मेट्रो के लिए खोदी जा रही थी सुरंग, 10 घरों में आई दरार, लोगों को होटल में किया गया शिफ्ट

Kolkata

oi-Rahul Goyal

|

Google Oneindia News


Kolkata
Metro:

कोलकाता
के
बऊबाजार
इलाके
में
ईस्ट-वेस्ट
मेट्रो
के
भूमिगत
सुरंग
निर्माण
कार्य
के
दौरान
10
से
ज्यादा
घरों
में
दरारें
पड़
गई
हैं।
ये
दरारें
शुक्रवार
सुबह
करीब
07
बजे
देखी
गई।
घरों
में
दरारें
देखे
जाने
के
बाद
लोग
अपने-अपने
घरों
से
बाहर

गए
और
सड़क
किनारे
बैठ
गए
है।
क्योंकि,
उन्हें
घर
गिरने
का
डर
सताने
लगा
था।
कोलकाता
मेट्रो
रेल
निगम
(केएमआरसी)
के
महाप्रबंधक
ने
बताया
कि
ऐसी
समस्या
सामने
आने
के
बाद
140
से
अधिक
लोगों
को
उनके
घर
से
निकाल
कर
पास
के
होटलों
में
शिफ्ट
किया
जा
चुका
है।

Kolkata Cracks in buildings of Baubazar during metro construction

मीडिया
रिपोर्ट्स
के
मुताबिक,
बऊबाजार
के
मेट्रो
सुरंग
में
काम
के
दौरान
पानी
का
रिसाव
होने
के
कारण
मदन
दत्ता
लेन
के
कई
घरों
में
शुक्रवार
सुबह
बड़ी
दरारें
देखी
गई।
करीब
दर्जन
भर
घरों
में
दरार
देखे
जाने
के
बाद
इलाके
के
लोग
डर
से
घरों
से
निकल
गए।
इस
घटना
से
पूरे
इलाके
में
दहशत
का
माहौल
है।
वहीं,
घरों
में
दरारें
आने
की
सूचना
मिलते
ही
निर्माण
एजेंसी
कोलकाता
मेट्रो
रेल
कारपोरेशन
लिमिटेड
(केएमआरसीएल)
समेत
कोलकाता
नगर
निगम

पुलिस
के
अधिकारी
मौके
पर
पहुंच
गए।

घर
टूटने
की
घटना
को
लेकर
लोग
दहशत
में
हैं
और
अपने-अपने
घरों
को
छोड़कर
सड़क
पर

गए।
इस
दौरान
केएमआरसी
के
महाप्रबंधक
ने
बताया
कि
अभी
तक
करीब
140
लोगों
को
पास
के
होटलों
में
शिफ्ट
किया
जा
चुका
है।
साथ
ही,
केएमआरसीएल
ने
100
वर्ग
फीट
तक
के
क्षतिग्रस्त
के
लिए
एक
लाख
रुपये
और
100
वर्ग
फीट
से
अधिक
क्षतिग्रस्त
के
लिए
पांच
लाख
रुपये
मुआवजा
देने
का
भी
ऐलान
किया
है।
वहीं,
पानी
के
रिसाव
को
रोकने
के
प्रयास
जारी
हैं।

ये भी पढ़ें:- Hijab Ban पर बोले Asaduddin Owaisi, 'एक दिन इस देश की पीएम हिजाब पहनने वाली बने'ये
भी
पढ़ें:-
Hijab
Ban
पर
बोले
Asaduddin
Owaisi,
‘एक
दिन
इस
देश
की
पीएम
हिजाब
पहनने
वाली
बने’

घरों
में
दरारें
पड़ने
की
जानकारी
मिलते
ही
स्थानीय
तृणमूल
विधायक
नयना
बंद्योपाध्याय,
बीजेपी
के
पार्षद
सजल
घोष
और
लेफ्ट
के
वरिष्ठ
नेता
मोहम्मद
सलिम
घटनास्थल
पर
पहुंचे
और
पीड़ितों
से
बातचीत
कर
हर
सहयोग
का
आश्वासन
दिया।
इस
दौरान
तृणमूल
विधायक
नयना
बंधोपाध्याय
ने
कहा,
‘अब
तक
यह
काम
बंद
था,
लेकिन
फिर
जैसे
ही
मेट्रो
ने
काम
शुरू
हुआ
वैसे
ही
दरारें
पड़ने
शुरू
हो
गई।
हमें
अब
तक
पता
नहीं
कि
भीतर
कब
तक
मिटटी
स्थिर
होगी।
हमारी
अपील
है
कि
मेट्रो
प्रबंधन
कुछ
बताए
कि
क्या
स्थिति
है।’

English summary

Kolkata Cracks in buildings of Baubazar during metro construction

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.