परेशानी का सबब बन रहा वर्क फ्रॉम होम, पीठ, गर्दन दर्द से लोग छोड़ रहे जॉब, इससे बचने के लिए अपनाएं ये उपाय

People Left Jobs Due to Work From Home: कोरोना ने हमारी जीवनशैली पर बहुत गहरा प्रभाव डाला है. महामारी करीब तीन साल पहले शुरू हुई थी और अब स्थिति सामान्य हो चुकी है. कोरोना महामारी ने ऑफिस वर्क पर भी बड़ा असर डाला है. महामारी के बाद बाजार खुलने लगे हैं लेकिन कई बड़े देश कर्मचारियों की कमी की समस्या का सामना कर रहे हैं. अमेरिका और यूरोप के कई देश बदले हुए वर्क पैटर्न की वजह से अपनी नौकरी छोड़ रहे हैं. इसका सबसे बड़ा कारण है कई महीनों से चल रहा है वर्क फ्रॉम होम और उसकी वजह से कर्मचारियों की गर्दन और कमर में दर्द.

द गार्डियन की खबर के अनुसार वर्क फ्रॉम होम के दौरान गलत तरीके से लगातार बैठने से हजारों कर्मचारियों को गर्दन और कमर की समस्याओं का सामना करना पड़ा और इसके चलते उन्होंने अपनी नौकरी छोड़ दी. ब्रिटेन की ऑफिस फास नेशनल स्टेटिस्टिक्स की रिपोर्ट में इसको लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है. रिपोर्ट के मुताबिक 3 साल पहले 2019 में बीमारी की वजह से देश में काम न करने वालों की संख्या करीब 20 लाख थी वहीं अब यह संख्या 25 लाख को पार कर गई है.

62 हजार लोगों ने छोड़ दी नौकरी
रिपोर्ट में हैरानी वाली बात यह है कि इनमें से करीब 62 हजार लोग ऐसे हैं जिन्होंने वर्क फ्रॉम होम के दौरान गर्दन और कमर में दर्द की शिकायत दर्ज कराई और इसके चलते उन्होंने नौकरी छोड़ दी. बता दें कि ब्रिटेन में नौकरी छोड़ने की सबसे बड़ी वजह मानसिक बीमारी है और अब दूसरे नंबर पर वर्क फ्रॉम होम के चलते नेक और बैक पेन है.

इस उम्र के लोग सबसे ज्यादा हो रहे प्रभावित
लंदन के एक हेल्थ एक्सपर्ट के मुताबकि पिछले एक दो सालों में गर्दन और कमर दर्द के मामले काफी तेजी से बढ़े हैं. यह समस्या ज्यादातर 25 से लेकर 45 साल के लोगों के बीच में देखी जा रही है. एक्सपर्ट ने कहा इस समस्या के पीछे सबसे बड़ा कारण घंटो लैपटाप पर बैठकर काम करना, गर्दन को लगातार झुकाए रखना और बैठने के गलत तरीके हैं. उन्होंने कहा कि कई लोग तो दर्द से इतने ज्यादा पीड़ित पाए गए हैं कि वह अब बैठकर काम करने की स्थिति में ही नहीं हैं.

World Pneumonia Day: जानलेवा भी साबित हो सकता है निमोनिया, यहां जानें इसके कारण और लक्षण

घंटो एक ही स्थिति से पहुंच रहा नुकसान
हेल्थ एक्सपर्ट ने कहा कि ऑफिस में काम करने के लिए एक खास तरह का माहौल और डिजाइन होता है लेकिन, घर में लोग उस तरह से काम नहीं करते. लोग एक ही स्थिति में घंटो बैठे रहते हैं जिसका शरीर पर बुरा असर पड़ता है. बिस्तर या फिर सोफे पर घंटो बैठकर काम करने से गर्दन और पीठ पर दर्द की संभावना कई गुना बढ़ जाती है.

हाइब्रिड मोड पर काम करें कर्मचारी
एक्सपर्ट ने कहा कि पीठ और गर्दन के दर्द से छुटकारा पाने के लिए मरीजों को हाइब्रिड मोड पर काम करना शुरू करना चाहिए. इसके लिए कर्मचारियों को सप्ताह में कुछ दिन दफ्तर में काम करना चाहिए और कुछ घर से काम करना चाहिए. हर किसी को घर में काम करने से पहले दफ्तर जैसा सेटअप तैयार करना चाहिए और इस बात का ध्यान रखें के थोड़ी थोड़ी देर में माइक्रोब्रेक्स लेकर टहले जरूर.

Tags: Health, Lifestyle, Work From Home

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.