहल्ला मंडी चमारान में दूषित पानी से बीमार हुईं रेखा (56) पत्नी सतीश और सलमान (21) पुत्र दीनू की उपचार के दौरान शनिवार को मौत हो गई थी। रविवार को एक और व्यक्ति की मौत हुई। इनका कई दिनों से मेडिकल कॉलेज में उपचार चल रहा था। बीमारी फैलने के छठे दिन सीएचसी में 10 और मरीज भर्ती हुए। एक मरीज की हालत बिगड़ने पर उसे मेरठ रेफर किया गया। बीमार होने वालों में बच्चों की संख्या अधिक है। अब तक 220 मरीजों की उपचार के बाद छुट्टी की जा चुकी है।

दूषित पानी से चार लोगों की मौत के बाद से मोहल्ले के लोगों और स्वास्थ्य विभाग में खलबली मच गई है। इन मरीजों को पेट में दर्द की शिकायत पर उपचार के लिए भर्ती कराया गया था। हालत बिगड़ने मेरठ रेफर किया गया।

जानकारी के बाद एसडीएम सत्यप्रकाश व तहसीलदार नटवर सिंह मोहल्ले में पहुंचे। सीएचसी प्रभारी डॉ. सचिन कुमार ने बताया कि वृद्घ महिला को ब्ल्ड प्रेशर की भी दिक्कत थी। वहीं, सीएमओ डॉ. अखिलेश मोहन का कहना है कि रेखा की मौत दूषित पानी के कारण हुई है, लेकिन सलमान की मौत का कारण अभी स्पष्ट नहीं है, जानकारी की जा रही है। 

घरों पर ताला डाल रिश्तेदारी में गए लोग 

मोहल्ला मंडी चमारान के लोगों में दहशत बढ़ती जा रही है। कई लोग घरों में ताला डालकर अपने रिश्तेदारों के यहां चले गए हैं। उनका कहना है कि मोहल्ले में पानी के संक्रमण से लगातार लोग बीमार पड़ रहे हैं।

लोगों के साथ हो रहा खिलवाड़ 

मोहल्ला मंडी चमारान के लोग दूषित पानी पीने को मजबूर हैं। नगर जलापूर्ति योजना के तहत घरों में पहुंचने वाला पानी पीने लायक नहीं है। सभासद सुभाष वेद व समाजसेवी सिराजुद्दीन मलिक का कहना है कि नगर पालिका प्रशासन लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ कर रहा है।

सबमर्सिबल लगने के बाद भी घरों में गंदा पानी सप्लाई हो रहा है। चार लोगों की मौत होने के बाद भी लापरवाही के लिए जिम्मेदार लोगों को चिह्नित नहीं किया गया है। पालिका प्रशासन की लापरवाही के कारण बिना फिल्टर किए पानी की सप्लाई की जा रही है। 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.