“कर्नाटक का स्टैंड बिल्कुल साफ”, बेलगावी में हिंसा के बाद CM बोम्मई ने की शांति की अपील

मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है.

बेंगलुरु:

कर्नाटक के बेलगावी में महाराष्ट्र-कर्नाटक सीमा (Maharashtra-Karnataka Border Dispute)पर हिंसक विरोध प्रदर्शन के दो दिन बाद मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है. सीएम ने कहा, “महाराष्ट्र के साथ सीमा विवाद को लेकर कर्नाटक का रूख हमेशा से साफ रहा है. हम पहले ही महाराष्ट्र राज्य के पुलिस महानिदेशक और मुख्य सचिव के साथ बात कर चुके हैं. यहां भी आवश्यक सुरक्षा व्यवस्था की जा रही है. मैंने पहले ही अपने महाराष्ट्र समकक्ष से बात कर ली है और दोनों पक्षों में सौहार्द की रक्षा करने का संकल्प लिया है”. 

यह भी पढ़ें

बीएस बोम्मई ने गुरुवार को पत्रकारों से कहा, ‘पड़ोसी महाराष्ट्र में रहने वाले कन्नड़ वासियों के जीवन और संपत्तियों की रक्षा के लिए जरूरी कदम उठाए जा रहे हैं. उन्होंने लोगों से महाराष्ट्र की ओर शांति बनाए रखने की भी अपील की है.” महाराष्ट्र-कर्नाटक सीमा विवाद  को लेकर बेलगावी में कन्नड़ कार्यकर्ताओं के विरोध प्रदर्शन ने मंगलवार को हिंसक रूप ले लिया, जब गुस्साई भीड़ ने महाराष्ट्र नंबर प्लेट वाले ट्रकों पर हमला कर दिया. बेलगावी में हुई हिंसा में सैकड़ों कार्यकर्ताओं को कर्नाटक पुलिस ने हिरासत में लिया है. 

पुलिस के मुताबिक, राज्य भर के विभिन्न जिलों से पहुंचे कार्यकर्ताओं ने महाराष्ट्र की ओर जा रहे पांच ट्रकों पर पथराव किया था. वे ट्रकों पर चढ़ गए और महाराष्ट्र के नेताओं के खिलाफ नारेबाजी की. उन्होंने रजिस्ट्रेशन प्लेट भी फाड़ दी और वाहनों पर काला रंग कर दिया. प्रदर्शनकारी कन्नड़ झंडों के साथ पुलिस वाहनों पर चढ़ गए और नारेबाजी की.

कार्यकर्ताओं ने बेलगावी शहर में एक बड़े जुलूस और रैली की योजना बनाई है और महाराष्ट्र के मंत्रियों के प्रवेश को भी रोकना चाहते हैं. जैसा कि महाराष्ट्र के मंत्रियों ने अपनी यात्रा को बंद कर दिया, कर्नाटक में पुलिस ने कन्नड़ कार्यकर्ताओं को कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए बेलगावी शहर में प्रवेश करने से रोक दिया. बता दें कि बेलागवी शहर में बड़ी संख्या में मराठी भाषी आबादी है.

बेलगावी में प्रदर्शन महाराष्ट्र से जारी सीमा विवाद के बीच राज्य के दो मंत्रियों के मंगलवार को प्रस्तावित दौरे के मद्देनजर हुआ था.  शंभूराज देसाई और चंद्रकांत पाटिल, जिन्हें महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने बेलगावी से जुड़े सीमा विवाद मामले की पैरवी कर रही कानूनी टीम के साथ समन्वय के लिए नियुक्त किया था, महाराष्ट्र समर्थक संगठन द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने के लिए मंगलवार को शहर का दौरा करने की योजना बना रहे थे.

ये भी पढ़ें:-

सीमा विवाद : कर्नाटक ने प्रदर्शनों के कारण महाराष्ट्र के लिए बस सेवाओं को किया निलंबित

सीमा विवाद : बेलगावी में कड़ी सुरक्षा के बीच शांति कायम

महाराष्ट्र-कर्नाटक सीमा विवाद में अमित शाह की एंट्री, विपक्ष की सर्वदलीय बैठक बुलाने की मांग

Featured Video Of The Day

जेपी नड्डा ने बिना नाम लिए केजरीवाल पर साधा ऐसे निशाना

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *