फिजिक्स का टीचर भिंड में कर रहा हथियार की तस्करी, पुलिस ने घेराबंदी कर पकड़ा

प्रदीप शर्मा/भिंड: भिंड जिले में शिक्षा व्यवस्था अब हाशिये पर है. बीते दो दिनों में ही ऐसी घटनायें सामने आयी है. जिन्होंने मानवता के साथ साथ शिक्षा प्रणाली पर भी सवाल खडडे कर दिये है. जहां एक ओर एक स्कूल संचालक ने 5 लोगों के साथ मिलकर फिरौती के लिए 11 साल के मासूम की हत्या कर दी, वहीं शहर के नामी स्कूल संचालक राजेश शर्मा के सिटी सेंटर पब्लिक स्कूल में पढ़ाने वाला शिक्षक अवैध हथियारों की तस्करी करते हुए गिरफ़्तार हुआ है.

ग्राहक बनकर अवैध हथियारों की खरीदारी करने पहुंचे
सिटी कोतवाली थाना प्रभारी जितेंद्र मावई ने बताया कि उन्हें एक मुखबिर से सूचना मिली थी कि शहर में दो लोग अवैध हथियारों की तस्करी कर रहे हैं. जानकारी के आधार पर पुलिस ने दोनों से ग्राहक बनकर सम्पर्क किया और फ़ोन कर अवैध हथियार ख़रीदने की बात कर जाल फेंका और दो पिस्टल ख़रीदने का सौदा तय कर लिया. रात में ग्राहक बनकर पुलिस ने शहर के वीरेंद्र नगर में हथियारों की डिलीवरी लेने के लिए बुलाया. रात में एक बाइक पर सवार आरोपी अंकित रावत और अजय बघेल अपनी बाइक से बताए गए स्थान पर पहुंचे. जहां पुलिस ने पूरी फ़ील्डिंग कर घेरा बंदी की व्यवस्था भी पहले से ही कर ली थी. पुलिस का एक जवान ग्राहक बनकर सामने लेने पहुंचा और पिस्टल देखने लगा. इसी दौरान पहले छीपकर बैठी पुलिस सामने आ गयी.

Monalisa Bold Photos: भोजपुरी एक्ट्रेस ने टॉप की स्ट्रिप खींचकर कराया बोल्ड फोटोशूट

एक फरार हुआ
अचानक सामने पुलिस को देख कर बाइक सवार आरोपी अजय बघेल मौक़े से फरार हो गया. वहीं आरोपी अंकित रावत ने मौक़े से भागने की कोशिश तो की लेकिन खरीदार बनकर खड़े पुलिसकर्मी ने उसे पकड़ लिया. और गिरफ़्तार कर कोतवाली ले आयी.

शहर के नामी स्कूल में शिक्षक है हथियार तस्कर आरोपी
थाना प्रभारी मावई के मुताबिक पूछताछ में पता चला की वह राजेश शर्मा द्वारा संचालित सिटी सेंटर स्कूल में फिजिक्स का टीचर है. साथ ही लम्बे समय से हथियार तस्करी कर रहा है. दोनों दोस्त ग्राहक की डिमांड पर उत्तरप्रदेश से अवैध हथियार लाकर खरीदार को सप्लाई करते थे. पुलिस फिलहाल इस मामले में और भी खुलासों और दूसरे आरोपी की गिरफ़्तारी के प्रयासों में आरोपी शिक्षक से पूछताछ कर रही है.

निजी स्कूलों के शिक्षकों का होना चाहिए पुलिस वेरिफिकेशन
तीसरी कक्षा में पढ़ने वाले मासूम आर्यन की एक स्कूल संचालक द्वारा हत्या और एक शिक्षक द्वारा ही हथियारों की तस्करी जैसे दोनों ही मामलों को लेकर थाना प्रभारी का मानना है कि शिक्षा व्यवस्था को दुरुस्त रखने के लिए अब स्कूलों को अभी आगे आना पड़ेगा. किसी शिक्षक की भर्ती समय उसका पुलिस वेरिफिकेशन तो कराना ही चाहिए. जिससे पालक अपने नौनिहालों को सुरक्षित हातों में सौंप सके.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.