गोरखनाथ मंदिर में CM योगी ने की समीक्षा बैठक: खिचड़ी मेला की तैयारियों का जाने हाल, बोले- समय से पूरे करें सभी काम; कानून व्यवस्था पर दें विशेष जोर

गोरखपुर6 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

गोरखपुर पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार की रात गोरखनाथ मंदिर में अधिकरियों संग बैठक की। इस दौरान सीएम योगी ने मकर संक्रांति, कानून व्यवस्था, स्वास्थ्य व्यवस्थाएं और विकास कार्यों की एक- एक कर समीक्षा की।

सीएम ने मकर संक्रांति मेला 2023 की तैयारियों की अधिकारियों से जानकारी ली और उन्हें निर्देशित किया कि सभी तैयारी को समय से पूरी कर ली जाए। उन्होंने कहा कि मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को बेहतर सुविधा और व्यवस्था उपलब्ध कराए जाने के लिए जिला प्रशासन, नगर निगम, स्वास्थ्य विभाग सहित सभी विभाग अभी से ही अपनी पूरी तैयारियों में जुट जाए।

नए साल से ही शुरू हो जाती है भीड़
मुख्यमंत्री ने कहा, नए साल के पहले दिन से ही लाखों की संख्या में श्रद्धालु गोरक्षनाथ मंदिर में आने लगते हैं। इसके बाद लगातार बसंत पंचमी तक आते रहते हैं, इसलिए पुलिस प्रशासन सतर्क रहकर भीड़ को नियंत्रित करने और ट्रैफिक डायवर्जन आदि की व्यवस्था पर काम करे। उन्होंने मेला में वाहनों की पार्किंग, पथ-प्रकाश और साफ सफाई की व्यवस्था के लिए नगर निगम अधिकारियों को सख्त निर्देश दिया।

रोडवेज करे तैयारी, रेलवे से भी करें बात
वहीं, सीएम ने कहा, खिचड़ी मेला के लिए श्रद्धालुओं को गांव-गांव तक परिवहन की सुविधा मिलेगी। परिवहन विभाग इसके लिए रोडवेज की अभी से बसों के इंतजाम की तैयारी शुरू कर दे। रेलवे प्रशासन से संवाद कर अलग अलग स्टेशनों से मेला स्पेशल ट्रेनों का संचलन कराने के साथ ही गोरखपुर स्टेशन और नकहा हाल्ट से इलेक्ट्रिक सिटी बसों की सुविधा उपलब्ध कराई जाए। इन सुविधाओं की जानकारी अभी से लोगों को दी जाए।

सीएम योगी ने मकर संक्रांति, कानून व्यवस्था, स्वास्थ्य व्यवस्थाएं और विकास कार्यों की एक- एक कर समीक्षा की।

सीएम योगी ने मकर संक्रांति, कानून व्यवस्था, स्वास्थ्य व्यवस्थाएं और विकास कार्यों की एक- एक कर समीक्षा की।

फुटपाथ पर सोने वालों को रैन बसेरा में पहुंचाए
इसके अलावा सीएम ने कहा, ठंड शुरू हो चुकी है। शहर के सभी रैन बसेरों को ठीक रखा जाए, लोग सड़को के फुटपाथों पर कोई भी व्यक्ति सोता हुआ नहीं दिखना चाहिए। इसलिए नियमित रूप से निगरानी की जाए और फुटपाथ पर सोने वाले लोगो को रैन बसेरों में पहुंचाने की व्यवस्था की जाए।

जर्जर पोल और तार ठीक जल्द करें
इसके अलावा उन्होंने विद्युत विभाग जर्जर तारों को ठीक करने के साथ ही मेला के दौरान विद्युत आपूर्ति की वैकल्पिक व्यवस्था रखने के भी निर्देश दिए। सीएम ने स्वास्थ्य विभाग को हेल्थ कैम्प लगाने के साथ ही अस्पतालों को अलर्ट मोड पर रखने को कहा।

सड़कों की मरम्मत और चौड़ीकरण में न हो देरी
इसके अलावा सीएम ने कानून व्यवस्था की समीक्षा करते हुए मेला में पर्याप्त फोर्स, महिला पुलिस के साथ ही CCTV कैमरा आदि लगवाने के भी निर्देश दिए हैं। वहीं, गोरखपुर विकास प्राधिकरण और PWD के अधिकारियों को सीएम ने निर्देश दिया कि राष्ट्रीय राजमार्ग अपनी अपनी सडकों को ठीक कराएं, डायवर्जन वाले मार्गाे के चौड़ीकरण के लिए भी योजना बनाई जाए, जिससे मार्ग परिवर्तित करने पर यात्रियों को दिक्कतों का सामना न करना पड़े।

डेंगू की जांच, इलाज और रोकथाम पर दें विशेष ध्यान
बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने डेंगू की स्थिति की भी समीक्षा की। उन्होंने डीएम, सीएमओ और अन्य अधिकारियों को निर्देशित किया कि डेंगू की जांच, इलाज व रोकथाम की मुकम्मल व्यवस्था होनी चाहिए। हर मरीज का त्वरित उपचार हो। साथ ही लोगों को लगातार जागरूक किया जाए जिससे डेंगू को पनपने ही न दिया जाए।

विकास कामों में लाएं तेजी
मुख्यमंत्री ने जेल रोड बाईपास के काम में तेजी लाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि देवरिया बाईपास और सिक्सलेन पुल के निर्माण के लिए संबंधित विभाग मिलकर काम करें और गोड़धोइया नाले के काम में भी तेजी लाएं।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.