Auspicious work is not done in these days, know what is the reason | इन दिनों में नहीं किए जाते शुभ काम, जानें क्या है कारण

वहीं कई लोग तो हर काम करने पहले शुभ समय, शुभ दिन, आदि का ध्यान रखते हैं। इसका मुख्य कारण यह है कि माना जाता है कि शुभ समय में किए जाने वाला काम हमें सफलता प्रदान करता है। वहीं ये भी मान्यता है कि यदि इन कामों को शुभ दिन या समय पर नहीं किया जाता है तो वे काम लाभ नहीं देते। तो चलिए जानते हैं कि किन दिनों में शुभ काम करना वर्जित माना गया है।

देवशयन के समय
आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी से लेकर कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी तक देव शयन यानि देवता शयन करते हैं। ऐसे में इस दौरान किसी भी तरह के शुभ कार्य जैसे की विवाह, गृहारम्भ, जनेऊ संस्कार काम की मनाही है।

पितृ पक्ष या श्राद्ध पक्ष
हिंदू धर्म में पितृ पक्ष के दौरान किसी भी तरह के शुभ काम को करना वर्जित माना गया है। पितृ पक्ष या श्राद्ध पक्ष के दौरान किसी भी तरह के शुभ कार्य को न करने के साथ किसी भी चीज की खरीदारी आदि भी नहीं करनी चाहिए, यहां तक की नए वस्त्र नहीं पहनने चाहिए।

होलाष्टक के दौरान
हिंदुओं के एक प्रमुख त्यौहार होली से आठ दिन पहले के समय को होलाष्टक कहा जाता है और यह समय किसी भी शुभ काम के लिए उचित नहीं माना जाता है। ऐसे में इन दिनों में किसी भी तरह के शुभ काम को नहीं करना चाहिए।

सूतक और शावड़ के दौरान
जब घर में कोई बच्चा जन्म लेता है, या घर में किसी की मृत्यु हो जाती है। तो उस समय को सूतक माना जाता है और कहा जाता है की घर में सूतक लग गया है या शावड़ लग गया है। और जब ऐसा हो जाता है तो शुद्धि के दिन तक कोई भी शुभ काम नहीं किया जाता है किसी भी तरह का शुभ काम इन दिनों में वर्जित होता है और उसके बाद घर में हवन होने के बाद जब शुद्दिकरण होता है, फिर आप शुभ काम कर सकते हैं।

शुभ काम के लिए नहीं होते पंचक
पंचक के दिनों में भी किसी भी तरह का शुभ काम नहीं करना चाहिए, इसका कारण ये है कि माना जाता है कि इन दिनों में कोई भी शुभ काम शुरू करने से या कोई शुभ काम करने से उस काम का फल आपको नहीं मिलता है। ऐसे में इन दिनों में भी आपको शुभ काम को करने से बचना चाहिए।

Must Read- पंचक: साल 2023 में जनवरी से दिसम्बर तक कब-कब है?

मान्यता है कि यदि आप इन दिनों में कोई भी शुभ काम करते हैं तो वह काम आपको शुभ फल प्रदान नहीं करता है। इसके अलावा आपको कोई भी शुभ काम करने से पहले एक बार किसी जानकार पंडित की राय अवश्य लेनी चाहिए ताकि आप उससे सही और शुभ समय को जान सकें।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *