Gwalior news: सुमावली से कांग्रेस विधायक अजब सिंह कुशवाह की जा सकती है विधानसभा सदस्यता

कांग्रेस विधायक अजब सिंह कुशवाह को धोखाधड़ी के मामले में दोषी पाए जाने पर ग्वालियर कोर्ट ने विधायक समेत 3 दोषियों को 2-2 साल की सजा सुनाई है। सजा हो जाने पर अब विधायक अजब सिंह कुशवाह की विधानसभा सदस्यता पर संकट आ गया है।

Gwalior

oi-Hemant Sharma

Google Oneindia News
gwalior

Gwalior
कोर्ट
द्वारा
कांग्रेस
विधायक
अजब
सिंह
कुशवाह
को
धोखाधड़ी
के
मामले
में
2
साल
की
सजा
सुनाए
जाने
के
बाद
विधायक
की
विधानसभा
सदस्यता
पर
तलवार
लटक
रही
है।
नियमानुसार
2
या
उससे
अधिक
की
सजा
होने
पर
विधायक
की
सदस्यता
चली
जाती
है।
इस
वजह
से
कांग्रेस
विधायक
के
लिए
मुश्किल
खड़ी
हो
गई।


सरकारी
जमीन
बेचने
पर
हुई
थी
एफआईआर
दर्ज

साल
2014
में
पुरुषोत्तम
शाक्य
के
नाम
के
फरियादी
ने
महारारपुरा
थाने
में
पहुंचकर
इस
बात
की
शिकायत
दर्ज
कराई
थी
कि
अजब
सिंह
कुशवाह
ने
सरकारी
जमीन
को
निजी
बताते
हुए
उन्हें
₹745000
में
बेच
दिया
लेकिन
जब
पुरुषोत्तम
कब्जा
लेने
पहुंचे
तो
उन्हें
जमीन
का
कब्जा
नहीं
मिला
क्योंकि
वह
जमीन
सरकारी
थी।
पुरुषोत्तम
की
शिकायत
पर
से
महाराजपुरा
थाना
पुलिस
ने
अजब
सिंह
कुशवाह
समेत
उनकी
पत्नी
शीला
कुशवाह
और
एक
अन्य
आरोपी
कृष्ण
गोपाल
चौरसिया
के
खिलाफ
धोखाधड़ी
सहित
अन्य
धाराओं
में
एफआईआर
दर्ज
कर
ली।


ग्वालियर
कोर्ट
ने
सभी
आरोपियों
को
सुनाई
सजा

ग्वालियर
कोर्ट
ने
इस
मामले
की
सुनवाई
करते
हुए
विधायक
अजब
सिंह
कुशवाह
समेत
उनकी
पत्नी
शीला
कुशवाह
और
कृष्ण
गोपाल
चौरसिया
को
दो-दो
साल
की
सजा
सुनाई।
इसके
साथ
ही
दस-दस
हजार
रुपए
का
जुर्माना
भी
लगा
दिया।
कोर्ट
के
फैसला
सुनाए
जाने
के
तुरंत
बाद
तीनों
ही
दोषियों
ने
अपनी
जमानत
के
लिए
आवेदन
पेश
कर
दिया
जिसके
बाद
कोर्ट
ने
तीनों
दोषियों
को
जमानत
भी
दे
दी।


अजब
सिंह
कुशवाह
की
विधानसभा
सदस्यता
पर
लटकी
तलवार

ग्वालियर
कोर्ट
ने
अजब
सिंह
कुशवाह
को
जमानत
दे
दी
है
लेकिन
अब
अजब
सिंह
कुशवाह
की
विधानसभा
सदस्यता
पर
तलवार
लटक
रही
है।
नियम
अनुसार
यदि
किसी
विधायक
को
2
साल
या
उससे
अधिक
की
सजा
हो
जाती
है
तो
उसकी
विधानसभा
सदस्यता
चली
जाती
है
।अब
यही
नियम
कांग्रेस
विधायक
अजब
सिंह
कुशवाह
पर
भी
लागू
हो
रहा
है
लिहाजा
अजब
सिंह
कुशवाह
की
सदस्यता
पर
भी
तलवार
लटक
रही।


कोर्ट
से
मिल
सकती
है
विधायक
को
राहत

विधायक
अजब
सिंह
कुशवाह
की
विधानसभा
सदस्यता
पर
तलवार
लटक
रही
है
ऐसे
में
कोर्ट
ही
एकमात्र
सहारा
है
जहां
से
उन्हें
राहत
मिल
सकती
है।
अगर
विधायक
ग्वालियर
कोर्ट
द्वारा
दिए
गए
आदेश
के
खिलाफ
अपील
करते
हैं
और
अगर
हाईकोर्ट
से
उन्हें
स्टे
मिल
जाता
है
तो
विधायक
अजब
सिंह
कुशवाह
को
राहत
मिल
सकती
है
और
उनकी
विधानसभा
सदस्यता
बच
सकती
है।

ये भी पढ़ें-Morena news: 2019 के लोकसभा चुनाव में बसपा प्रत्याशी ने किया था आचार संहिता का उल्लंघन, कोर्ट ने भेजा जेलये
भी
पढ़ें-Morena
news:
2019
के
लोकसभा
चुनाव
में
बसपा
प्रत्याशी
ने
किया
था
आचार
संहिता
का
उल्लंघन,
कोर्ट
ने
भेजा
जेल

English summary

assembly membership of congress mla ajab singh kushwah is in danger

Story first published: Saturday, December 3, 2022, 11:14 [IST]

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *