राष्ट्रपति मैक्रों ने कहा मुझे भरोसा है कि प्रधानमंत्री मोदी शांतिपूर्ण, टिकाऊ दुनिया के लिए हम सबको साथ लाएंगे

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों ने जी-20 की अध्यक्षता संभाल रहे भारत के प्रति भरोसा जताते हुए कहा कि उन्हें विश्वास है कि उनके ‘मित्र’ और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक शांतिपूर्ण तथा टिकाऊ दुनिया बनाने के लिए सभी को साथ लाएंगे। मैक्रों से पहले अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने शुक्रवार को भारत को अमेरिका का मजबूत साझेदार बताया था

फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों ने जी-20 की अध्यक्षता संभाल रहे भारत के प्रति भरोसा जताते हुए कहा कि उन्हें विश्वास है कि उनके ‘मित्र’ और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक शांतिपूर्ण तथा टिकाऊ दुनिया बनाने के लिए सभी को साथ लाएंगे।
मैक्रों से पहले अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने शुक्रवार को भारत को अमेरिका का मजबूत साझेदार बताया था और कहा था कि वह भारत की जी-20 अध्यक्षता के दौरान अपने ‘दोस्त’ प्रधानमंत्री मोदी का समर्थन करने के लिए उत्सुक हैं।

भारत ने बृहस्पतिवार को औपचारिक रूप से जी-20 की अध्यक्षता ग्रहण की।
मैक्रों ने रविवार को एक ट्वीट में अपनी और प्रधानमंत्री मोदी की तस्वीर साझा करते हुए ‘‘एक पृथ्वी, एक परिवार, एक भविष्य’’ की थीम का समर्थन किया, जिसे भारत ने जी-20 की अध्यक्षता के दौरान काम करने के लिए चुना है।
फ्रांस के राष्ट्रपति ने ट्वीट किया, ‘‘एक पृथ्वी, एक परिवार, एक भविष्य। भारत ने जी-20 की अध्यक्षता संभाली है। मुझे अपने मित्र नरेन्द्र मोदी पर भरोसा है कि वह हमें शांति और अधिक टिकाऊ दुनिया बनाने के लिए साथ लाएंगे।’’

प्रधानमंत्री मोदी ने बृहस्पतिवार को कहा कि भारत ‘‘एक पृथ्वी, एक परिवार, एक भविष्य’’ के विषय से प्रेरित होकर एकता को बढ़ावा देने के लिए काम करेगा और आतंकवाद, जलवायु परिवर्तन, महामारी को सबसे बड़ी चुनौतियों के रूप में सूचीबद्ध किया, जिनसे साथ मिलकर मुकाबला किया जा सकता है।
मोदी ने एक लेख में कहा, ‘‘ भारत की जी-20 प्राथमिकताओं को न केवल हमारे जी-20 भागीदारों, बल्कि दुनिया के दक्षिणी हिस्से में हमारे सहयोगियों के परामर्श से आकार दिया जाएगा, जिनकी आवाज अक्सर अनसुनी कर दी जाती है।’’

इसे भी पढ़ें: इमरान खान का पूर्व सेना प्रमुख जनरल पर आरोप, कहा बाजवा ने उनकी सरकार के खिलाफ रचा साजिश

यह लेख कई अखबारों में छपा और उनकी वेबसाइट पर भी पोस्ट किया गया।
उन्होंने कहा कि भारत का जी-20 एजेंडा समावेशी, महत्वाकांक्षी, कार्योन्मुखी और निर्णायक होगा। राष्ट्र/सरकार के प्रमुखों के स्तर पर जी-20 नेताओं का अगला शिखर सम्मेलन नौ और 10 सितंबर को नयी दिल्ली में आयोजित होगा।

मालदीव के राष्ट्रपति इब्राहिम मोहम्मद सोलिह ने भी जी20 की अध्यक्षता ग्रहण करने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा भारत की जनता को बधाई दी थी।
उन्होंने ट्वीट किया था, ‘‘मुझे पूरा विश्वास है कि भारतीय नेतृत्व वैश्विक मामलों में ज्वंलत मुद्दों के दीर्घकालिक समाधान खोजने तथा आम-सहमति बनाने के लिए कूटनीति एवं संवाद को प्रोत्साहित करेगा।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *