लखनऊ में नगर निगम कार्यालय से कूदा व्यापारी: टैक्स इंस्पेक्टर पर लगाया प्रताड़ित करने का आरोप, लोकबंधु अस्पताल में भर्ती

लखनऊ44 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

व्यापारी के छलांग लगाते ही नगर निगम के कई कर्मचारी वहां से भाग खड़े हुए।

लखनऊ नगर निगम हाउस टैक्स वसूलने वाली टीम पर प्रताड़ना का आरोप लगा एक कारोबारी छत से कूद गया। नगर निगम जोन पांच कार्यालय से ही कर्मचारी छलांग लगा दी है। उसका आरोप था कि टैक्स वसूली के नाम पर कारोबारियों को प्रताड़ित किया जा रहा है।

व्यापारी के छलांग लगाते ही नगर निगम के कई कर्मचारी वहां से भाग खड़े हुए। इस मामले में व्यापारी को गंभीर चोट आई है। उसको लोक बंधु अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हालांकि इस मामले में नगर निगम ने किसी भी तरह के उत्पीड़न से इंकार किया है।

कानपुर रोड पर संतराम विश्वकर्मा का एक खिलौने का शोरूम है। शोरूम का एक हिस्सा उन्होंने किराए पर दिया है। उसमें स्वयंवर साड़ी का शोरूम चलता है। कर निरीक्षक मोहम्मद आजाद की अगुवाई में टीम यहां कर वसूली को पहुंची। भाई संतदीन के मुताबिक संतराम ने अफसरों से कहा कि वह तीन लाख रुपए कर पहले ही दे चुके हैं। अब 10.44 लाख रुपए टैक्स और कहां से आ गया।

जोनल कार्यालय पहुंचा कारोबारी

इस बात को लेकर विवाद शुरू हो गया। स्थिति यह थी कि बहस झगड़े में तब्दील हो गई। नाराज व्यापारी जोनल कार्यालय पहुंच गया। वहां भी उसकी किसी बात को नहीं सुना गया। बताया जा रहा है कि मौके से कुछ कर्मचारियों ने उसको धक्का मार के बाहर कर दिया। इससे आहत होकर संतराम दफ्तर की पहली मंजिल से कूद गया।

यह देखकर निगम कार्यालय में अफरातफरी मच गई। टैक्स इंस्पेक्टर और बाकी कर्मचारी वहां से भाग खड़े हुए। कुछ ही देर में कार्यालय खाली हो गया। आरोप है कि कारोबारी से बदसलूकी करने वाले इंस्पेक्टर और अधिकारी मान मनौव्वल में जुट गए।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *