भाजपा पर बरसे संजय राउत, कहा- मैला हो गया है महाराष्ट्र का राजनीतिक माहौल

ANI

अपने इसी लेख में ‘रोखठोक’ ने कहा कि नफरत की भावना के साथ नेता अब एक ऐसी स्थिति में पहुंच गए हैं, जहां वे नहीं चाहते कि उनके विरोधी जीवित भी रहें। महाराष्ट्र का राजनीतिक माहौल मैला हो गया है, जहां लोग एक-दूसरे को हमेशा के लिये समाप्त करने निकले हैं।

जेल से बाहर आने के बाद शिवसेना के सांसद संजय राउत भाजपा और एकनाथ शिंदे पर जबरदस्त तरीके से हमलावर हैं। एक बार फिर से उन्होंने दावा किया है कि महाराष्ट्र की राजनीति पूरी तरीके से दूषित हो गई है। अपने बयान में संजय राउत ने कहा कि महाराष्ट्र राजनीतिक माहौल मैला हो गया है, जहां कई लोग एक दूसरे को हमेशा के लिए समाप्त करने पर निकले हैं। दरअसल, जेल से बाहर आने के बाद संजय राउत ने पार्टी के मुखपत्र सामना में अपने स्तंभ ‘रोखठोक’ को फिर से लिखना शुरू किया है। अपने इसी लेख में ‘रोखठोक’ ने कहा कि नफरत की भावना के साथ नेता अब एक ऐसी स्थिति में पहुंच गए हैं, जहां वे नहीं चाहते कि उनके विरोधी जीवित भी रहें। महाराष्ट्र का राजनीतिक माहौल मैला हो गया है, जहां लोग एक-दूसरे को हमेशा के लिये समाप्त करने निकले हैं।

इसे भी पढ़ें: एनर्जेटिक हैं राहुल गांधी और आदित्य ठाकरे, संजय राउत ने कहा- दोनों युवा देश का नेतृत्व करने में सक्षम

संजय राउत ने साफ तौर पर कहा कि महाराष्ट्र का राजनीतिक माहौल पूरी तरीके से प्रदूषित हो गया है और यहां लोग एक दूसरे को खत्म करने पर उतारू है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि मुझसे महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री और भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस की उस टिप्पणी के बारे में भी पूछा गया जिसमें उन्होंने कहा था कि राजनीति में कड़वाहट खत्म होनी चाहिए। तब मैंने जवाब दिया था कि वह सच बोल रहे हैं। इस पर मीडिया कहने लगा कि मैं नरम रुख अपना चुका हूं। उन्होंने दावा किया कि लोकतंत्र और स्वतंत्रता का अब अस्तित्व नहीं है, इनका सिर्फ नाम रह गया है। राजनीति विषैली हो गई है। ब्रिटिश शासन के दौरान भी ऐसा नहीं था। 

इसे भी पढ़ें: जेल से रिहाई के बाद संजय राउत बोले, मेरी गिरफ्तारी राजनीतिक थी, ऐसी ‘बदले की सियासत’ कभी नहीं देखी

संजय राउत ने आरोप लगाया कि दिल्ली के मौजूदा शासक अपने मन मुताबिक बात सुनना चाहते हैं। ऐसा न करने वालों को दुश्मन माना जाता है। उन्होंने कहा कि चीन, पाकिस्तान दिल्ली के दुश्मन नहीं हैं, लेकिन जो सच बोलते हैं, उन्हें दुश्मन माना जाता है और ऐसे राजनेता देश का कद घटाते हैं। आपको बता दें कि गत जून में शिवसेना के 40 विधायकों के बगावत करने के बाद उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली सरकार गिर गई थी और इसके बाद बागी एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री बने थे। राउत ने इस पर कहा कि उनमें (बागियों) से कुछ जरूर वापस आएंगे। मुझे विश्वास है कि कुछ वापस आएंगे। 

अन्य न्यूज़



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.