कांग्रेस नेता ने पीएम को लेकर दिया विवादित बयान, आज ही मोदी ने कहा था- कुछ लोग हताशा में देते हैं गालियां

ANI

अब सवाल यह है कि क्या इस बार भी मधुसूदन मिस्त्री का यह बयान गुजरात चुनाव में पार्टी के परफॉर्मेंस पर असर डाल सकता है? आश्चर्य की बात यह है कि आज ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तेलंगाना में कहा था कि कुछ लोग मुझे दिन-रात गालियां देते रहते हैं लेकिन मुझे उससे फर्क नहीं पड़ता है।

गुजरात चुनाव को लेकर चुनावी सरगर्मियां लगातार जारी है। इन सब के बीच आज कांग्रेस ने अपना घोषणा पत्र भी जारी कर दिया। कांग्रेस ने घोषणा पत्र में कहा है कि राज्य में सरकार बनने के साथ ही नरेंद्र मोदी स्टेडियम का नाम बदला जाएगा। इसी को लेकर एक निजी चैनल ने कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मधुसूदन मिस्त्री से बातचीत की थी। इसी दौरान मधुसूदन मिस्त्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी कर दी। इसके बाद से अब बवाल बढ़ता जा रहा है। भाजपा लगातार कांग्रेस पर हमलावर हो रही है। इससे पहले 2017 के गुजरात चुनाव के दौरान कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर ने आपत्तिजनक टिप्पणी की थी जिसके बाद से पार्टी को राज्य में खामियाजा भुगतना पड़ा था। 

इसे भी पढ़ें: Gujarat Election 2022: 2017 में BJP-कांग्रेस के बीच हुई थी कांटे की टक्कर, कड़े मुकाबले में मोदी ने कैसे पलटा पूरा रुख

अब सवाल यह है कि क्या इस बार भी मधुसूदन मिस्त्री का यह बयान गुजरात चुनाव में पार्टी के परफॉर्मेंस पर असर डाल सकता है? आश्चर्य की बात यह है कि आज ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तेलंगाना में कहा था कि कुछ लोग मुझे दिन-रात गालियां देते रहते हैं लेकिन मुझे उससे फर्क नहीं पड़ता है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि कुछ लोग निराशा और हताशा के कारण, सुबह-शाम मोदी को गालियां देते रहते हैं। लेकिन इससे परेशान होने की जरूरत नहीं है। उन गालियों को चाय पर हंसी-मजाक कीजिए। दूसरे दिन कमल खिलने वाला है, इस खुशी में आगे बढ़िए।  क्योंकि उनके पास गालियां देने के सिवाय कुछ बचा ही नहीं है। 

इसे भी पढ़ें: 10 लाख नौकरी, बदला जाएगा नरेंद्र मोदी स्टेडियम का नाम, गुजरात चुनाव को लेकर कांग्रेस ने अपना घोषणा पत्र किया जारी

मधुसूदन मिस्त्री को लेकर अब भाजपा कांग्रेस पर हमलावर हो गई है। भाजपा प्रवक्ता गौरव भाटिया ने कहा कि यह कांग्रेस पार्टी के नेताओं का चरित्र दिखाता है वे देश के प्रधानमंत्री के लिए अपशब्दों का इस्तेमाल करते हैं। गुजरात की जनता उन्हें सबक सिखाएगी। आपको बता दें कि कांग्रेस ने गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए अपना घोषणापत्र शनिवार को जारी किया, जिसमें उसने 10 लाख नौकरियां, 500 रुपये में एलपीजी सिलेंडर, प्रति माह 300 यूनिट मुफ्त बिजली और बेरोजगारों को 3,000 रुपये भत्ता देने का वादा किया। गुजरात में दो दशकों से अधिक समय से सत्ता से बाहर रहने वाली कांग्रेस ने तीन लाख रुपये तक का कृषि ऋण माफ करने, केजी से पीजी (किंडरगार्टन से स्नातक) तक मुफ्त शिक्षा और प्रत्येक फसल के लिए एमएसपी (न्यूनतम समर्थन मूल्य) निर्धारित करने के लिए एक समिति गठित करने का वादा किया है।

अन्य न्यूज़



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.