25 मेगा रैली, दिग्गज संभालेंगे चुनावी कमान, 15 दिनों तक चलेगा आक्रामक अभियान, ऐसी है गुजरात के लिए कांग्रेस की स्पेशल तैयारी

creative common

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, कांग्रेस शासित राज्य के दोनों मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और भूपेश बघेल, एआईसीसी महासचिव प्रियंका गांधी, पूर्व सीएम और ओबीसी-एससी-एसटी-अल्पसंख्यक नेता भी चुनावी राज्य में रैलियां और प्रचार करेंगे।

जैसे ही हिमाचल प्रदेश में मतदान का आगाज हो गया कांग्रेस पार्टी ने अपना ध्यान अगले 15 दिनों में एक आक्रामक अभियान के साथ गुजरात विधानसभा चुनावों पर केंद्रित कर लिया। सूत्रों के अनुसार, गैंड ओल्ड पार्टी ने गुजरात में लगभग 25 जनसभाओं और लगभग 125 निर्वाचन क्षेत्रवार रैलियों की योजना बनाई है। प्रमुख विपक्षी दल ने भी एक योजना तैयार की है जिसमें शीर्ष नेतृत्व को शामिल किया गया है। गुजरात कांग्रेस नेताओं के मुताबिक कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी की एक जनसभा पर भी विचार किया जा रहा है। राहुल गांधी, जो वर्तमान में महाराष्ट्र में भारत जोड़ो यात्रा का नेतृत्व कर रहे हैं, सबसे अधिक संभावना गुजरात में प्रचार करते नजर आएंगे। गांधी परिवार ने हिमाचल विधानसभा चुनाव में प्रचार नहीं किया था।

इसे भी पढ़ें: 10 लाख नौकरी, बदला जाएगा नरेंद्र मोदी स्टेडियम का नाम, गुजरात चुनाव को लेकर कांग्रेस ने अपना घोषणा पत्र किया जारी

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे, कांग्रेस शासित राज्य के दोनों मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और भूपेश बघेल, एआईसीसी महासचिव प्रियंका गांधी, पूर्व सीएम और ओबीसी-एससी-एसटी-अल्पसंख्यक नेता भी चुनावी राज्य में रैलियां और प्रचार करेंगे। गुजरात कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने इंडिया टुडे को बताया, ”जहां तक ​​अभियान की बात है तो विस्तृत योजना तैयार कर ली गई है। इस बार विधानसभा चुनाव की रणनीति अलग है। अब हमारा (कांग्रेस) अभियान अगले स्तर पर जाएगा – यह गुजरात में आखिरी मिनट का आक्रामक अभियान होगा।

इसे भी पढ़ें: Himachal Pradesh की 68 सीटों पर शनिवार को डाले जाएंगे वोट, इतिहास बदलने पर भाजपा का जोर, कांग्रेस को पुरानी परंपरा पर भरोसा

2017 के विधानसभा चुनावों में राहुल गांधी ने राज्य में एक आक्रामक अभियान का नेतृत्व किया और जिसके कारण कांग्रेस ने पिछले तीन दशकों में भाजपा को दो अंकों की सीटों पर लाकर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दिया। इस बार, कांग्रेस पार्टी ने बूथ प्रबंधन पर अधिक भरोसा करते हुए गुजरात विधानसभा चुनावों में अपनी रणनीति बदली। राहुल गांधी ने फरवरी 2022 में द्वारका में राज्य स्तरीय चिंतन शिविर में पार्टी के अभियान की शुरुआत की जिसके बाद, पार्टी ने गुजरात विधानसभा के लिए एक “साइलेंट कैंपेन” योजना लागू की। 

अन्य न्यूज़



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.