केजरीवाल का बीजेपी पर हमला, कहा- MCD चुनाव की घोषणा से पहले ही मान ली हार

creative common

मुख्यमंत्री ने ट्विटर का रुख करते हुए दिल्लीवासियों से भाजपा को वोट नहीं देने की अपील की और दावा किया कि जब भी कभी नगर निगम के चुनाव होंगे, तो आम आदमी पार्टी (आप) की जीत होगी। मीडिया में आई खबर में कहा गया है, “दिल्ली नगर निगम (डीएमसी) अधिनियम, 1957 के विभिन्न प्रावधानों में बदलाव किया जा रहा है।

नयी दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बृहस्पतिवार को दाव किया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने नगर निगम चुनाव की घोषणा होने से पहले ही हार मान ली है। उन्होंने मीडिया में आई एक खबर का हवाला देते हुए यह बात कही, जिसमें दावा किया गया है कि नगर निगम का विधि विभागउपराज्यपाल को अधिक शक्तियां प्रदान करने के लिए एमसीडी अधिनियम में बदलाव पर काम कर रहा है। मुख्यमंत्री ने ट्विटर का रुख करते हुए दिल्लीवासियों से भाजपा को वोट नहीं देने की अपील की और दावा किया कि जब भी कभी नगर निगम के चुनाव होंगे, तो आम आदमी पार्टी (आप) की जीत होगी। मीडिया में आई खबर में कहा गया है, “दिल्ली नगर निगम (डीएमसी) अधिनियम, 1957 के विभिन्न प्रावधानों में बदलाव किया जा रहा है। 

इसे भी पढ़ें: गोपाल इटालिया को हिरासत में लिए जाने पर आक्रामक हुई AAP, केजरीवाल बोले- गुजरात के पटेल समाज में भारी रोष

इस कदम के तहत उपराज्यपाल को एक प्रशासनिक प्राधिकारी के तौर पर अधिक शक्तियां प्रदान किए जाने की संभावना है। सूत्रों के अनुसार इस कदम के तहत उपराज्यपाल को दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) से संबंधित मामलों को अंतिम मंजूरी देने की शक्ति मिल सकती है।” इस पर प्रतिक्रिया देते हुए केजरीवाल ने ट्वीट किया,“इसका मतलब बीजेपी ने एमसीडी चुनाव के पहले ही हार मान ली। हारने वाली पार्टी को वोट देकर अपना वोट बेकार ना करें। एमसीडी चुनाव जीतने के बाद आम आदमी पार्टी की सरकार दिल्ली को साफ़ सुथरा और सुंदर शहर बनाएगी, कूड़े के पहाड़ों से मुक्ति दिलाएंगे।” भाजपा मई में भंग किए जा चुके तीनों नगर निगमों पर शासित थी जबकि ‘आप’ मुख्य विपक्षी पार्टी थी। नयी एकीकृत एमसीडी के चुनाव अभी नहीं हुए हैं क्योंकि नगर वार्डों के परिसीमन की कवायद चल रही है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



अन्य न्यूज़



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.