Chhattisgarh: विधानसभा उपाध्यक्ष मनोज सिंह मंडावी का दिल का दौरा पड़ने से निधन

हाइलाइट्स

मनोज सिंह मंडावी भानुप्रतापपुर से विधायक थे
मंडावी तीसरी बार जीतकर विधानसभा पहुंचे थे
मंडावी के निधन पर सीएम भूपेश बघेल ने दुख जताया है

रायपुर. छत्तीसगढ़ विधानसभा के उपाध्यक्ष मनोज सिंह मंडावी का आज दिल का दौर पड़ने से निधन हो (Manoj Singh Mandavi passed away) गया . सिंह 58 साल के थे. उनके निधन की खबर से राज्य में शोक की लहर दौड़ गई है. मनोज मंडावी रविवार को सुबह कांकेर के टेलगरा गांव में थे. वहां उनको बेचैनी महसूस हुई और उल्टियां होने लगी. इस पर उन्हें फौरन एम्बुलेंस से धमतरी लाया गया. इसके लिए चारामा से धमतरी मसीही अस्पताल तक ग्रीन कॉरिडोर (Green corridor) बनाया गया था. लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका. डॉक्टर्स के मुताबिक अस्पताल पहुंचने से पहले ही उनका निधन हो चुका था.

मंडावी के निधन की खबर मिलते ही अस्पताल में कांग्रेस नेताओं का तांता लग गया. डॉक्टर्स की ओर से मंडावी का डेथ सर्टिफिकेट जारी करने के बाद उनके पार्थिव शरीर को वापस उनके गृह ग्राम भेज दिया गया. घटना के बाद उनकी पत्नी और बेटों का रो रोकर बुरा हाल हो गया. सीएम भूपेश बघेल ने मंडावी के निधन पर दुख व्यक्त करते हुए कहा कि विधानसभा के उपाध्यक्ष एवं वरिष्ठ आदिवासी नेता के आकस्मिक निधन का समाचार हम सब के लिए बेहद दुखद है. धमतरी महापौर और स्थानीय नेताओं ने भी मनोज मंडावी के निधन को बड़ी क्षति बताते हुए शोक प्रकट किया है.

आदिवासी समाज का मजबूत नेता माना जाता था
मनोज सिंह मांडवी भानुप्रतापपुर से विधायक थे. मंडावी को आदिवासी समाज का मजबूत नेता माना जाता था. मंडावी का अंतिम संस्कार उनके पैतृक गांव नथिया नवागांव में किया जाएगा. बताया जा रहा है कि मंडावी को स्वास्थ्य को लेकर परेशानी थी. उन्हें इलाज के लिए शनिवार को ही चेन्नई जाना था. लेकिन वे किसी कारण से नहीं जा पाए थे. वे 2019 से विधानसभा उपाध्यक्ष थे.

आपके शहर से (रायपुर)

छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़

छात्र राजनीति से अपनी राजनीतिक करियर की शुरुआत की थी
मंडावी ने छात्र राजनीति से अपनी राजनीतिक करियर की शुरुआत की थी. वे पिछले विधानसभा चुनाव में तीसरी बार विधायक बने थे. उनकी छवि दबंग नेता के रूप में थी. पिछले चुनाव में करीब 27 हजार वोटों से जीतकर विधानसभा पहुंचे थे. मंडावी के निधन से उनके विधानसभा क्षेत्र में शोक की लहर दौड़ गई है. मंडावी के समर्थक उनके पैतृक गांव पहुंचना शुरू हो गए हैं.

Tags: Chhattisgarh news, Raipur news

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *