गाजीपुर में दोहरा हत्याकांड: घर में सो रही मां-बेटी की गला दबाकर हत्या, गांव में मातमी सन्नाटा पसरा

घटनास्थल पर पहुंचे आईजी और नवागत एसपी

घटनास्थल पर पहुंचे आईजी और नवागत एसपी
– फोटो : अमर उजाला

ख़बर सुनें

उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले से एक सनसनीखेज वारदात सामने आई है। मुहम्मदाबाद कोतवाली क्षेत्र के कठऊत गांव में बीती रात किसी समय घर में सो रही मां-बेटी की गला दबाकर हत्या कर दी गई। सोमवार अलसुबह घटना की जानकारी परिजनों को हुई तो सनसनी फैल गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। वारदात का कारण साफ नहीं है।

आईजी रेंज वाराणसी के. सत्यनारायण और जिले के नवागत एसपी ओमवीर सिंह ने घटना स्थल का निरीक्षण करने के साथ परिजनों से पूछताछ की। इधर, परिजनों के रोने बिलखने से गांव में मातमी सन्नाटा पसरा गया। कठऊत गांव निवासी कौशल्या देवी (70) और विवाहित पुत्री मालती देवी (35) रविवार रात घर में अकेली थी। जबकि पुत्र गौरी राजभर निमंत्रण पर किसी दूसरे गांव गया था।

कमरे के बाहर पड़ा था मां-बेटी का शव

सोमवार अलसुबह जब वो घर पहुंचा तो देखा कि कमरे के बाहर मां कौशल्या और बहन मालती का शव पड़ा हुआ है। दोनों के मुंह से खून आने के निशान थे। शोर मचाने पर आसपास के लोग भी मौके पर पहुंच गए। मां-बेटी की हत्या की खबर से गांव में सनसनी फैल गई।

इधर, सूचना मिलते ही पुलिस टीम भी मौके पर पहुंच गई। शवों को कब्जे लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। घटनास्थल का बारीकी से निरीक्षण करने के बाद परिजनों एवं ग्रामीणों से भी पूछताछ की। वाराणसी रेंज के आईजी के. सत्यनारायण और जिले के नवागत एसपी ओमवीर सिंह घटनास्थल पर पहुंचे और जायजा लिया।

उन्होंने पुलिस को दोहरे हत्याकांड का पर्दाफाश करने का निर्देश दिया। कोतवाल अशोक मिश्र ने बताया कि हत्या का कारण स्पष्ट नहीं हैं। जल्द ही दोहरे हत्याकांड का खुलासा कर दिया जाएगा। एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है। 

विस्तार

उत्तर प्रदेश के गाजीपुर जिले से एक सनसनीखेज वारदात सामने आई है। मुहम्मदाबाद कोतवाली क्षेत्र के कठऊत गांव में बीती रात किसी समय घर में सो रही मां-बेटी की गला दबाकर हत्या कर दी गई। सोमवार अलसुबह घटना की जानकारी परिजनों को हुई तो सनसनी फैल गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। वारदात का कारण साफ नहीं है।

आईजी रेंज वाराणसी के. सत्यनारायण और जिले के नवागत एसपी ओमवीर सिंह ने घटना स्थल का निरीक्षण करने के साथ परिजनों से पूछताछ की। इधर, परिजनों के रोने बिलखने से गांव में मातमी सन्नाटा पसरा गया। कठऊत गांव निवासी कौशल्या देवी (70) और विवाहित पुत्री मालती देवी (35) रविवार रात घर में अकेली थी। जबकि पुत्र गौरी राजभर निमंत्रण पर किसी दूसरे गांव गया था।

कमरे के बाहर पड़ा था मां-बेटी का शव

सोमवार अलसुबह जब वो घर पहुंचा तो देखा कि कमरे के बाहर मां कौशल्या और बहन मालती का शव पड़ा हुआ है। दोनों के मुंह से खून आने के निशान थे। शोर मचाने पर आसपास के लोग भी मौके पर पहुंच गए। मां-बेटी की हत्या की खबर से गांव में सनसनी फैल गई।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.