मैनपुरी उपचुनाव निर्वाचन आयोग पहुंची बीजेपी और समाजवादी पार्टी, एक दूसरे के खिलाफ की शिकायत

मैनपुरी की लोकसभा सीट पर मतदान पांच दिसंबर को होना है। सुबह सात बजे से मतदान की शुरुआथ होगी और परिणाम गुजरात व हिमाचल प्रदेश चुनाव के साथ आठ दिसंबर को ही आएंगे। इन सीटों पर चुनाव कराने के लिए तैयारियां पूरी कर ली गई है।

उत्तर प्रदेश के मैनपुरी लोकसभा सीट और रामपुर विधानसभा सीट पर पांच दिसंबर को मतदान होना है। मैनपुरी लोकसभा सीट हाल ही में समाजवादी पार्टी के नेता मुलायम सिंह यादव के निधन के बाद खाली हुई है। इस सीट पर भाजपा और समाजवादी पार्टी में कड़ी टक्कर देखने को मिल रही है। वहीं सोमवार को होने वाले मतदान से पूर्व सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और समाजवादी पार्टी (सपा) ने एक दूसरे पर आरोप लगाते हुए निर्वाचन आयोग से कार्रवाई करने की शनिवार को मांग की। 

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव में समाजवादी पार्टी के ‘‘अराजक तत्वों’’ पर रोक लगाने के लिए निर्वाचन आयोग को पत्र लिखा है। वहीं, समाजवादी पार्टी ने मुख्‍य निर्वाचन आयुक्‍त को संबोधित ज्ञापन में अनुरोध किया है कि भाजपा द्वारा कथित रूप से ‘‘बनवाये जा रहे फर्जी आधार कार्ड के आधार पर रामपुर विधानसभा क्षेत्र में मतदान के दिन फर्जी मतदान करने की साजिश को रोकने के लिए’’ ठोस कार्रवाई की जाये। भाजपा मुख्‍यालय से शनिवार को जारी एक बयान के अनुसार, पार्टी के प्रदेश महामंत्री और सहकारिता राज्‍य मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) जे पी एस राठौर ने मुख्य निर्वाचन अधिकारी को पत्र लिखकर मैनपुरी लोकसभा क्षेत्र में अराजकतत्वों के नामों की सूची सौंपते हुए कड़ी कार्रवाई की मांग की है। 

पत्र में भाजपा ने आयोग को अति संवेदनशील मतदान केंद्रों की सूची सौंपी है और इन केंद्रों पर तत्काल कड़ी सुरक्षा सुनिश्चित करने एवं अराजकतत्वों को मतदान केंद्रों पर कब्जा करने से रोकने की मांग की है। भाजपा ने अपने पत्र में कहा है कि समाजवादी पार्टी द्वारा मैनपुरी लोकसभा उपचुनाव में चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन किया गया है। पार्टी ने कहा कि मतदान से पूर्व मैनपुरी लोकसभा क्षेत्र में समाजवादी पार्टी के अराजकतत्वों द्वारा मतदाताओं को डराया- धमकाया जा रहा है। 

पूर्व में भी इसके खिलाफ पार्टी ने 30 नवम्बर को स्थानीय प्रशासन एवं निर्वाचन आयोग के पास शिकायत दर्ज कराई थी इस बीच, समाजवादी पार्टी मुख्यालय से जारी बयान के अनुसार,सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर पार्टी के राष्ट्रीय सचिव एवं पूर्व कैबिनेट मंत्री राजेन्द्र चौधरी ने मुख्य निर्वाचन आयुक्त, नयी दिल्ली को संबोधित ज्ञापन राज्‍य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी को देकर मांग की है कि रामपुर विधान सभा उप निर्वाचन में पुलिस अधीक्षक अशोक शुक्ला, पुलिस क्षेत्राधिकारी (नगर) अनुज पहलवान, पुलिस कोतवाली प्रभारी गजेन्द्र त्यागी व पुलिस थानाध्यक्ष सुरेन्द्र पचौरी को तत्काल प्रभाव से जनपद रामपुर से बाहर स्थानान्तरित कर दिया जाए। 

बयान के अनुसार, सपा ने मांग की है कि मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में शत-प्रतिशत मतदाता पर्ची बंटवाई जाएं और समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं पर हो रहे ‘‘उत्पीड़न’’ पर रोक लगाई जाये। सपा ने कहा, ‘‘भाजपा द्वारा बनवाये जा रहे फर्जी आधार कार्ड के आधार पर मतदान के दिन फर्जी वोट पड़वाने की साजिश को रोकने के लिए ठोस कार्रवाई की जाये एवं सैनिक, अर्धसैनिक बलों की निगरानी में चुनाव कराया जाए।’’ उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश के मैनपुरी संसदीय क्षेत्र और रामपुर एवं खतौली विधानसभा क्षेत्रों में उपचुनाव हो रहा है, जिसके लिए पांच दिसंबर को मतदान और आठ दिसंबर को मतगणना होगी।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *