वृंदावन में ‘कार्डिओ थोरासिक वैस्कुलर सर्जरी यूनिट का उद्घाटन: रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम में प्रारम्भ हुई बाई पास सर्जरी की सुविधा,सांसद हेमा मालिनी ने किया उद्घाटन

मथुराएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

उद्घाटन के अवसर पर अस्पताल का भ्रमण करती सांसद हेमा मालिनी

मथुरा के वृंदावन में स्थित रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम अस्पताल में कार्डिओ थोरासिक वैस्कुलर सर्जरी यूनिट का उद्घाटन सांसद हेमा मालिनी ने किया। इस उपलक्ष्य में रामकृष्ण मिशन, दिल्ली के सचिव स्वामी शांतात्मानंद महाराज, मानव सेवा संस्थान, मुंबई के मैनेजिंग ट्रस्टी ललित ग्रोवर, रेल विकास निगम लिमिटेड, नई दिल्ली के निदेशक (संचालन) राजेश प्रसाद, कार्डिओ थोरासिक एवं वैस्कुलर सर्जन डॉ बीजू शिवम् पिल्लई उपस्थित रहे.

रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम अस्पताल वृंदावन पहुंची सांसद हेमा मालिनी ने सर्वप्रथम रामकृष्ण देव, सारदा देवी और स्वामी विवेकानंद महाराज को अर्घ्य प्रदान किया। इसके बाद कार्डिओ थोरासिक वैस्कुलर सर्जरी यूनिट का फीता काटकर तथा पूजन-आरती के द्वारा नव निर्मित कार्डिओ थोरासिक वैस्कुलर सर्जरी यूनिट का उद्घाटन किया। उद्घाटन के दौरान रामकृष्ण मिशन के साधु और ब्रह्मचारियों ने वैदिक मंत्रोच्चारण के माध्यम से आध्यात्मिक वातावरण बना दिया। इस दौरान हेमा मालिनी ने ‘कार्डिओ थोरासिक वैस्कुलर सर्जरी यूनिट’ का अवलोकन किया।

दीप प्रज्वलन से हुआ सभा का शुभारंभ

उद्घाटन के पश्चात एक सभा का आयोजन किया गया जिसका शुभारंभ दीप प्रज्वलन द्वारा हुआ। रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम, वृंदावन के सचिव स्वामी सुप्रकाशानंद महाराज ने स्वागत भाषण में कहा कि रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम अस्पताल आधुनिक सुविधाओं से लैस 300 बिस्तरों वाला मल्टी-स्पेशियलिटी हॉस्पिटल है। पिछले पांच वर्षों से प्रबंधन हृदय-चिकित्सा की सेवा दे रहे हैं पर कुछ समय पूर्व कैथ लैब के प्रारम्भ होते ही बाई पास सर्जरी की आवश्यकता होने लगी। वर्तमान ‘कार्डिओ थोरासिक वैस्कुलर सर्जरी यूनिट’ इस आवश्यकता की पूर्ति करेगा।

सभा का दीप प्रज्वलन कर शुभारंभ करती सांसद हेमा मालिनी

सभा का दीप प्रज्वलन कर शुभारंभ करती सांसद हेमा मालिनी

बाई पास सर्जरी की दी गई जानकारी

डॉ बीजू शिवम् पिल्लई ने ‘कार्डिओ थोरासिक वैस्कुलर सर्जरी यूनिट’ के सन्दर्भ में बताते हुए कहा कि कार्डियोथोरेसिक सर्जरी वक्ष गुहा के भीतर स्थित अंगों के सर्जिकल उपचार से संबंधित चिकित्सा विशेषता है। यह कार्डियोवस्कुलर सर्जरी और पल्मोनरी सर्जरी से जुड़ा है। इसका उपयोग हृदय और फेफड़ों की बीमारियों के साथ-साथ श्वासनली और अन्नप्रणाली की दर्दनाक चोटों के निदान और उपचार के लिए किया जाता है। एक कार्डियोथोरेसिक सर्जन हृदय, फेफड़े और अन्य वक्ष अंगों के संचालन में विशिष्ट होता है। विभिन्न प्रकार की सर्जरी हैं जो कार्डियोथोरेसिक यूनिट से हम कर सकते हैं जैसे रक्त वाहिका संधान, स्टेंट प्लेसमेंट, पृथक करना, पेस मेकर, खुली ह्रदय की शल्य चिकित्सा, बाइपास तरीके से कोरोनरी आर्टरी का बदलाव आदि।

कार्डिओ थोरासिक वैस्कुलर सर्जरी यूनिट का फीता काटकर उद्घाटन करते हुए सांसद हेमा मालिनी

कार्डिओ थोरासिक वैस्कुलर सर्जरी यूनिट का फीता काटकर उद्घाटन करते हुए सांसद हेमा मालिनी

नर सेवा नारायण सेवा के रूप में कार्य कर रहा रामकृष्ण मिशन अस्पताल

रामकृष्ण मिशन दिल्ली के सचिव स्वामी शांतात्मानंद महाराज ने कहा कि स्वामी विवेकानंद महाराज ने रामकृष्ण मिशन का ध्येय वाक्य ‘आत्मनो मोक्षार्थं जगत हिताय च’ को बनाया अर्थात स्वयं के मोक्ष के लिए तथा जगत के कल्याण के लिए, यह ऋग्वेद का एक मंत्र है। ऋग्वेद का यह मंत्र मानव जीवन के एक ही साथ दो उद्देश्य निर्धारित करता है। पहला अपना मोक्ष तथा दूसरा संसार के कल्याण के लिए कार्य करना। नर को नारायण के रूप में सेवा करना इसका सूत्र है जिसे रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम, वृंदावन कार्यान्वित कर रहा है।

कार्यक्रम में मौजूद लोग

कार्यक्रम में मौजूद लोग

114 वर्षों से संचालित किया जा रहा अस्पताल

सभा में सांसद हेमा मालिनी ने उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि कार्डिओ थोरासिक वैस्कुलर सर्जरी यूनिट का उद्घाटन करते हुए अत्यंत प्रसन्नता हो रही है। पिछले कुछ वर्षों में सेवाश्रम ने काफी प्रगति की है इसके लिए सेवाश्रम की पूरी टीम को बधाई देती हूँ। ब्रजवासियों के लिए अब सारी चिकित्सा सुविधाएं रामकृष्ण मिशन अस्पताल वृंदावन में उपलब्ध हो जाएगी। रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम वृंदावन अस्पताल के प्रभारी स्वामी काली कृष्णानन्द महाराज ने धन्यवाद ज्ञापन में अस्पताल का संक्षिप्त विवरण देते हुए कहा कि रामकृष्ण मिशन सेवाश्रम पिछले 114 वर्षों से पवित्र ब्रज धाम और मथुरा के आसपास के जिलों के अभाव ग्रस्त रोगियों को चिकित्सा सेवाएं प्रदान कर रहा है। अस्पताल अपने सभी रोगियों को उनकी जाति, पंथ या समाज के किसी भी वर्ग के लोगों से भेदभाव किये बिना, निःशुल्क या कम मूल्यों पर गुणवत्तापूर्ण देखभाल प्रदान करता आ रहा है। यह 300 बिस्तरों वाला बहु-विशिष्ट सुविधाओं से सुसज्जित धर्मार्थ अस्पताल कैंसर चिकित्सा, शल्य चिकित्सा, हृदय चिकित्सा, मूत्र रोग चिकित्सा, गुर्दा रोग चिकित्सा, स्नायु रोग चिकित्सा जैसी विशेष सुविधाओं के अलावा अन्य सभी साधारण सेवाएं प्रदान करता है।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *