खुशखबरी! 1097 करोड़ से बिहार की 11 सड़कें होंगी टू लेन, सिवान की ये समस्‍या होगी दूर

रिपोर्ट: अंकित कुमार सिंह

सिवान. बिहार में 11 सड़कों के चौड़ीकरण के साथ एक पुल का निर्माण होगा. दो वित्तीय वर्ष में केंद्रीय अवसंरचना निधि के तहत इन सड़कों के चौड़ीकरण में 1097.50 करोड़ खर्च होंगे. पथ निर्माण विभाग ने प्रशासनिक मंजूरी देते हुए आगामी वित्तीय वर्ष तक इन सड़क का चौड़ीकरण करते हुए टू लेन में निर्माण कराने का निर्णय लिया है. इस प्रस्ताव पर लोक वित्त समिति की सहमति के साथ राज्य कैबिनेट से भी मंजूरी मिल गई है. इस बीच सिवान जिला अंतर्गत मैरवा-दरौली बाईपास से आवागमन करने वालों के लिए बड़ी खुशखबरी निकल कर सामने आई है, जिससे लोगों के चेहरे खिल उठे हैं. मैरवा-दरौली बाईपास से आवागमन करने के दौरान हो रही परेशानियों से लोगों को अब जल्द ही निजात मिल जाएगी. सिवान के मैरवा से दरौली की 20 किमी लंबी बाईपास सड़क को चौड़ीकरण वाली योजना में शामिल किया गया है.

सिवान के मैरवा-दरौली बाईपास सड़क की चौड़ीकरण को लेकर लंबे समय से मांग की जा रही थी. इसको लेकर स्थानीय लोगों ने प्रदर्शन कर टू लेन बनाने की मांग की थी. स्थानीय लोगों ने डीएम, सांसद, विधायक और पथ निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता तक को कई बार ज्ञापन सौंपा था. सड़क चौड़ीकरण कराने को लेकर सांसद और विधायक ने भी सदन में मुद्दा उठाया था. वहीं, लंबे समय के बाद लोगों का प्रयास सार्थक हुआ और अब विभाग ने बाईपास रोड को टू लेन बनाने की मंजूरी दे दी. इस सड़क से प्रतिदिन हजारों की संख्या में वाहनों का परिचालन होता है.

1097.50 करोड़ की राशि से 11 सड़कों का होगा चौड़ीकरण

पथ निर्माण विभाग ने बिहार के आठ जिलों की 120 किमी लंबी सड़कों की चौड़ीकरण और निर्माण कार्य कराने का निर्णय लिया है. विभागीय अधिकारियों के अनुसार राज्य के आठ जिले की 11 सड़कों और एक पुल का निर्माण होना है, जिसमें सिवान के अलावा छपरा, गया, मुजफ्फरपुर, जहानाबाद, मधुबनी, बक्सर और पटना जिले की सड़कें शामिल हैं. केंद्रीय अवसंरचना निधि के तहत इन सड़कों के चौड़ीकरण में 1097.50 करोड़ खर्च होंगे.

दो वित्तीय वर्ष में खर्च की जाएंगी राशि

विभाग ने प्रशासनिक मंजूरी देते हुए आगामी वित्तीय वर्ष तक इन सड़कों को चौड़ा करने का निर्णय लिया है. इन सड़कों के निर्माण की प्रक्रिया मौजूदा वित्तीय वर्ष में ही शुरू की जाएगी. कुल राशि को दो वित्तीय वर्ष में खर्च की जाएगी. चालू वित्तीय वर्ष 2022-23 में 443 करोड़ 56 लाख, तो गामी वित्तीय वर्ष 2023-24 में 653 करोड़ 94 लाख खर्च किए जाएंगे. चौड़ीकरण के तहत सड़कों को कम से कम टू लेन का किया जाएगा. अगर कहीं इससे अधिक की संभावना होगी तो वहां चौड़ाई बढ़ाई जाएगी. इसके लिए आवश्यक संरचनाओं को हटाया जाएगा. वहीं दो लेन सड़क उपलब्ध रहने पर सड़कों के मजबूतीकरण का भी काम होगा.

समीक्षा के बाद केंद्र सरकार को भेजी जाएगी रिपोर्ट

सड़कों की चौड़ीकरण व मजबूतीकरण का काम पथ निर्माण विभाग के कार्य प्रमंडल के माध्यम से कराया जाएगा. जबकि एक आरसीसी पुल का निर्माण बिहार राज्य पुल निर्माण निगम के माध्यम से कराया जाएगा. इसके लिए कार्यपालक अभियंताओं को निकासी एवं व्ययन पदाधिकारी बनाया गया है. विभाग ने मुख्य अभियंता ( अनुश्रवण ) को हर महीने इन सड़कों की प्रगति की समीक्षा का दायित्व सौंपा है. समीक्षा के बाद उसकी जानकारी केंद्र सरकार को भी भेजी जाएगी.

इन सड़कों का होगा चौड़ीकरण

पथ निर्माण विभाग के द्वारा पटना के मीठापुर-खगौल मेन रोड व छितनावा-उसरी-दानापुर शिवाला बाईपास, बक्सर के इटाढ़ी-धनसोई पथ, मधुबनी के निधि चौक से महावीर मंदिर चौक, जहानाबाद के बाईपास से टाउन के अंत तक, सीवान के मैरवा-दरौली बाईपास, सोनपुर से अमनौर बाजार बाईपास, छपरा के रिविलगंज-बिशुनपुर बाईपास, गरखा बाईपास व परसा बाजार बाईपास, गया एनएच 83 के बाएं हिस्से का चौड़ीकरण और मुजफ्फरपुर अखाड़ा घाट पुल के समीप आरसीसी पुल का निर्माण होगा.

Tags: Bihar News, Siwan news

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.