CM Yogi का ऐलान, UP की व्यावसायिक राजधानी कानपुर का होगा अपना एयरपोर्ट

कानपुर को हवाई मार्ग से जोड़ने के प्रयास तेज कर दिए गए हैं। अब वो दिन दूर नहीं है जब उत्तर प्रदेश की आर्थिक राजधानी कानपुर के पास अपना खुद का एयरपोर्ट होगा। हवाई अड्डे के अलावा मेट्रो के दूसरे और तीसरे चरण का काम भी जल्द पूरा होने वाला है।

कानपुर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को कहा कि कानपुर को हवाई मार्ग से जोड़ने के प्रयास तेज कर दिए गए हैं और जल्द ही शहर के पास अपना एक हवाई अड्डा होगा। उन्होंने कहा कि कानपुर में गंगा अविरल और निर्मल हो चुकी है, जबकि मेट्रो के दूसरे और तीसरे चरण का काम भी जल्द पूरा होने वाला है। प्रबुद्ध जन सम्मेलन को संबोधित करते हुए योगी ने कहा कि कानपुर दो रक्षा गलियारों में से एक का केंद्र बिंदु भी है और स्मार्ट सिटी मिशन के तहत यह अत्याधुनिक सुविधाओं वाला शहर बनने की दिशा में अग्रसर है। 

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कानपुर में 388 करोड़ रुपये की लागत वाली 272 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास भी किया। उन्होंने ‘कानपुर स्मार्ट सिटी’ कॉफी टेबल बुक का विमोचन भी किया। योगी ने कहा कि कानपुर कभी ‘उत्तर भारत का मैनचेस्टर’ कहलाता था। यह न केवल उत्तर प्रदेश, बल्कि पूरे उत्तर भारत के नौजवानों के लिए रोजगार का केंद्र था। हालांकि, 1970 और 1980 के दशक में कुछ लोगों की नजर इस महानगर को लगी और यह अव्यवस्था, अराजकता, बंद होते उद्योगों का शिकार हो गया। उन्होंने कहा कि हालांकि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में कानपुर को उसकी पुरानी पहचान दिलाने के अभियान को आगे बढ़ाया गया है। सबसे पहले पूर्ण सलिला मोक्षदायिनी मां गंगा की अविरलता और निर्मलता को बनाए रखने के प्रयास किए जा रहे हैं। 

योगी ने कानपुर में गंगा की सफाई के लिए प्रदेश सरकार की ओर से किए गए प्रयासों का जिक्र करते हुए कहा कि तीन वर्ष पहले प्रधानमंत्री मोदी खुद कानपुर आए थे और हमने सीसामऊ नाले को पूर्ण रूप से बंद करके तथा ‘सीवर प्वॉइंट’ को ‘सेल्फी प्वॉइंट’ में बदलकर मां गंगा की अविरलता और निर्मलता को बहाल करने का कार्य किया था। शहर में आधुनिक सुविधाओं की बढ़ती उपलब्धता के बारे में मुख्यमंत्री ने कहा कि कानपुर में इलेक्ट्रिक बस सेवा पहले ही शुरू की जा चुकी है और अब मेट्रो का तेजी से विस्तार हो रहा है। मेरा अनुमान है कि दूसरे और तीसरे चरण का काम भी जल्द पूरा होने की ओर है। 

हम कानपुर में सार्वजनिक परिवहन की बेहतरीन सुविधा उपलब्ध कराने का काम करेंगे। उन्होंने कहा कि भारत को रक्षा क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनाने के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए देश में जो दो रक्षा गलियारे बन रहे हैं, उनमें से एक का केंद्र बिंदु कानपुर भी है। सरकार इस गलियारे के निर्माण की दिशा में पूरी प्रतिबद्धता के साथ काम कर रही है। कानपुर को ‘स्मार्ट सिटी’ बनाने की मुहिम के बारे में मुख्यमंत्री ने कहा कि स्मार्ट सिटी मिशन ने कैसे इस पुराने शहर को बदलने का काम किया है, इसकी झलक अभी देखने को मिली। 400 करोड़ रुपये की अधिकतर परियोजनाएं स्मार्ट सिटी मिशन से जुड़ी हुई हैं। 

गरीबों के जीवन में आए बदलाव पर चर्चा करते हुए योगी ने कहा कि कानपुर में अब तक 25 हजार से अधिक गरीबों को आवास मिल चुके हैं, जिसमें से 14 हजार आवास शहरों तो 11 हजार आवास ग्रामीण क्षेत्रों में प्रदान किए गए हैं। उन्होंने कहा कि आज मोदी जी के मार्गदर्शन में रेहड़ी पटरी वालों को ब्याज मुक्त ऋण मुहैया कराया जा रहा है। अकेले कानपुर में 78 हजार से अधिक लोगों को ब्याज मुक्त ऋण देकर उन्हें स्वावलंबन के साथ आगे बढ़ने का अवसर दिया गया है।” योगी ने जल्द होने जा रहे नगर निकाय चुनावों के लिए प्रबुद्धजनों का आर्शीवाद भी मांगा।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *