Chandra Grahan Timing in Rajasthan: जयपुर में 42 मिनट रहेगी अवधि, जानें कब से कब तक रहेगा

हाइलाइट्स

ग्रहण का विभिन्न राशियों पर अलग-अलग तरीके से प्रभाव पड़ेगा
जयपुर में यह शाम को 5.37 बजे से शुरू होकर 6.19 बजे तक रहेगा
शेखावाटी के सबसे बड़े जिले सीकर में यह शाम को 5.39 से 6.20 बजे तक रहेगा

महिमा जैन.

जयपुर. वर्ष 2022 का आखिरी चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan) आज है. राजधानी जयपुर (Jaipur) में चन्द्र ग्रहण की अवधि 42 मिनट रहेगी. जयपुर में ग्रहण शाम 5.37 बजे से शुरू होकर 6.19 बजे समाप्त होगा. ज्योतिषों के अनुसार इससे प्राकृतिक आपदाएं होने का खतरा बढ़ेगा. सूर्योदय के साथ ही सुबह 6.45 बजे सूतक शुरू होने के कारण जयपुर शहर के आराध्य देव गोविंददेव जी मंदिर में ग्वाल, संध्या और शयन झांकी का समय बदला गया है. इस ग्रहण का विभिन्न राशियों पर अलग-अलग तरह से प्रभाव पड़ेगा.

ज्योतिषों के अनुसार वर्ष-2022 का आखिरी ग्रस्तोदय खग्रास चंद्र ग्रहण देव दिवाली यानि कार्तिक शुक्ल पूर्णिमा मंगलवार को होगा. खास खगोलीय घटना यानि देश में ग्रहण की अवधि दो घंटे 9 मिनट की रहेगी. दोपहर में 3.46 से शाम 5.12 बजे तक ग्रहण की खग्रास स्थिति रहेगी. देश के पूर्वी भाग में स्थित राज्य बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल, असम और अरुणाचल प्रदेश में खग्रास रूप में दिखेगा. अन्य राज्यों में यानि राजस्थान में चंद्रमा खंडग्रास की स्थिति में उदय होगा. आस्ट्रेलिया, उत्तरी अमरीका, उत्तर पूर्वी यूरोप, रूस, चीन, पाकिस्तान, श्रीलंका, कोरिया और जापान में भी यह ग्रहण दिखेगा. राजस्थान के सीकर में यह शाम 5.39 से 6.20 बजे तक रहेगा. जैसलमेर में चन्द्रग्रहण शाम को 5.53 बजे से 6.20 तक रहेगा. वहीं श्रीगंगानगर में यह शाम को 5.40 से 6.20 बजे तक रहेगा.

ग्रहण के समय यह करें
ज्योतिषाचार्यों के अनुसार जिन राशि के जातकों के लिए यह अशुभ फल है वे यथाशक्ति दान, जप पाठ के साथ ही हनुमान चालीसा, सुंदरकांड पाठ और हरिनाम संकीर्तन करें. देव दिवाली के निमित्त दीपदान शाम 6.19 बजे बाद करें. मंदिर में परिक्रमा और मूर्ति, चाकू और कैंची को स्पर्श न करें. भोजन आदि न करें. हालांकि रोगियों, बच्चों और बुजुर्गों को छूट है. इसमें चार ग्रह वक्री होंगे. मिथुन, कर्क, वृश्चिक, कुंभ और सिंह राशि के जातकों के लिए ग्रहण बेहतर रहेगा. सोमवार शाम 4.17 बजे से शुरू हुई पूर्णिमा मंगलवार को 4.32 बजे तक रहेगी.

प्राकृतिक आपदाओं को मिलेगा बढ़ावा
विश्व में ग्रहण दोपहर 2.39 बजे शुरू होकर शाम 6.19 बजे तक रहेगा. चंद्रमा 50 प्रतिशत ग्रहण लगा हुआ उदय होगा. यानि 50 प्रतिशत काला और 50 प्रतिशत चमकीला नजर आएगा. ग्रहण भरणी नक्षत्र और मेष राशि में घटित होगा. इस नक्षत्र और राशि में जन्मे व्यक्ति विशेष सावधानी रखें. एक मास में दो ग्रहण होना प्राकृतिक आपदाओं को बढ़ावा देता है. धातु पदार्थों और रस पदार्थों में तेजी का दौर रहेगा. ग्रहण के समय चंद्र-राहु का सूर्य और बुध, शुक्र, केतु से समसप्तक योग बनेगा.

राशियों पर यह पड़ेगा ग्रहण का प्रभाव
मेष-दुर्घटना से कष्ट
वृषभ- धनहानि का खतरा
मिथुन-उन्नति, लाभ फल
कर्क- सुख और वैभव में वृद्धि
सिंह- मानहानि का भय
कन्या- शारीरिक कष्ट
तुला-दांपत्य कष्ट
वृश्चिक-अधूरे कार्य पूर्ण होंगे
धनु-चिंता पीड़ा की वृद्धि होगी
मकर-रोग भय
कुंभ-धन लाभ
मीन-व्यय की वृद्धि होगी

Tags: Chandra Grahan, Jaipur news, Rajasthan news, Sikar news

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.