Bihar: भोपाल से सिविल इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे छात्र की टुकड़े-टुकड़े में मिली लाश, 12 दिन पहले हुआ था लापता

हाइलाइट्स

छात्र के पहने गए कपड़े और मां के दुपट्टा से परिजनों ने की पहचान
शरीर के कई अंगों को चाकू से काटकर निर्मम तरीके से की गई हत्या
प्रेम प्रसंग में हत्या की पुलिस ने जताई आशंका, फॉरेंसिंक जांच शुरू 

रिपोर्ट- गोविंद कुमार 

गोपालगंज. भोपाल में सिविल इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे एक छात्र की कई टुकड़ों में काटकर जघन्य तरीके से हत्या कर दी है. घटना गोपालगंज के उचकागांव थाना क्षेत्र के बालाहाता वृत्ति टोला की है. मृतक छात्र की पहचान रवि आलम अंसारी का 22 वर्षीय बेटा सेराज अंसारी के रूप में की गयी है. परिजनों के मुताबिक वह 30 अक्टूबर की रात अपने घर से बथान में सोने गया था, जहां से रहस्यमय ढंग से गायब हो गया था. शनिवार को छात्र का शव उचकागांव पुलिस ने बालाहाता वृत्ति टोला के श्मशान के पास चंवर से बरामद किया है. शव को बरामद करने के बाद पुलिस ने न्यायालय से आदेश लेने के बाद फोरेंसिक जांच के लिए मुजफ्फरपुर भेज दिया है.

बताया जाता है कि थाना क्षेत्र के बालाहाता वृत्ति टोला निवासी रविआलम अंसारी का 22 वर्षीय बेटा सेराज अंसारी भोपाल के मध्यांचल प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी के अंतर्गत संचालित राधारमण इंजीनियरिंग कॉलेज में सिविल इंजीनियरिंग के लास्ट सेमेस्टर का छात्र था. बकरीद के समय छठे सेमेस्टर की परीक्षा देने के बाद कॉलेज में छुट्टी होने पर वह अपने घर आया हुआ था. छठ के दिन 30 अक्टूबर की रात वह घर से खाना खाने के बाद ठंढ को देखते हुए अपने मां का दुपट्टा लेकर घर से कुछ दूरी पर स्थित अपने बथान में सोने के लिए गया हुआ था. अगले दिन सुबह जब छात्र अपने घर नहीं पहुंचा तो पिता ने अपने बेटे को जाकर बथान और गांव में तलाश करनी शुरू कर दी.

बकरी चराने गई महिलाओं ने देखा शव 
छठ के अर्ध्य देने के बाद भी जब बेटे का कोई सुराग नहीं मिला तो पिता द्वारा बेटे को रिस्तेदारी और बेटे के दोस्तों के घर भी उसकी तलाश शुरू कर दी. काफी खोजबीन के बाद भी जब बेटे का कोई पता नहीं चला तो मामले को लेकर पिता रविआलम अंसारी के द्वारा अज्ञात के विरुद्ध थाने में अपहरण की प्राथमिकी कराई गई थी. इस दौरान बकरी चराने गई महिलाओं ने  बालाहाता वृत्ति टोला के शमशान के पास एक युवक का सड़ा गला शव देखा. जिसकी सूचना ग्रामीणों द्वारा पुलिस को दी गई.

फॉरेंसिक जांच के लिए मुजफ्फरपुर लेबोरेटरी भेजा गया शव 

सूचना मिलने पर दलबल के साथ मौके पर पहुंचकर उचकागांव के थानाध्यक्ष सुभाष कुमार सिंह, पुलिस पदाधिकारी मुकेश सिंह, कृष्ण कुमार सिंह ने शव को कब्जे में ले लिया. बरामद शव के कपड़े और उसके पास पड़े दुपट्टे से शव की पहचान रविआलम अंसारी के बेटे सेराज अंसारी के रूप में की गई है.  बरामद शव को न्यायालय से आदेश लेने के बाद पुलिस ने फॉरेंसिक जांच के लिए मुजफ्फरपुर लेबोरेटरी में भेज दिया गया. हथुआ एसडीपीओ नरेश कुमार ने घटनास्थल पर जाकर हत्याकांड मामले की जांच की. वहीं मृतक के स्वजनों से मिलकर उनको बहुत जल्द ही न्याय दिलाने का आश्वासन दिया. वारदात की जांच कर रहे पुलिस अधिकारियों ने हत्या के पीछे प्रेम-प्रसंग की आशंका जाहिर की है. हालांकि अबतक अपराधी पकड़े नहीं गए हैं.

Tags: Bihar News, Brutal Murder, Gopalganj news

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.