महेंद्र सिंह धोनी के पूर्व कप्तान मनीष वर्धन बोले- बिहार में प्रतिभा की नहीं, बल्कि इन्फ्रास्ट्रक्चर की कमी!

रिपोर्ट- विक्रम झा

पूर्णिया. बिहार से टीम इंडिया में तेज गेंदबाज मुकेश कुमार का चयन हुआ है. इसकी खुशी बिहार से लेकर झारखंड तक है. बिहार में क्रिकेट के भविष्य पर झारखंड रणजी के पूर्व कप्तान और झारखंड अंडर 23 टीम के कोच मनीष वर्धन से एक्सलुसिव बात की है. मनीष पूर्णिया के हैं. इनकी कप्तानी में टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी रणजी ट्रॉफी खेल चुके हैं. मनीष ने कहा कि बिहार में प्रतिभा की कमी नहीं है. बस इन्फ्रास्ट्रक्चर नहीं है. अगर इस पर काम होगा तो बहुत से सितारे टीम इंडिया में बिहार के होंगे.

मुकेश में काफी प्रतिभा
बिहार के गोपालगंज के मुकेश के चयन होने पर मनीष ने खुशी जाहिर की. उन्होंने आगे कहा कि यह अवॉर्ड मुकेश के कड़ी मेहनत का परिणाम है. बिहार में प्रतीभा काफी है. टीम इंडिया के सदस्य ईशान किशन भी बिहार से हैं. उनकी प्रतीभा किसी से छुपी नहीं है. मुकेश को जब भी मौका मिलेगा वो शानदार प्रदर्शन करेंगे. उनको मेरी तरफ से बधाई.

बिहार की धरती से निकले कई खिलाड़ी
मनीष वर्धन ने आगे कहा कि बिहार में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है. मैं छोटे से पूर्णिया से निकलकर झारखंड में रणजी का कप्तान बना, फिर अंडर 19 का सिलेक्टर बना, अब अंडर 23 का कोच हूं. सबा करीम, ईशन किशन और अब मुकेश कुमार यह सब इसी बिहार की धरती से आगे बढ़े हैं. हां इन्होंने मंजिल किसी और स्टेट से हासिल की. बिहार में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है. बस यहां इंफ्रास्ट्रक्चर की भारी कमी है. हम लोग यहां पर मैट विकेट पर क्रिकेट खेलते हैं, लेकिन बिहार के बाहर सभी जगह टर्फ विकेट आपको मिलेगा. ऐसे में तालमेल करना बहुत मुश्किल होता है. अगर बिहार में भी टर्फ विकेट वाले ग्राउंड तैयार हो जाएं तो फिर यहां की प्रतिभा को और पंख मिलेंगे.

पहले रणजी मैच में शतक ने दिलाई पहचान
अपनी जर्नी को बताते हुए मनीष ने कहा कि जब मैं पूर्णिया से झारखंड क्रिकेट खेलने गया तो मेरे जिला का नाम भी सही से लोग नहीं जान पा रहे थे. जब मुझे झारखंड रणजी मैच में खेलने का मौका मिला और मैंने पहले ही मैच में शतक जड़ा, तो इसके बाद मेरे जिला का नाम सभी लोग जानने लगे. मनीष ने आगे कहा कि जिस समय में झारखंड रणजी का कप्तान था, टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी शुरुआत कर चुके थे. वह शुरुआती दिनों में भी इसी तरह से खेलते थे, जिसको उन्होंने आगे भी कंटिन्यू किया. इसके बाद तो उन्होंने इतिहास ही रच दिया. मैं युवाओं से यही कहना चाहता हूं कि क्रिकेट में जितना पेशेंस रखेंगे, उतने ही सफल होंगे. सफलता का कोई दूसरा शॉर्टकट तरीका नहीं होता है.

बहुत जल्द बिहार और पूर्णिया के लिए करूंगा बड़ा
मनीष वर्धन ने अपने भविष्य की योजना को बताते हुए कहा कि पूर्णिया सहित बिहार में कहीं प्रतिभावान खिलाड़ी हैं. बस उनको निखारने की जरूरत है.

इसके लिए मैं एक बड़े प्रोजेक्ट पर काम कर रहा हूं. बहुत जल्द पूर्णिया सहित बिहार के युवा क्रिकेटरों के लिए बहुत कुछ होगा.

Tags: BCCI Cricket, Bihar News, Indian Cricket Team, MS Dhoni news, Purnia news

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.