सॉलि‍सिटर जनरल तुषार मेहता के आरोपों का सीएम भूपेश बघेल ने द‍िया जवाब? जानें क्‍या है पूरा मामला

हाइलाइट्स

मैं यह स्पष्ट करना चाहता हूं कि मैंने कभी किसी जज से मिलकर किसी भी अभियुक्त के लिए किसी भी प्रकार का फेवर करने का अनुरोध नहीं किया.

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केंद्र के सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता पर बड़ा हमला किया है. भूपेश बघेल ने एक ट्वीट कर तुषार मेहता पर राजनीतिक उद्देश्यों के चलते झूठे आरोप लगाने का दावा किया है. उन्‍होंने कहा है क‍ि यह अत्यंत दुर्भाग्यजनक है कि सॉलीसिटर जनरल जैसे सर्वोच्च संवैधानिक पदों पर बैठा व्यक्ति राजनीतिक उद्देश्यों से झूठे एवं शरारत पूर्ण आरोप लगा रहा है. मैं यह स्पष्ट करना चाहता हूं कि मैंने कभी किसी जज से मिलकर किसी भी अभियुक्त के लिए किसी भी प्रकार का फेवर करने का अनुरोध नहीं किया. यह मेरी राजनीतिक छवि खराब करने एवं न्याय पालिक को दबाव में लाने का षड्यंत्र है जिसका समुचित प्रतिकार किया जाएगा.

भूपेश बघेल ने यह ट्वीट पिछले दिनों सुप्रीम कोर्ट में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता द्वारा किए गए उस दावे पर किया है, जिसमें मेहता ने कोर्ट के समक्ष यह कहा था कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने नान घोटाले मामले में 2 आरोप‍ियों की जमानत से पहले एक हाईकोर्ट के जज से मुलाकात की थी. उसके 2 दिन बाद ही आरोपियों को जमानत मिली गई थी. तुषार मेहता के खिलाफ अपने ट्वीट में भूपेश बघेल ने लिखा है. यह अत्यंत दुर्भाग्यजनक है कि सॉलि‍सिटर जनरल जैसे सर्वोच्च संवैधानिक पदों पर बैठा व्यक्ति राजनीतिक उद्देश्यों से झूठे एवं शरारत पूर्ण आरोप लगा रहा है.

CM Bhupesh Baghel, Baghel responded Tushar Mehta, Solicitor General Tushar Mehta, Chhattisgarh News

आपके शहर से (रायपुर)

छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़

सीएम भूपेश बघेल ने क‍िया ट्वीट

दरअसल, ईडी ने सुप्रीम कोर्ट में छत्तीसगढ़ के बहुचर्चित नान घोटाले में प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट से जुड़े मामले को राज्य से बाहर स्थानांतरित करने की मांग की थी. छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री रमन सिंह के समय 36000 करोड़ का नागरिक आपूर्ति निगम चावल घोटाला हुआ था. राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद भूपेश बघेल ने इसकी जांच के लिए एसआईटी का गठन करवाया. इसके बाद मामले के मुख्य आरोपी और नागरिक आपूर्ति निगम के तत्कालीन डायरेक्टर अनिल टुटेजा को जमानत मिल गई थी और उन्हें सरकारी गवाह बना लिया गया था.

इस पर तुषार मेहता ने सुप्रीम कहा था कि गवाह बदल रहे है. छत्तीसगढ़ में कुछ महीनों पहले हुई आईटी के रेड में आईटी को अनिल टुटेजा और राज्य द्वारा गठित एसआईटी के अधिकारियों में बातचीत और सबूतों-गवाहों को प्रभावित करने के व्हाट्सएप चैट मिले. खुद मुख्यमंत्री भुपेश बघेल ने टुटेजा की बेल से पहले हाईकोर्ट के जज से मुलाकात की थी, जिसपर बघेल ने अब ट्वीट किया.

Tags: Bhupesh Baghel, Chhattisgarh news, Tushar mehta

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *