बीजेपी को हराने के लिए सभी विपक्षी दलों की एकता नहीं होगी कारगर- अरविंद केजरीवाल ने अपने दावे की बताई वजह

नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को दावा किया कि बीजेपी को हराने के लिए सभी विपक्षी दलों के हाथ मिलाने की धारणा काम नहीं करेगी. केजरीवाल ने साथ ही कहा विपक्षी दलों को वोटर्स की उम्मीदें जगाने और अगले पांच साल के लिए एजेंडे पर ध्यान देना चाहिए.

हिन्दुस्तान टाइम्स के एक कार्यक्रम में शरीक हुए सीएम केजरीवाल ने कहा, ‘बीजेपी को हराने के लिए सभी विपक्षी दलों के हाथ मिलाने की यह धारणा मुझे नहीं लगता कि काम करेगी. मैं राजनीति में काफी नया हूं. विपक्षी एकता से आपका क्या मतलब है- कि सभी दल बीजेपी को हराने के लिए एक साथ आएंगे, है कि नहीं? उन्होंने बीजेपी को हराने की जिम्मेदारी कब ली? देश की जनता इसकी जिम्मेदारी लेगी.’

ये भी पढ़ें- आप ने जारी की उम्मीदवारों की दूसरी सूची, सीएम केजरीवाल ने बीजेपी से पूछे सवाल

आप प्रमुख ने कहा, ‘आपको (विपक्ष) लोगों को बताना होगा कि अगर वे आपको वोट देते हैं तो आप उनकी जिंदगी किस तरह बदलने वाले हैं. आपको लोगों को उम्मीद देनी होगी, उन्हें एक एजेंडा देना होगा- कि अगले पांच साल में आप देश को कैसे आगे बढ़ाएंगे. जिस दिन उन्हें आपका एजेंडा पसंद आ जाएगा वे खुद ही बीजेपी को बाहर कर देंगे.’

वहीं गुजरात विधानसभा चुनाव को लेकर केजरीवाल ने दावा किया कि राज्य में भारी सत्ता विरोधी लहर है और वहां के लोग बीजेपी से नाराज हैं. उन्होंने कहा, ‘AAP गुजरात में एक बड़ी उम्मीद बनकर उभरी है. जनता वास्तव में बीजेपी से नाराज है. गुजरात में हमारा दांव ऊपर जा रहा है.’

Tags: Aam aadmi party, Arvind kejriwal

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.