Devsenapati Mars will change in zodiac after a few days October 2022 | Mars Transit Oct.2022- मंगल का गोचर आपमें से सबसे ज्यादा किसे करेगा प्रभावित, जानें यहां…

ज्ञात हो कि देवसेनापति मंगल रविवार, 16 अक्टूबर को मिथुन राशि में प्रवेश करने जा रहे हैं। जानकारों के अनुसार मंगल का ये परिवर्तन मुख्य रूप से 2 राशि वालों के लिए अति विशेष लाभकारी सिद्ध हो सकता है। तो वहीं किसी के लिए सामान्य तो बाकी बची अन्य के लिए घातक होता दिख रहा है। तो आइए जानते हैं सबसे पहले ये जानते हैं कि ये परिवर्तन कौन सी राशियों के लिए लाभकारी रहेगा।

1. मेष राशि: मंगल आपने राशि परिवर्तन के दौरान सिंह राशि से 3वें भाव यानि पराक्रम व छोटे भाई, बहन के भाव में गोचर करेंगे। मंगल का ये गोचर आपकी जिंदगी में विशेष परिवर्तन लाता दिख रहा है। इस दौरान नई नौकरी का ऑफर भी आपको मिल सकता है। वहीं नौकरी कर रहे लोगों को पदोन्नती मिल सकती है। इस दौरान कुछ नए व्यावसायिक संबंध बनने की संभावना के बीच आपको इनसे भविष्य में अच्छा धन-लाभ हो सकता है। इसके अलावा सर्विस सैक्टर में काम करने वालों के लिए यह समय शानदार साबित होने की संभावना है।
उपायः मंगलवार को अनार का पौधा लगाएं।

2. वृषभ राशि: मंगल आपने राशि परिवर्तन के दौरान वृषभ राशि से 2रें भाव यानि धन व वाणी भाव में गोचर करेंगे। ऐसे में मंगल का ये गोचर आपकी राशि वालों का आर्थिक जीवन सर्वाधिक प्रभावित कर उनमें अनुकूलता लाता दिख रहा है। ऐसे में जो जातक निवेश का प्लान कर रहे हैं, उन्हें अच्छा मुनाफ़ा होने की संभावना है। वहीं कई जातक अपने पूर्व के किसी निवेश से भी अच्छा धन कमा सकते हैं। उचित होगा अपने फालतु खर्चों पर लगाम लगाएं। इस समय आपको पूरी तरह से सतर्क रहना होगा। दुर्घटना से लेकर सेहत तक सभी को लेकर सावधानी ही आपकी मदद करेगी।

उपायः शुक्र देव जी के बीज मंत्र का पाठ करें।

3. मिथुन राशि: मंगल आपने राशि परिवर्तन के दौरान मिथुन राशि में ही यानि प्रथम भाव लग्न में गोचर करेंगे। ऐसे में यह आपके स्वभाव में आक्रामकता ला सकते हैं। उचित होगा कोई भी निर्णय जल्दबाज़ी में न लें। इसके अलावा कुछ जातकों का जोश और आवेश उनके जीवनसाथी से विवाद का कारण बन सकता है। उचित रहेगा अपनी आक्रमकता को नियंत्रण में रखें।

उपायः बुधवार के दिन किन्नरों का आशीर्वाद लें।

4. कर्क राशि: मंगल आपने राशि परिवर्तन के दौरान आपकी राशि से 12वें भाव यानि व्यय भाव में होंगे। वहीं ज्योतिष के अनुसार कर्क राशि के लिए मंगल योगकारक ग्रह भी होते हैं। 12वें भाव में स्थित होने के चलते मंगल का ये गोचर कर्क राशि के जातकों को कुछ प्रतिकूल फल दे सकता है।

यह गोचर आपके खर्चों में अत्यधिक वृद्धि कर सकता है। जिसके चलते धन संबंधी समस्याएं पैदा हो सकती है। लेकिन ध्यान रखें इस दौरान कोई ऋण न लें वहीं यदि मजबूरी ही हो जाए तो कर्ज लेने से पहले किसी बड़े से सलाह अवश्य लें। इस दौरान कार्यक्षेत्र में भी कुछ उतार-चढ़ाव की संभावना के बीच आप जल्दी ही अपनी समझदारी से इस तरह की परिस्थिति को हल करने में भी सक्षम रहेंगे। स्वास्थ्य जीवन के दृष्टि से भी मंगल आपको बेचैनी और मानसिक तनाव के अलावा अनिद्रा की परेशानी दे सकते हैं। इस दौरान आंखों का खास ख्याल रखें।

उपायः सुंदरकांड का पाठ हर मंगलवार को करें।

5. सिंह राशि: मंगल आपने राशि परिवर्तन के दौरान आपकी राशि से 11वें भाव यानि आय भाव में गोचर करेंगे। जिसके फलस्वरूप सिंह राशि के जातकों हर क्षेत्र में सफलता मिलती दिख रही है। ऐसे में इन राशि के जातकों को लिए ये स्थिति आय और लाभ का भाव बना रही है। इस दौरान आपकी आय में अच्छी बढ़ौतरी होने के योग के साथ ही इस राशि के व्यवसाइयों को बिजनेस में विशेष मुनाफा होने की संभावना है। जिसके चलते आपकी आर्थिक स्थिति में मजबूती आएगी। इसके अलावा आपकी कार्य करने की शैली में भी निखार आने से कार्यस्थल में आपकी तारीफ हो सकती है। इस समय आप शेयर बाजार या कहीं निवेश कर आदि साधनों से धन कमा सकते हैं। साथ ही कोर्ट- कचहरी के मामलों में आपकी जीत संभव है।

उपायः छोटे बालकों में मंगलवार को गुड़ और चने का प्रसाद बांटें।

6. कन्या राशि : मंगल का ये गोचर कन्या राशि के जातकों के दशम यानि कर्म भाव में होगा। इसके परिणामस्वरूप मंगल की ये उपस्थिति आपको करियर में अनुकूल फल मिलने के योग बनाएगी। आर्थिक जीवन में आपको अपार धन लाभ होने से आप वाहन और प्रॉपर्टी खरदीने का प्लान कर सकते हैं। करियर में भी स्थितियां आपके हक़ में होगी और आप खुद को प्रोत्साहित करते हुए हर कार्य से जुड़ी अपनी जिम्मेदारी को भली-भांति पूरा करेंगे।

उपायः मंगलवार के दिन स्वेच्छा से रक्तदान करें।

7. तुला राशि : गोचर के दौरान मंगल आपकी राशि से नवम भाव में गोचर करने जा रहे हैं। ऐसे में इस भाव में मंगल का गोचर आपको सबसे अधिक स्वास्थ्य और धन संबंधी समस्या दे सकता है। कार्यक्षेत्र पर नौकरीपेशा जातकों का कोई ट्रांसफर संभव है, जिसके चलते उन्हें अपनी जन्मभूमि से दूर जाना पड़ेगा। व्यापारी जातकों को भी इस समय निवेश करना भारी पड़ सकता है। क्योंकि उन्हें कोई बड़ा नुकसान होने के योग बनते दिखाई दे रहे हैं।

उपायः शुक्रवार के दिन माता भगवती की पूजा करें।

8. वृश्चिक राशि: गोचर के दौरान मंगल आपकी राशि से मंगल अष्टम भाव यानि आयु भाव में रहेंगे। अब वे अपना गोचर करते हुए आपकी राशि से अष्टम भाव में विराजमान हो रहे हैं। ये स्थिति जातकों को कई प्रकार की बाधाएं लेकर आती दिख रही है। इस समय आपको धन के लिए अधिक मेहनत करनी होगी। मुमकिन है कि आप में से कुछ गुप्त स्रोत्र से भी कुछ हद तक धन कमा सकेंगे। इस समयावधि में कार्यक्षेत्र में छोटा सा कार्य पूरा करना भी आपके लिए परेशानी का मुख्य कारण बन सकता है। इस समय आपके सहकर्मी भी आपका सहयोग नहीं करेंगे। वहीं व्यापारी जातकों की कार्यकुशलता में भी कमी देखने को मिल सकती है। उचित होगा कि इस समयावधि में शरीर को पूरा आराम देते हुए खुद को हर प्रकार के तनाव से दूर रखें।

उपायः घर के मुख्य द्वार पर लाल कलावे में आम के पत्तों से बनी बंदनवार लगाएं।

9. धनु राशि : इस गोचर के दौरान मंगल आपकी राशि से सप्तम यानी विवाह भाव में प्रवेश करेंगे। ऐसे में इसका सबसे अधिक प्रभाव शादीशुदा जिंदगी पर पड़ेगा, जिसके चलते तनाव उत्पन्न हो सकता है। इस दौरान मंगल द्वारा आपके अंदर क्रोध की वृद्धि करने से जीवनसाथी के साथ कोई बड़ा विवाद हो सकता है। वहीं यदि आप अविवाहित हैं तो, ये गोचर आपके विवाह में भी कुछ विलंब का कारण बन सकता है।

उपायः गुरुवार को केले के पेड़ की पूजा करते हुए उस पर गुड़, चनादाल व हल्दी अर्पित करें।

10. मकर राशि : मंगल का ये गोचर आपकी राशि से षष्टम यानि रोग व शत्रु भाव में होगा, जिसके चलते आपको उत्तम परिणाम मिल सकेंगे। इस समयावधि में आप अपने कार्यक्षेत्र में शत्रुओं पर विजय प्राप्त कर सकते है। इसके अलावा इस दौरान आपमें प्रतिस्पर्द्धी भावना भी उच्च की बनी रहेगी, जिसके चलते शिक्षा के क्षेत्र में छात्र बेहतर प्रदर्शन कर सकेंगे। वहीं यदि आप व्यवसायी हैं, तो आप इस समय सभी महत्वपूर्ण निर्णय ले सकेंगे।

उपायः पीपल के नीचे शनिवार की शाम सरसों के तेल का दीपक जलाएं। 11. कुंभ राशि : मंगल का ये गोचर आपकी राशि से पंचम यानि बुद्धि व पुत्र भाव में गोचर करेंगे। ऐसे में मंगल का ये गोचर आपके लिए कई महत्वपूर्ण परिणाम देने के योग बनाएगा।
एक ओर जहां इस गोचर से आपकी कार्यक्षमता में वृद्धि होगी वहीं दूसरी ओर इसके चलते आप हर रणनीति व योजना को स्पष्ट रूप से दूसरों के सक्षम रखते हुए उन्हें अपनी बात समझाने में सफल रहेंगे। मुमकिन है कि इस दौरान कुंभ राशि के व्यापारी से धोखा हो, इससे बचने के लिए आपको थोड़ा सावधान रहना होगा। भले ही मंगल आपको इस समय बुद्धिमान बनाएंगे, लेकिन वे ही आपके स्वभाव में कुछ उग्रता भी लाएंगे। अत: फैसले जल्दबाज़ी में न लें साथ ही किसी पर आंख मूंदकर विश्वास कतई न करें।

उपायः श्री हनुमान जी की प्रतिमा के सामने हर शनिवार चमेली के तेल का दीपक जलाने के पश्चात सात बार श्री हनुमान चालीसा का पाठ करें। 12. मीन राशि : मंगल देव आपकी राशि से चतुर्थ यानी सुख भाव में गोचर करेंगे। इसके चलते आपके जीवन में आर्थिक समृद्धि आने की संभावना है। साथ ही आप किसी चल-अचल संपत्ति या प्रॉपर्टी से भी अतिरिक्त धन अर्जित करेंगे। इस समय व्यापारी जातकों को भी अपने बिज़नेस में विस्तार करने में मदद मिलेगी। ये समयावधि पारिवारिक जीवन में भी आपको अपने परिवार के सदस्यों का सहयोग दिलाएगी। साथ ही शादीशुदा जातक अपने साथी के साथ मिलकर दांपत्य सुख का आनंद उठा सकेंगे।

उपायः हर रोज रामरक्षास्त्रोत्म या श्री विष्णु सहस्रनाम स्तोत्र का पाठ करें।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.