हल्दीराम लिखे हजारों डिब्बों में भरी सोनपपड़ी में लगाई आग: आगरा के रोहता नहर क्षेत्र में हजारों डिब्बे मिठाई जलाई गई, सैकड़ों डिब्बे बिना जले रह गए

आगरा23 मिनट पहले

रोहता नहर के किनारे पड़े हल्दीराम लिखे हजारों डिब्बे। इसमें सोनपपड़ी मिठाई भरी हुई है।

आगरा के रोहता क्षेत्र में हल्दीराम लिखे हजारों डिब्बों में भरी सोनपपड़ी को आग लगा दी गई। नहर किनारे हजारों डिब्बों में सोनपपड़ी में आग लगी देखकर लोग चौंक गया। ग्रामीणों ने बताया कि घटना आज यानी शुक्रवार सुबह की है। लोग जब टहलने के लिए नहर की तरफ निकले तब उन्हें यहां हल्दीराम लिखे डिब्बे दिखाई दिए, उनमें आग सुलग रही थी।

किसान नेता श्याम सिंह चाहर मिठाई का डिब्बा दिखाते हुए जिसपर हल्दीराम लिखा है।

किसान नेता श्याम सिंह चाहर मिठाई का डिब्बा दिखाते हुए जिसपर हल्दीराम लिखा है।

रोहता क्षेत्र में रोहता नगर की दोनों तरफ सड़क है। यहां सुबह लोग नहर की तरह टहलने के लिए जाते हैं। किसान नेता श्याम सिंह चाहर ने बताया कि आज वह सुबह टहलने गए थे तो नहर की तरफ धुआं ही धुआं नजर आया। रोजाना स्वच्छ हवा लेने के लिए वे यहां आते हैं लेकिन आज बदबू से परेशान रहे। धीरे-धीरे वह उस जगह पहुंचे जहां आग और धुआं उठ रहा था। उन्होंने देखा कि हल्दीराम लिखे हजारों डिब्बे यहां पड़े हुए थे। उनको खोलकर देखा गया तो उसमें सोनपापड़ी(मिठाई) भरी हुई थी। एक तरफ डिब्बों में आग सुलग रही थी। वहीं दूसरी ओर सैकड़ों डिब्बों दूसरा ढ़ेर पड़ा हुआ था, उनमें भी सोनपपड़ी मिठाई भरी हुई थी। आसपास पूछताछ की गई तो यहां किसी यह माल डालते हुए नहीं देखा गया है।

नहर के किनारे पड़े मिठाई के डिब्बों में आग सुलगती नजर आ रही है।

नहर के किनारे पड़े मिठाई के डिब्बों में आग सुलगती नजर आ रही है।

टैक्स चोरी का माल है या मिठाई खराब हो गई
यह क्षेत्र थाना मलपुरा के अंतर्गत आता है। आसपास के लोगों ने बताया कि कोई रात में गाड़ी भरकर यहां माल पटकर गया है। तेल छिड़कर इसमें आग लगाने की कोशिश की गई है। कयास लगाए जा रहे हैं कि या मिठाई एक्सपाइयर हो चुकी है या फिर कोई टैक्स चोरी का मामला होगा। हजारों की संख्या में यहां डिब्बे जला दिए गए हैं। सैकड़ों की संख्या में डिब्बे अभी बिना जले रह गए हैं।

यहां सड़क किनारे पड़ा मिठाई के डिब्बों का ढ़ेर जलकर राख हो चुका है।

यहां सड़क किनारे पड़ा मिठाई के डिब्बों का ढ़ेर जलकर राख हो चुका है।

किसान नेता बोले, अब कहां गया प्रशासन
किसान नेता श्याम सिंह चाहर ने सुप्रीम कोर्ट का हवाला देते हुए कहा है कि किसान का मामला होता तो अब तक प्रशासन मुकदमा दर्ज कर देता है। अब प्रशासन कहां चला गया है। प्रशासनिक अधिकारियों को अब प्रदूषण नहीं दिख रहा है। किसान जब खेत के कूड़े में आग लगा देते हैं तो प्रशासन तुरंत कार्रवाई कर देता है। अब नामी कम्पनी की मिठाइयां जल रही हैं तो कोई खबर नहीं ली गई।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *