राजस्थान वनरक्षक भर्ती: पहले दिन दूसरी पारी का एग्जाम कैंसिल, 5 लाख में खरीद 6 लाख में बेचा था पेपर

जयपुर: राजस्थान में प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी करने वाले बेरोजगारों के साथ हर बार धोखा होता है। पूर्व में कई भर्ती परीक्षाओं के पेपर आउट होने के बाद अब एक और प्रतियोगिता परीक्षा का पेपर आउट हो गया है। वनरक्षक भर्ती परीक्षा का पेपर आउट होने पर राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड ने 12 नवंबर शनिवार को दूसरी पारी में हुई परीक्षा को रद्द कर दिया है। बोर्ड के चेयरमैन हरिप्रसाद शर्मा ने इस संबंध में आदेश जारी करके बताया कि परीक्षार्थियों में विश्वसनीयता बनाने के लिए पेपर को रद्द कर दिया गया है। बोर्ड अब जल्द ही परीक्षा की नई तिथि घोषित करेगा।

एसओजी की रिपोर्ट के बाद बोर्ड ने रद्द की परीक्षा
राजस्थान कर्मचारी चयन बोर्ड के चेयरमैन हरिप्रसाद शर्मा ने बताया कि राजसमंद पुलिस और एसओजी की ओर से पेपर लीक संबंधित दो मुकदमें दर्ज किए गए हैं। पेपर लीक होने की सूचना मिलने के बाद पुलिस की स्पेशल विंग इस मामले की जांच में जुटी है। परीक्षार्थियों में एग्जाम की विश्वसनीयता बरकरार रखने के लिए 12 नवंबर शनिवार को दूसरी पारी (दोपहर 2:30 बजे से शाम 4:30 बजे तक) की परीक्षा को निरस्त कर दिया गया है। जल्द ही परीक्षा की नई तिथि घोषित की जाएगी।

सरकारी कर्मचारी सहित दो आरोपी हुए गिरफ्तार
राजसमंद पुलिस ने एक सरकारी कर्मचारी सहित दो आरोपियों को पेपर लीक मामले में गिरफ्तार किया है। एसपी सुधीर चौधरी के मुताबिक, 12 नवंबर शनिवार को द्वितीय पारी के प्रश्न पत्र एग्जाम शुरू होने से पहले ही सोशल मीडिया पर आ गया था। साथ ही उसकी आंसर की भी वायरल हो गई थी। इस संबंध में सूचना मिलने पर पुलिस तुरंत एक्टिव हुई और दीपक शर्मा नामक युवक को गिरफ्तार किया। पूछताछ में दीपक ने बताया कि उसे वॉट्सएप के जरिए लालसोट निवासी हेमराज मीणा ने पेपर और आंसर की उपलब्ध कराई थी। इसके बाद पुलिस ने हेमराज को गिरफ्तार करके पूछताछ की तो उसने दीपक शर्मा को पेपर भेजना स्वीकार किया था। एसपी के मुताबिक, पूछताछ में पता कि पेपर के उत्तर के लिए 5 लाख रुपये में डील हुई थी। पेपर पांच लाख में खरीदा और फिर 6 लाख रुपये में बेच दिया था।

दो गिरफ्तार, एक दर्जन से ज्यादा संदिग्ध पुलिस हिरासत में
गिरफ्तार किया गया आरोपी दीपक शर्मा बिजली विभाग में तकनीकी सहायक की नौकरी करता है। वह रेलमगरा में तैनात है। जिस आरोपी हेमराज मीणा ने दीपक शर्मा को पेपर और आंसर की उपलब्ध कराई, वह लालसोट इलाके के अजयपुरा गांव का रहने वाला है। हेमराज जयपुर में किराए के कमरे में रहकर प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी करता है। हेमराज ने भी वनरक्षक भर्ती का एग्जाम दिया था। पुलिस ने उसे एग्जाम देने के कुछ ही देर बाद ही मोबाइल लोकेशन के आधार पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया। दीपक और हेमराज के संपर्क में रहने वाले एक दर्जन से ज्यादा अभ्यर्थियों को पुलिस ने हिरासत में लिया है। इस मामले की जांच स्पेशल ऑपरेशल ग्रुप की ओर से भी की जा रही है। (रिपोर्ट – रामस्वरूप लामरोड़, जयपुर)

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.