Exclusive: ‘चुनाव तारीख पर चर्चा करें, नहीं तो हम…’ PAK सरकार को इमरान खान का बाउंसर

हाइलाइट्स

पाकिस्तान सरकार को पूर्व PM इमरान खान ने दी चेतावनी.
बोले- सरकार चुनाव की तारीख बताए, अन्यथा असेम्ब्ली भंग कर दी जाएगी.
इमरान ने कहा कि चुनाव के बिना राजनीतिक स्थिरता संभव नहीं है.

नई दिल्ली. पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने एक बार फिर शहबाज शरीफ की अगुवाई वाली सरकार को चेतावनी दे डाली है. इमरान खान ने पाकिस्तान सरकार को चेतावनी देते हुए कहा है कि बैठो और बात करो और आम चुनाव की तारीख बताओ. अगर ऐसा नहीं करोगो तो हम असेम्बली को भंग कर देंगे. इमरान खान ने कहा कि उनके पक्ष ने सरकार को एक साथ बैठने और चुनाव की तारीख तय करने की पेशकश की है लेकिन उन्होंने फिलहाल इसे स्वीकार नहीं किया है.

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) के प्रमुख ने आगे कहा कि अब हमारे पास असेम्ब्ली भंग करने का एकमात्र विकल्प बचा है और फिर यह सरकार पाकिस्तान के 60 फीसदी हिस्से में चुनाव की व्यवस्था करेगी. इमरान खान ने यह भी कहा कि उनके शासन में अर्थव्यवस्था 6 प्रतिशत की दर से बढ़ रही थी. उन्होंने कहा कि जब तक राजनीतिक स्थिरता नहीं होगी, देश में आर्थिक स्थिरता नहीं आ सकती है.

पाक के पूर्व पीएम ने आगे कहा कि पाकिस्तान में आर्थिक स्थिरता लाने के लिए सरकार के पास कोई रोडमैप नहीं है. पाकिस्तान में डिफॉल्ट जोखिम 100 प्रतिशत तक पहुंच गया है. पूरी दुनिया कह रही है कि हम डिफॉल्टर होने जा रहे हैं. उन्होंने आगे कहा कि पंजाब, केपी सहित सभी प्रांतों को सरकार से पैसा नहीं मिल रहा है. महंगाई के कारण पाकिस्तान की सड़कों पर अपराध बढ़ रहे हैं. उन्होंने आरोप लगाया कि सब कुछ ठीक करने का वादा करने वाले वित्त मंत्री मुहम्मद इशाक डार अब चुपचाप बैठे हैं.

पढ़ें- मिशन प्रमुख की ‘हत्या की कोशिश’ के बाद पाकिस्तान का बड़ा फैसला, काबुल में खाली करेगा अपना दूतावास! 

पूर्व पीएम ने चेतावनी देते हुए कहा कि चुनाव के बिना राजनीतिक स्थिरता संभव नहीं है. सरकार चुनाव की तारीख बताए, अन्यथा असेम्ब्ली भंग कर दी जाएगी. इमरान ने कहा कि पंजाब प्रांत के मुख्यमंत्री चौधरी परवेज इलाही ने उन्हें असेम्ब्ली को भंग का आश्वासन दिया है वह भी तब जब मेरी इच्छा होगी. उन्होंने आगे कहा कि बातचीत अब पिछले दरवाजे से नहीं बल्कि सबके सामने सार्वजनिक रूप से की जाएगी. सरकार को हमारे साथ बैठना चाहिए और नए आम चुनाव की तारीख के बारे में बात करनी चाहिए.

Tags: Imran khan, Pakistan news

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *