राजस्थान का एक मात्र मंदिर, जहां कृष्ण भगवान के साथ विराजमान हैं पत्नी रुक्मणी और राधा, जानें पूरी डिटेल

ललितेश कुशवाहा/भरतपुर. राजस्थान के एक ऐसे मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं, जो अपने आप में अनोखा है. प्रत्येक जगह ज्यादातर भगवान श्री कृष्ण के साथ राधा की प्रतिमाएं विराजमान रहती हैं, लेकिन भरतपुर (Bharatpur) जिले के सेवर स्थित बृजेंद्र बिहारी ( Brijendra Bihari) मंदिर में ऐसा नहीं है. यहां भगवान श्री कृष्ण ( lord shree krishna )के साथ उनकी पत्नी रुक्मणी(Rukmani) और राधा(Radha) जी दोनो एक साथ विराजमान हैं.

श्रद्धालुओं का दावा है कि देश में कुछ ही ऐसे मंदिर हैं जहां एक साथ तीनों की प्रतिमाएं हो. लेकिन राजस्थान में एक मात्र मंदिर में इसकी गिनती की जाती है.यह मंदिर आस्था का केंद्र होने के कारण दर्शन के लिए दूर दराज से श्रद्धालु आते है और अपनी मनोकामना पूरी होने की मन्नते मांगते हैं.इस मंदिर का निर्माण सवा लाख साल पहले भरतपुर के राज परिवार द्वारा करवाया गया था.

रुकमणी और राधा के बीच में विराजमान है कृष्ण भगवान
इस मंदिर के गर्भगृह में भगवान कृष्ण बीच में है उनके अगल बगल में राधा और रुकमणी विराजमान है. देश में अधिकतर मंदिरों में भगवान कृष्ण के साथ राधा या रुकमणी में से एक विराजमान मिलेगी लेकिन इस मंदिर में ऐसा नहीं है .इस मंदिर में विराजमान श्री कृष्ण की काले(black) व राधा और रुकमणी की प्रतिमाएं संगमरमर(marble) के पत्थर से निर्मित है.जो देखने में बेहद आकर्षित लगती है.वही मंदिर बंसी पहाड़पुर (Bansi Paharpur)के बादामी रंग के बलुआ पत्थर से बना है.इस मंदिर की मूर्तिकला और वास्तुकला अद्वितीय है. मंदिर ऊपर से नीचे तक नक्काशीदार, फूलों के पैटर्न से सजा हुआ है.

131 साल पहले हुआ था मंदिर का निर्माण
इस मंदिर का निर्माण महाराजा जसवंत सिंह(Maharaja Jaswant Singh) द्वारा 131 साल पहले करवाया था.वही अपने पौत्र बृजेंद्र सिंह के जन्म के उपलक्ष्य में कामा के गुसाई देवकी नंदन आचार्य (Devaki Nandan Acharya) को भेंट कर दिया. उसी समय से मंदिर की देखभाल से लेकर पूजा पाठ का कार्य गुसाइयो द्वारा किया जाता है. उस वक्त मंदिर के महंत को 1000 रूपये प्रतिमाह वेतन मिलता था.आज भी इस मंदिर की जिम्मेदारी कामा के गुसाईयो पर है मंदिर की देखरेख से लेकर प्रत्येक कार्य गुसाइयों द्वारा किया जाता है.

Tags: Bharatpur News, Rajasthan news

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.