पंडित जवाहरलाल नेहरू की जयंती पर कांग्रेस नेताओं की श्रद्धांजलि, कहा- नेहरू आधुनिक भारत के निर्माता, 2014 के बाद उनकी प्रासंगिकता बढ़ी

देश भर में 14 नवंबर को पंडित जवाहरलाल नेहरू की जयंती मनाई जा रही है। इस मौके पर कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और सोनिया गांधी ने शांति वन जाकर उन्हें श्रद्धांजलि दी। नेहरू को श्रद्धांजलि देते हुए कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने कहा कि उनकी प्रासंगिकता 2014 के बाद से काफी बढ़ी है।

नयी दिल्ली। कांग्रेस ने पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू की जयंती पर सोमवार को उन्हें श्रद्धांजलि दी और आधुनिक भारत के निर्माण में उनके योगदान को याद करते हुए कहा कि 2014 के बाद ही नेहरू की प्रासंगिकता बढ़ी है। पार्टी अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे और कांग्रेस संसदीय दल की प्रमुख सोनिया गांधी ने शांतिवन पहुंचकर देश के प्रथम प्रधानमंत्री की जयंती पर उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। 

खरगे ने ट्वीट किया, पंडित नेहरू – आधुनिक भारत के निर्माता। 21वीं सदी की कल्पना उनके असीम योगदान को याद किये बिना नहीं की जा सकती। उन्होंने कहा, वह लोकतंत्र के पैरोकार थे। उनके प्रगतिशील विचारों ने चुनौतियों के बावजूद भारत के सामाजिक, राजनीतिक और आर्थिक विकास को मज़बूत बनाया। एक सच्चे देशभक्त को मेरी विनम्र श्रद्धांजलि। कांग्रेस महासचिव जयराम रमेश ने ट्वीट किया, आज भारत जोड़ो यात्रा का 68वां दिन है और नेहरू की 133वीं जयंती भी। हम अभी महाराष्ट्र के हिंगोली जिले में हैं। 

संयोग से अंग्रेज़ी और हिंदी के अलावा मराठी में भी उन पर एक अच्छी किताब आई है। उन्होंने कहा, इतिहास से छेड़छाड़ करने वाले मौजूदा सरकार से जुड़े लोग (मो-डिस्टोरियनंस) उन्हें बदनाम और कलंकित करना जारी रखेंगे। लेकिन नेहरू प्रेरणा देते रहेंगे। उनकी प्रासंगिकता 2014 के बाद ही बढ़ी है। रमेश के अनुसार, नेहरू की प्रतिष्ठित पुस्तक भारत एक खोज/हिंदुस्तान की कहानी की 600 प्रतियां आज यात्रियों को वितरित की जाएंगी। इन्हें बेहद कम समय में सूचना पर एक वालंटियर दिल्ली से 23 घंटे का सफर तय कर के लाया है। 

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और कांग्रेस के कई अन्य वरिष्ठ नेताओं ने नेहरू को उनकी जयंती पर श्रद्धांजलि दी और उनके योगदान को याद किया। गौरतलब है कि नेहरू 1947 में देश के आजाद होने के बाद से 27 मई,1964 को अपने निधन तक देश के प्रधानमंत्री थे।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.