मुंबई से प्यार का आगाज, दिल्ली में मौत से मिला अंजाम, जानें मोहब्बत की ये कहानी जो बन गई खौफनाक

लव जेहाद का मुद्दा एक बार फिर से उठने लगा है। इस बार दिल्ली में ये मामला सामने आया है। हालांकि मौत की जानकारी घटना को अंजाम देने के पांच महीने बाद खुली है। इस हत्याकांड का आरोपी आफताब अमीन पूनावाला है, जिसने अपनी प्रेमिका श्रद्धा की हत्या पांच महीने पहले की थी।

इंसानियात को शर्मशार कर देने वाली घटना की जानकारी राजधानी दिल्ली में देखने को मिली है। यहां लव-जेहाद के नाम पर मुस्लिम युवक ने एक हिंदू लड़की की निर्मम हत्या कर दी। आरोपी ने घटना को पांच महीने पहले अंजाम दिया था, जिसका खुलासा अब हुआ है। पुलिस ने आरोपी आफताब अमीन पूनावाला को गिरफ्तार कर लिया है।

जानकारी के मुताबिक ये मामला दक्षिण दिल्ली का है जहां आफताब अमीन पूनावाला ने अपनी प्रेमिका श्रद्धा की हत्या पांच महीने पहले की थी। हत्या के बाद उसने महिला के शरीर के 35 टुकड़े किए और उन्हें दिल्ली में अलग अलग जगहों पर फेंक दिया। गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने संबंधित इलाकों में जांच पड़ताल शुरू कर दी है, जहां आरोपी ने महिला की लाश के टुकड़ों को फेंका था। बता दें कि मृतक महिला महाराष्ट्र के पालघर की रहने वाली थी।

पिता ने दर्ज कराई थी शिकायत
बता दें कि महिका के पिता विकास मदान वाकर ने आठ नवंबर को अपनी बेटी के अपहरण की एफआईआर दिल्ली के महरौली थाने में दर्ज कराई थी। एफआईआर मिलने के बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू की और आरोपी के घर पहुंची। यहां पूछताछ करने के बाद पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार किया था। पुलिस की पूछताछ में आरोपी ने खुलासा किया कि 18 मई को आफताब ने श्रद्धा को मारा था। इसके बाद उसने शव के टुकड़े किए और उन्हें दिल्ली में अलग अलग इलाकों में फेंक दिया। 

शादी का बनाया था दबाव
बता दें कि श्रद्धा ने आफताब पर शादी का दबाव बनाया था। दोनों के बीच में शादी को लेकर काफी झगड़े हुआ करते थे। शादी के दबाव से परेशान होकर ही आफताब ने श्रद्धा को मौत के घाट उतार दिया। पूछताछ में उसने खुलासा किया कि शादी की बात कहने पर ही आफताब श्रद्धा को दिल्ली लेकर आया था। दोनों छतरपुर में किराए के मकान में रहते थे। बीते 18 मई को भी दोनों के बीच झगड़ा हुआ था, जिसके बाद आफताब ने श्रद्धा का गला दबाकर हत्या कर दी।

बता दें कि आफताब पुलिस से बचने के लिए भी पूरा तैयार था। आफताब को विश्वास था कि अलग अलग इलाकों में शव को फेंकने के कारण पुलिस को श्रद्धा की मौत की जानकारी नहीं मिलेगी। ऐसे वो श्रद्धा की हत्या के आरोप से बचकर निकल जाएगा। हालांकि ऐसा नहीं हो सका और दिल्ली पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.