एयर पॉल्यूशन त्वचा को भी पहुंचाता है भारी नुकसान, इन उपायों से स्किन को प्रदूषण से करें प्रोटेक्ट

हाइलाइट्स

प्रदूषण के पार्टिकल्स स्किन पर चिपक जाते हैं, जिससे रोम छिद्र बंद हो जाते हैं.
वायु प्रदूषक त्वचा पर सूजन, एलर्जी, कॉन्टैक्ट डर्मटाइटिस, सोरायसिस, मुंहासे उत्पन्न कर सकते हैं.

पूरे दिल्ली-एनसीआर में इन दिनों प्रदूषण का स्तर इतना बढ़ गया है कि लोगों को सांस लेने में भी तकलीफ हो रही है. घर से बाहर निलकते ही खांसी, सांस लेने में समस्या, आंखों में जलन महसूस कर रहे हैं. हाई पॉल्यूशन उन लोगों के लिए अधिक हानिकारक है, जिन्हें फेफड़े, सांस संबंधित और अस्थमा की बीमारी है. क्या आप जानते हैं कि हवा प्रदूषण आपकी त्वचा को भी काफी ज्यादा नुकसान पहुंचाता है? आइए जानते हैं वायु प्रदूषण किस तरह से त्वचा को पहुंचा सकता है नुकसान और आप किन उपायों से अपनी स्किन की देखभाल कर सकते हैं, ताकि हानिकारक प्रदूषण से त्वचा रहे सुरक्षित और स्वस्थ.

किस तरह वायु प्रदूषण त्वचा को पहुंचाता है नुकसान?

ओन्लीमाईहेल्थ में छपी एक खबर के अनुसार, वायु प्रदूषक त्वचा को कई तरह से नुकसान पहुंचाते हैं. ऑक्सीडेटिव डैमेज के जरिए त्वचा के अंदर मौजूद लिपिड, डीऑक्सीराइबोन्यूक्लिक एसिड और प्रोटीन के कामकाज में परिवर्तन का कारण बनते हैं, जो अंततः त्वचा की उम्र बढ़ने, सूजन, एलर्जी जैसे कॉन्टैक्ट डर्मटाइटिस, एटोपिक डर्मटाइटिस, सोरायसिस, मुंहासे, यहां तक कि स्किन कैंसर का कारण भी बन सकते हैं. जितना अधिक आपकी त्वचा वायु प्रदूषकों के संपर्क में आएगी कई तरह के त्वचा रोगों के होने का रिस्क बढ़ जाता है.

इसे भी पढ़ें: स्किन केयर में ऐसे करें इन नेचुरल उबटन का इस्तेमाल, सर्दियों में भी त्वचा रहेगी मुलायम और चमकदार

त्वचा का माइक्रोबायोम लाखों बैक्टीरिया, फंगी और वायरस से बना होता है, जो इंसान की त्वचा पर मौजूद रहते हैं. ये बाहरी बैक्टीरिया से लड़ने और किसी भी बाहरी तत्वों के कारण होने वाली बीमारियों के प्रति इम्यूनिटी को अलर्ट करने के लिए आवश्यक होते हैं. प्रदूषण माइक्रोबायोम को नुकसान पहुंचाता है, जिससे नुकसानदायक बाहरी बैक्टीरिया त्वचा पर अटैक करके कई तरह की स्किन डिजीज का कारण बन सकते हैं. प्रदूषण के पार्टिकल्स आपकी स्किन पर चिपक जाते हैं, जिससे रोम छिद्र बंद हो जाते हैं. इस तरह बैक्टीरिया त्वचा के अंदरूनी हिस्से में ट्रैप होकर इंफ्लेमेटरी एक्ने, मुंहासे और अन्य स्किन प्रॉब्लम्स को उत्पन्न करते हैं.

त्वचा को प्रदूषण से बचाने के लिए अपनाए ये उपाय

1.यदि आपको घर से बाहर जाना है तो त्वचा की केयर प्रतिदिन करें वरना हानिकारक वायु प्रदूषण से स्किन डैमेज हो सकती है. त्वचा और हाथों को क्लिंज करना ना भूलें. ऑयल-बेस्ड क्लिंजर और फेस वॉश का इस्तेमाल करें. इससे स्किन साफ होती है. स्किन की बाहरी परत, पोर्स और अंदरूनी परत पर चिपकी गंदगी, धूल निकल जाती है.

2. एक सप्ताह में दो बार स्किन को एक्सफोलिएट करें. इससे मृत त्वचा कोशिकाओं को हटाने में मदद मिलती है. त्वचा के रोम छिद्रों में मौजूद प्रदूषण और गंदगी निकलती है. एक्सफोलिएट हल्के हाथों से सर्कुलेशन मोशन में करें, ताकि त्वचा पर जलन ना हो.

3. स्किन को हाइड्रेटेड रखने के लिए पानी पिएं. त्वचा की नमी के स्तर को बनाए रखने के लिए ये बहुत ज़रूरी है. हानिकारक वायु प्रदूषकों से त्वचा को सुरक्षित रखने के लिए पौष्टिक मॉइस्चराइज़र लगाएं.

4. वैसे तो हर दिन सनस्क्रीन का इस्तेमाल प्रदूषण से बचाने में सीधे तौर पर योगदान नहीं करता है, क्योंकि वायु प्रदूषक यूवी किरणों के साथ प्रतिक्रिया कर सकते हैं और टॉक्सिक पदार्थों में बदल सकते हैं, जो त्वचा के लिए बहुत हानिकारक हो सकते हैं. ऐसे में जितना संभव हो यूवी किरणों से होने वाले नुकसान से बचने के लिए बेहद अच्छी क्वालिटी की सनस्क्रीन का डेली इस्तेमाल करें.

इसे भी पढ़ें: यूथफुल दिखने के लिए करें “रेटिन-ए ट्रेटिनॉइन” का इस्‍तेमाल, जानें इसके प्रयोग का तरीका

5. हर दिन स्किन केयर रूटीन में एंटीऑक्सिडेंट को शामिल करें. इससे फ्री रैडिकल्स से होने वाले नुकसानों से स्किन को सुरक्षित रखा जा सकता है. विटामिन सी एक बेहतर एंटीऑक्सीडेंट अवयव है. इसके नियमित सेवन और स्किन पर इस्तेमाल से काले धब्बे, महीन रेखाएं और झुलसी त्वचा जैसे ऑक्सीडेटिव तनाव के लक्षणों को दूर रखने में मदद मिलेगी.

Tags: Air pollution, Health, Lifestyle, Skin care

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.