बांके बिहारी मंदिर हादसा मामला: हाई कोर्ट के नामित सदस्य पहुंचे वृंदावन

मथुराएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

बांके बिहारी मंदिर में पहुंचे हाई कोर्ट द्वारा नामित सदस्य रिटायर्ड जस्टिस सुधीर नारायण

श्री कृष्ण जन्माष्टमी की रात वृंदावन के विश्व प्रसिद्ध बांके बिहारी मंदिर में हुए हादसे के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने दो सदस्यीय जांच कमेटी बनाई थी। कमेटी की रिपोर्ट के बाद मंदिर में की जा रही व्यवस्थाओं को लेकर हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की गई थी। इस पर हाई कोर्ट ने पूर्व न्यायाधीश सुधीर नारायण को नामित करते हुए जांच करने के लिए कहा।

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा बनाई गई रूपरेखा परखने को पहुंचे वृंदावन

भगवान बांके बिहारी मंदिर के उचित रखरखाव और व्यवस्थाओं को लेकर उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा तैयार की गई कार्य योजना को परखने के लिए हाई कोर्ट द्वारा नामित किए गए पूर्व न्यायमूर्ति सुधीर नारायण बांके बिहारी मंदिर पहुंचे। रिटायर्ड न्यायमूर्ति ने पहले बांके बिहारी जी के दर्शन किए इसके बाद प्रशासनिक अधिकारियों से मंत्रणा की।

रिटायर्ड न्यायमूर्ति ने पहले बांके बिहारी जी के दर्शन किए इसके बाद प्रशासनिक अधिकारियों से मंत्रणा की

रिटायर्ड न्यायमूर्ति ने पहले बांके बिहारी जी के दर्शन किए इसके बाद प्रशासनिक अधिकारियों से मंत्रणा की

मंदिर परिसर का किया निरीक्षण

रिटायर्ड न्यायमूर्ति सुधीर नारायण ने प्रशासनिक अधिकारियों के साथ मंत्रणा करने के बाद मंदिर परिसर का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने मंदिर के प्रवेश और निकास द्वारों को देखा। इस दौरान अभी तक प्रशासन द्वारा लागू किए गए प्लान का अवलोकन किया। करीब दो घंटे तक मंदिर में रहे रिटायर्ड जस्टिस ने व्यवस्थाओं को बारे में गहनता से जानकारी ली।

प्रशासनिक अधिकारियों के साथ मंत्रणा करने के बाद मंदिर परिसर का निरीक्षण किया

प्रशासनिक अधिकारियों के साथ मंत्रणा करने के बाद मंदिर परिसर का निरीक्षण किया

18 अगस्त को दाखिल की गई थी याचिका

बांके बिहारी मंदिर में प्रदेश सरकार द्वारा श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए प्रदेश सरकार द्वारा क्या इंतजाम किए जा रहे हैं इसको लेकर हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की गई थी। 18 अगस्त को दाखिल जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए हाई कोर्ट की डबल बैंच प्रदेश सरकार के धर्मार्थ कार्य विभाग द्वारा बनाई जा रही कार्य योजना को परखने के लिए रिटायर्ड जस्टिस सुधीर नारायण को नामित किया था।

हाई कोर्ट की डबल बैंच प्रदेश सरकार के धर्मार्थ कार्य विभाग द्वारा बनाई जा रही कार्य योजना को परखने के लिए रिटायर्ड जस्टिस सुधीर नारायण को नामित किया था

हाई कोर्ट की डबल बैंच प्रदेश सरकार के धर्मार्थ कार्य विभाग द्वारा बनाई जा रही कार्य योजना को परखने के लिए रिटायर्ड जस्टिस सुधीर नारायण को नामित किया था

जांच के दौरान यह रहे मौजूद

रिटायर्ड जस्टिस सुधीर नारायण के बांके बिहारी मंदिर पहुंचने के दौरान जिला अधिकारी पुलकित खरे, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शैलेश पांडे, सिटी मजिस्ट्रेट सौरभ दुवे, सी ओ सदर प्रवीन मलिक के अलावा मंदिर के प्रबंधक मुनीश कुमार मौजूद रहे। बांके बिहारी मंदिर में प्रशासन द्वारा की जा रही व्यवस्थाओं की वजह से स्थानीय नागरिकों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। अधिवक्ता और मंदिर के पुजारी हिमांशु गोस्वामी ने बताया कि उन्होंने और कुछ गोस्वामियों ने बेहतर सुझाव बनाकर रिटायर्ड जस्टिस सुधीर नारायण को विभिन्न माध्यमों से भेजे हैं।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *