Mathura: गोशाला की संचालिका पद्मश्री सुदेवी दासी समेत पांच लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज, धोखाधड़ी का आरोप

सुदेवी दासी

सुदेवी दासी
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

मथुरा के राधाकुंड में राधा सुरभि गोशाला ट्रस्ट की संचालिका पद्मश्री सुदेवी दासी समेत पांच लोगों पर अदालत के आदेश पर गोवर्धन थाने में केस दर्ज किया गया है। सुदेवी जर्मनी मूल की हैं। आरोपियों पर फर्जी ट्रस्ट बना कर जमीन हड़पने का आरोप है। इससे पहले भी गोशाला संचालिका सुदेवी दासी के खिलाफ दो मुकदमे दर्ज हो चुके हैं।

इरिना ब्रुनिंग फेडरिक उर्फ सुदेवी दासी 25 साल से राधाकुंड में गोसेवा कर रही हैं। उनकी गोशाला में 2800 गोवंश बताए गए हैं। शेरगड़िया मोहल्ला राधाकुंड निवासी प्रीति शर्मा का कहना कि सुदेवी दासी, धवल सचदेवा (राधाकुंड), प्रफल त्रिवेदी (बोरीवली, मुंबई), राधेश्याम सिंघल (सीताराम कॉलोनी, फेज-2, बल्केश्वर रोड दयालबाग, आगरा), राजू अग्रवाल (न्यू बालाजी नगर, कमला नगर, आगरा) ने कुल 3.9540 हेक्टेयर भूमि ठाकुर गोपीनाथ महाराज विराजमान मंदिर राधाकुंड के प्रबंधक हरिओम से गोशाला के लिए ली थी।

यह है आरोप 

आरोप है कि इन सभी ने सात जुलाई, 2020 को फर्जी ट्रस्ट बनाया। भूमि हड़पने के लिए मुख्य ट्रस्टी धवल सचदेवा ने जालसाजी करने के बाद 3 मार्च 2022 को ट्रस्ट से इस्तीफा दे दिया। इस फर्जी ट्रस्ट में राजू अग्रवाल मुख्य ट्रस्टी बन गए। आरोपी गोशाला की भूमि व पैसे का दुरुपयोग कर रहे हैं।

इस संबंध में पद्मश्री सुदेवी दासी ने बताया कि प्रीति शर्मा के बाबा स्व. हरिओम शर्मा ने जमीन हमेशा के लिए गोशाला चलाने के लिए दी थी। सभी आरोप निराधार हैं। गोवर्धन थाना प्रभारी नितिन कसाना ने बताया कि अदालत के आदेश पर सुदेवी दासी समेत पांच आरोपियों पर केस दर्ज किया गया है। 

विस्तार

मथुरा के राधाकुंड में राधा सुरभि गोशाला ट्रस्ट की संचालिका पद्मश्री सुदेवी दासी समेत पांच लोगों पर अदालत के आदेश पर गोवर्धन थाने में केस दर्ज किया गया है। सुदेवी जर्मनी मूल की हैं। आरोपियों पर फर्जी ट्रस्ट बना कर जमीन हड़पने का आरोप है। इससे पहले भी गोशाला संचालिका सुदेवी दासी के खिलाफ दो मुकदमे दर्ज हो चुके हैं।

इरिना ब्रुनिंग फेडरिक उर्फ सुदेवी दासी 25 साल से राधाकुंड में गोसेवा कर रही हैं। उनकी गोशाला में 2800 गोवंश बताए गए हैं। शेरगड़िया मोहल्ला राधाकुंड निवासी प्रीति शर्मा का कहना कि सुदेवी दासी, धवल सचदेवा (राधाकुंड), प्रफल त्रिवेदी (बोरीवली, मुंबई), राधेश्याम सिंघल (सीताराम कॉलोनी, फेज-2, बल्केश्वर रोड दयालबाग, आगरा), राजू अग्रवाल (न्यू बालाजी नगर, कमला नगर, आगरा) ने कुल 3.9540 हेक्टेयर भूमि ठाकुर गोपीनाथ महाराज विराजमान मंदिर राधाकुंड के प्रबंधक हरिओम से गोशाला के लिए ली थी।

यह है आरोप 

आरोप है कि इन सभी ने सात जुलाई, 2020 को फर्जी ट्रस्ट बनाया। भूमि हड़पने के लिए मुख्य ट्रस्टी धवल सचदेवा ने जालसाजी करने के बाद 3 मार्च 2022 को ट्रस्ट से इस्तीफा दे दिया। इस फर्जी ट्रस्ट में राजू अग्रवाल मुख्य ट्रस्टी बन गए। आरोपी गोशाला की भूमि व पैसे का दुरुपयोग कर रहे हैं।

इस संबंध में पद्मश्री सुदेवी दासी ने बताया कि प्रीति शर्मा के बाबा स्व. हरिओम शर्मा ने जमीन हमेशा के लिए गोशाला चलाने के लिए दी थी। सभी आरोप निराधार हैं। गोवर्धन थाना प्रभारी नितिन कसाना ने बताया कि अदालत के आदेश पर सुदेवी दासी समेत पांच आरोपियों पर केस दर्ज किया गया है। 



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *