प्रियंका गांधी ‘फरिश्ता’ है,’ राजीव गांधी हत्याकांड की दोषी नलिनी ने खोले दिल में दफन राज

हाइलाइट्स

राजीव गांधी हत्याकांड की दोषी नलिनी ने किया प्रियंका गांधी का जिक्र
कहा- प्रियंका ने जेल में मुझे अपने पास बैठाया, यह बहुत बड़ी बात थी
नलिनी बोली- पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या में मेरी भूमिका नहीं

नई दिल्ली. पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी हत्याकांड की दोषी नलिनी श्रीहरन ने कहा- ‘प्रियंका गांधी वाड्रा फरिश्ता हैं. मेरी उनसे जेल में भावुक मुलाकात हुई. वह बहुत दयावान हैं. उन्होंने खुद ही मेरा सम्मान किया. यह बहुत बड़ी बात थी क्योंकि हमारे साथ जेल में अच्छा व्यवहार नहीं किया जाता था.’ हमें अधिकारियों के सामने बैठने तक की मनाही थी. हमें खड़े होकर बात करनी पड़ती थी. लेकिन, जब प्रियंका आईं तो उन्होंने मुझे अपने पास बैठाया. यह मेरे लिए अलग अनुभव था. प्रियंका ने पिता की हत्या के बारे में पूछा और भावुक होकर रो पड़ीं.’

नलिनी ने एनडीटीवी को दिए इंटरव्यू में कहा- ‘पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की हत्या में उनकी कोई भूमिका नहीं थी. वह जेल इसलिए गईं क्योंकि उनके पति के दोस्त की उनसे जान-पहचान थी. मैं जानती हूं मैं दोषी हूं, लेकिन मेरा मन और मेरी अंतरआत्मा जानती है कि उस दिन क्या हुआ था. मुझ पर इसलिए आरोप लगे क्योंकि हत्याकांड का षड्यंत्र रचने वाले समूह का मैं हिस्सा थी. जिन्होंने साजिश की वह मेरे पति के दोस्त थे. मैं अपने आप में ही रहती थी. मेरी उनसे बात भी नहीं होती थी. बस, जरूरत पर मैं उनकी मदद कर देती थी. जैसे उनके साथ मंदिर जाना, बाजार जाना या कहीं भी जाना हो मैं जाती थी. इसके अलावा मेरा उनसे कोई निजी संबंध नहीं है. मैं तो उनके परिवारों को भी नहीं जानती.’

सात बार कर चुकी थी फांसी की तैयारी- नलिनी
नलिनी ने कहा- ‘साल 2001 में सजा में हुए बदलाव से पहले ही मैं सोच चुकी थी कि मुझे किसी भी वक्त फांसी दी जा सकती है. मैं इसके लिए सात बार तैयारी कर चुकी थी. क्योंकि, सात बार मेरे लिए ब्लैक वॉरंट जारी हुआ था.’ नलिनी ने एनडीटीवी के साथ अपनी बेटी हरीथ्रा से मुलाकात का भी जिक्र किया. नलिनी की बेटी जेल में 19992 में पैदा हुई थी. उसके बाद उसकी परवरिश बाहर हुई. आज वह लंदन में डॉक्टर है. साल 2019 में उसकी शादी हुई थी. शादी के लिए नलिनी को एक महीने की पेरोल मिली थी.

बेटी के मां को भुलने की गम
नलिनी ने कहा- वह मुझे पूरी तरह भूल चुकी थी. मैंने ही उसे जन्म दिया था और जब वह दो साल की हुई तो मुझसे बिछड़ गई. बाहर परवरिश होने की वजह से वह भूल चुकी है कि मैं कौन हूं. अब हम संबंधों को दोबारा तलाश करने की कोशिश कर रहे हैं. हम दोनों के लिए यह मुश्किल भरा समय है. हम दोनों परिपक्व हैं, चीजों को समझ सकते हैं. लेकिन, वह अभी युवा है. वह नहीं समझ सकेगी कि क्या हो रहा है. इसी वजह से अभी वह जिंदगी का संघर्ष कर रही है. यह मेरी बेटी के लिए वाकई बहुत मुश्किल है.

Tags: Delhi news, Priyanka gandhi, Rajiv Gandhi

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.