हिमाचलः इन 15 सीटों पर रही कांटे की टक्कर, कांग्रेस ने मार ली बाजी, मिला प्रचंड बहुमत

हाइलाइट्स

कांग्रेस पार्टी ने 15 सीट पर 2,000 से कम मतों के अंतर से जीत हासिल की.
68 सीटों में से 40 सीट पर कांग्रेस ने जीत हासिल की.

शिमला. कांग्रेस ने हिमाचल प्रदेश की 68 में से 40 सीट जीतकर भले ही सत्ता भाजपा से छीन ली हो, लेकिन पार्टी ने 15 सीट पर 2,000 से कम मतों के अंतर से जीत हासिल की है. प्रदेश की भोरंज, सुजानपुर, दारंग, बिलासपुर, श्री नैना देवी, रामपुर, शिलाई और श्री रेणुकाजी में दोनों दलों के बीच मतों का अंतर 1,000 वोट से कम था. दोनों दलों के उम्मीदवारों के बीच भट्टियात, बल्ह, ऊना, जसवां परागपुर, लाहौल स्पीति, सरकाघाट और नाहन में केवल 1,000 से 2,000 मतों के बीच का अंतर रहा.

राज्य के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मंडी जिले के सिराज से 38,183 मतों के अंतर से जीत हासिल की, जबकि भाजपा उम्मीदवार पवन काजल ने कांगड़ा में 19,834 मतों के अंतर से जीत हासिल की. मोहन लाल ब्राक्टा ने रोहड़ू आरक्षित सीट से 19,339 मतों के अंतर से जीत दर्ज की। ठाकुर की जीत का फासला राज्य में सबसे ज्यादा है. भोरंज सीट से कांग्रेस के सुरेश कुमार ने महज 60 वोटों से जीत दर्ज की है, जो सबसे कम मतों के अंतर से मिली जीत है.

इसके बाद, श्री नैना देवी से भाजपा उम्मीदवार रणधीर शर्मा 171 और बिलासपुर से भाजपा के प्रत्याशी त्रिलोक जामवाल 276 वोट से जीते हैं. कांग्रेस और भाजपा को क्रमश: 40 और 25 सीट मिली, लेकिन मत प्रतिशत का अंतर महज 0.90 फीसदी रहा. हिमाचल प्रदेश की 68 सदस्यीय विधानसभा में सिर्फ इस बार सिर्फ एक महिला विधायक होंगी. प्रदेश में 12 नवंबर को हुए विधानसभा चुनाव में महिला उम्मीदवारों का प्रदर्शन निराशाजनक रहा.

चुनावी रण में किस्मत आज़मा रही 24 में से केवल एक ही महिला प्रत्याशी चुनाव जीतने में कामयाब हुईं. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने छह, आम आदमी पार्टी (आप) ने पांच और कांग्रेस ने तीन महिलाओं को टिकट दिया था लेकिन केवल भाजपा की रीना कश्यप ही चुनाव जीत पाईं. कश्यप ने पच्छाद (एससी) सीट से फतह हासिल की है। उन्होंने 2021 में हुए उपचुनाव में इस सीट से जीत दर्ज की थी.

Tags: Himachal Assembly Elections, Himachal Congress

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *