महोली में झोलाछाप के इलाज से प्रसूता की मौत: 25 हजार लेकर किया था ऑपरेशन, आक्रोशित परिजनों ने जाम किया चौराहा, डॉक्टर फरार

महोली7 घंटे पहले

सियासी रसूख और स्वास्थ्य महकमे के संरक्षण में झोलाछाप अवैध अस्पतालों में बैठकर लोगों की जिंदगी से खिलवाड़ कर रहे हैं। ताजा मामला तहसील क्षेत्र के पिसावां गांव का है। यहां एक डॉक्टर ने प्रसव के लिए महिला से 25 हजार रुपए लिए लेकिन प्रसव के दौरान हुई लापरवाही से प्रसूता की मौत हो गई।

आक्रोशित परिजनों ने थाने के बाहर जमकर हंगामा काटा। पुलिस ने शव का पंचनामा कर पीएम के लिए भेजा। पुलिस द्वारा दोषी डॉक्टर के विरुद्ध मुकदमा न लिखे जाने से नाराज परिजनों ने पीएम हाउस से लौटने के बाद थाना के बाहर चौराहे पर जाम लगा दिया।

डॉक्टर पूनम शाही की डिग्री पर संदेह

पिसावां थाना क्षेत्र के ढ़खिया खुर्द गांव निवासी सूरज पुत्र विशंभर ने बताया कि वह अपनी पत्नी सीमा (22) को प्रसव पीड़ा होने पर शुक्रवार की शाम पिसावां कस्बा स्थित डॉ. पूनम शाही के अस्पताल में लाया था। प्रसूता को देखने के बाद पूनम शाही ऑपरेशन की बात कही और 25000 रुपए जमा करा लिए। ऑपरेशन के दौरान सीमा की मौत हो गई। सीमा की मौत की बात पूनम शाही उसके पति से छुपाती रही। सीमा के शव को लेकर वह अपने दूसरे अस्पताल में पहुंचीं फिर उसकी हालत गंभीर बताकर अपनी ही कार से उसे लखनऊ ले जाने का प्रयास करने लगीं।

पत्नी का शव थाने लेकर पहुंचा सूरज

संदेह होने पर जब उसने हंगामा करना शुरू किया पूनम शाही ने उसे अस्पताल से बाहर करके दरवाजा बंद कर लिया। डॉक्टर पूनम शाही की संवेदनहीनता से आहत सूरज पत्नी का शव लेकर परिजनों के साथ थाने पहुंचा। शव गेट पर रखकर उसने पुलिस को पूरी बात बताई तो पुलिस ने पंचनामा कर उसके शव को पीएम के लिए भेज दिया। शाम करीब 4 बजे पीएम हाउस से वापस आने पर जब परिजनों ने डॉक्टर के विरुद्ध मुकदमा लिखाने की बात कही तो पुलिस टाल-मटोल करने लगी।

पूनम शाही के विरुद्ध पहले भी हुई है शिकायत

आक्रोशित परिजनों ने थाने से बाहर आकर पिसावां-गोपामऊ मार्ग पर जाम लगा दिया। माहौल बिगड़ता देख पुलिस मुकदमा लिखने को राजी हुई। सितंबर माह में गुरुसंडा गांव के बबलू ने एसडीएम को प्रार्थना-पत्र देकर डॉक्टर पूनम शादी के विरुद्ध शिकायत दर्ज कराई थी। उसका आरोप था कि डॉक्टर पूनम शाही ने उसकी पत्नी को गर्भवती बताकर इंजेक्शन लगा दिया था जिसके बाद उसकी कमर का मांस सड़ गया था जबकि उसकी पत्नी गर्भवती नहीं थी। हालत बिगड़ने के बाद पूनम शाही ने उसकी पत्नी को अस्पताल से बाहर भगा दिया था। दूसरे अस्पताल में ले जाकर उसने पत्नी का इलाज कराया लेकिन पत्नी की कमर का मांस काटना पड़ा था।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.