श्रीकृष्ण जन्मभूमि: रिवीजन केस एडीजे कोर्ट में ट्रांसफर, रंजना अग्निहोत्री के मामले में पांच जनवरी को सुनवाई

जिला एवं सत्र न्यायालय मथुरा

जिला एवं सत्र न्यायालय मथुरा
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

मथुरा की अदालत में बृहस्पतिवार को श्रीकृष्ण जन्मभूमि और शाही ईदगाह मस्जिद विवाद को लेकर दाखिल पांच वादों पर सुनवाई हुई। इनमें अधिवक्ता महेंद्र प्रताप सिंह एवं वरिष्ठ अधिवक्ता राजेंद्र माहेश्वरी के केस स्थायित्व पर बहस के सिविल जज सीनियर डिवीजन के आदेश के खिलाफ रिवीजन केस को जिला जज ने सुनवाई के लिए एडीजे षष्ठम की अदालत में स्थानांतरित कर दिया है।

इस वाद में बृहस्पतिवार को सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड अदालत में हाजिर हुआ है। अधिवक्ता राजेन्द्र माहेश्वरी ने बताया कि अब इस केस में 20 दिसंबर को सुनवाई होगी। वहीं अधिवक्तागण के केस स्थानांतरण के प्रार्थना पत्र पर जिला जज राजीव भारती आदेश रिजर्व कर लिया है, जिसके शाम तक देने की उम्मीद है।

वक्फ बोर्ड को नोटिस 

सुप्रीम कोर्ट की अधिवक्ता रंजना अग्निहोत्री के मामले में अदालत ने पांच जनवरी की तारीख तय की है। वहीं अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष दिनेश शर्मा ने बताया कि उनके केस में सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड अदालत में हाजिर नहीं हुआ। महासभा के ही पदाधिकारी अनिल त्रिपाठी के वाद में भी विपक्ष को हाजिर होने को नोटिस दिया गया है। 

ठाकुर केशव देव मंदिर के सेवायत पवन शास्त्री के वाद में भी अदालत में नोटिस दिये जाने संबंधी प्रक्रिया पूरी की गई। उनके अधिवक्ता दीपक देवकीनंदन शर्मा ने बताया कि तीनों वाद में अदालत ने पांच जनवरी की सुनवाई की तारीख तय की है।

विस्तार

मथुरा की अदालत में बृहस्पतिवार को श्रीकृष्ण जन्मभूमि और शाही ईदगाह मस्जिद विवाद को लेकर दाखिल पांच वादों पर सुनवाई हुई। इनमें अधिवक्ता महेंद्र प्रताप सिंह एवं वरिष्ठ अधिवक्ता राजेंद्र माहेश्वरी के केस स्थायित्व पर बहस के सिविल जज सीनियर डिवीजन के आदेश के खिलाफ रिवीजन केस को जिला जज ने सुनवाई के लिए एडीजे षष्ठम की अदालत में स्थानांतरित कर दिया है।

इस वाद में बृहस्पतिवार को सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड अदालत में हाजिर हुआ है। अधिवक्ता राजेन्द्र माहेश्वरी ने बताया कि अब इस केस में 20 दिसंबर को सुनवाई होगी। वहीं अधिवक्तागण के केस स्थानांतरण के प्रार्थना पत्र पर जिला जज राजीव भारती आदेश रिजर्व कर लिया है, जिसके शाम तक देने की उम्मीद है।

वक्फ बोर्ड को नोटिस 

सुप्रीम कोर्ट की अधिवक्ता रंजना अग्निहोत्री के मामले में अदालत ने पांच जनवरी की तारीख तय की है। वहीं अखिल भारत हिन्दू महासभा के राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष दिनेश शर्मा ने बताया कि उनके केस में सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड अदालत में हाजिर नहीं हुआ। महासभा के ही पदाधिकारी अनिल त्रिपाठी के वाद में भी विपक्ष को हाजिर होने को नोटिस दिया गया है। 

ठाकुर केशव देव मंदिर के सेवायत पवन शास्त्री के वाद में भी अदालत में नोटिस दिये जाने संबंधी प्रक्रिया पूरी की गई। उनके अधिवक्ता दीपक देवकीनंदन शर्मा ने बताया कि तीनों वाद में अदालत ने पांच जनवरी की सुनवाई की तारीख तय की है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *