शराब तस्कर गैंगस्टर राजू ठेहट की हत्या के बाद एक्शन मोड में CM अशोक गहलोत, ये लिए बड़े फैसले

जयपुर: प्रदेश में शराब की अवैध रूप से बिक्री को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने काफी नाराजगी जताई है। पुलिस मुख्यालय में गृह विभाग की समीक्षा बैठक लेने के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि शराब बिक्री के लिए समय निर्धारित किया हुआ है। रात्रि 8:00 बजे बाद शराब की बिक्री पर पूर्ण प्रतिबंध है। इसके बावजूद भी शराब बिक्री की घटनाएं सामने आती रही है। अब यह निर्णय लिया गया है कि अगर रात 8:00 बजे बाद कहीं भी अवैध रूप से शराब बिक्री हुई तो इसके लिए स्थानीय थाने का इंचार्ज और डिप्टी एसपी जिम्मेदार होंगे। गहलोत ने कहा कि हर हाल में रात्रि 8:00 बजे तक शराब की दुकानें बंद हो जानी चाहिए। एसएचओ और डिप्टी एसपी के साथ एसपी को भी जिम्मेदार माना जाएगा।

माफियाओं के खिलाफ चलेगा विशेष अभियान

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि पिछले कुछ सालों से कई तरह के माफिया पनप गए हैं। जमीन माफिया, शराब माफिया, बजरी माफिया, इस तरह के माफियाओं की ओर से किये जाने वाले अपराधों को रोकने के लिए विशेष तौर से अभियान चलाए जाएंगे। गृह विभाग की बैठक में यह निर्णय लिया गया कि प्रदेश के सभी जिलों के एसपी को निर्देश दिए गए हैं कि वे माफियाओं के खिलाफ सघन अभियान चलाकर उन पर सख्त कार्रवाई करें।

NCRB के आंकड़ों में सच्चाई नहीं, राजस्थान को बदनाम ना करें

अशोक गहलोत ने कहा कि नेशनल क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो की पुस्तक में राजस्थान के आंकड़े बहुत ज्यादा दर्शाए गए हैं जबकि इस पुस्तक के पहले पन्ने पर लिखा हुआ है कि यह जरूरी नहीं कि यह आंकड़े सच है। ऐसे में अनावश्यक रूप से राजस्थान को बदनाम नहीं करना चाहिए। पत्रकारों को चाहिए कि वे अपराधों की वास्तविक स्थिति को पता करके ही खबर बनाएं। गहलोत ने कहा कि अपराधों के मामले में राजस्थान की स्थिति देश के अन्य राज्यों से बहुत बेहतर है।

शराब या सत्ता! गैंगवार की क्या वजह, राजू ठेहट की हत्या के बाद उठे सवाल
यहां पुलिस की ओर से त्वरित कार्रवाई की जाती है। भले ही गैंगवार की घटनाएं हो, लूट, चोरी और डकैती की वारदात हो। हर तरह के अपराधों में पुलिस ने तत्परता से कार्रवाई की है। गहलोत ने कहा कि अनुसूचित जाति और जनजाति पर होने वाले अत्याचारों की जांच में पहले 231 दिन लगते थे जबकि अब महज 79 दिन लगते हैं। महिला अत्याचारों के खिलाफ होने वाली जांच में भी तेजी आई है। 168 दिनों में होने वाली जांच अब 69 दिन में पूरी होने लगी है। यह पुलिस की अच्छी कार्यप्रणाली को दर्शाता है।

राजू ठेहट के बाद पुलिस प्रशासन अलर्ट

गौरतलब है कि गैंगस्टर राजू ठेहट की हत्या के बाद पुलिस प्रशासन अलर्ट मोड़ में हैं। राजू ठेहट का भी शराब की तस्करी में बड़ा नाम रहा है। अवैध शराब तस्करी को लेकर गैंगवार की घटनाओं का खुलासा भी लगातार हो रहा है। लिहाजा सीएम गहलोत की ओर से की गई गृह विभाग की समीक्षा बैठक में आज शराब को लेकर जो फैसले लिए गए हैं, उसे इसी से जोड़कर देखा जा रहा है।(रिपोर्ट – रामस्वरूप लामरोड़, जयपुर)

Gangster Raju Thehat Murder: राजस्थान में एक बार फिर गैंगवार, गैंगस्टर राजू ठेहट का दिनदहाड़े मर्डर

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *