उत्तर प्रदेश के सरकारी गोदाम से पांच हजार बोरी खाद गायब : सहायक भंडार नायक समेत दो के खिलाफ मुकदमा

प्रतिरूप फोटो

Google Creative Common

बलरामपुर जिले में सरकारी गोदाम से पांच हजार बोरी डीएपी खाद गायब हो जाने का मामला प्रकाश में आया है। इस मामले में सहायक भंडार नायक सहित दो अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। उत्तर प्रदेश कोऑपरेटिव फेडरेशन लिमिटेड (यूपीपीसीएफ) के जिला प्रबंधक मानिक सिंह ने रविवार को बताया कि कुछ शिकायतें मिलने के बाद गोदाम का निरीक्षण किया गया

बलरामपुर जिले में सरकारी गोदाम से पांच हजार बोरी डीएपी खाद गायब हो जाने का मामला प्रकाश में आया है। इस मामले में सहायक भंडार नायक सहित दो अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है।
उत्तर प्रदेश कोऑपरेटिव फेडरेशन लिमिटेड (यूपीपीसीएफ) के जिला प्रबंधक मानिक सिंह ने रविवार को बताया कि कुछ शिकायतें मिलने के बाद गोदाम का निरीक्षण किया गया तो गोदाम में सामान्य डीएपी खाद की 2624 बोरी , सिंगल सुपर फास्फेट की 400 बोरी , प्री पोजिशनिंग उर्वरक की 1638 बोरी एवं प्री पोजिशनिंग खाद की 353 बोरी समेत कुल 5015 बोरी खाद गायब मिली।

इसे भी पढ़ें: चालू वित्त वर्ष में 20 लाख इकाइयो के उत्पादन लक्ष्य से चूक सकती है मारुति : शशांक श्रीवास्तव

इस उर्वरक की कुल मूल कीमत करीब 61 लाख रुपये है।
उन्होंने बताया कि उर्वरकों की इस हेराफेरी की जानकारी जिलाधिकारी सहित विभाग के उच्चाधिकारियों को दी गई।
उनके मुताबिक, इस पर कार्यवाही करते हुए जिलाधिकारी के निर्देश पर जिला कृषि अधिकारी द्वारा सहायक भंडार नायक वीरेंद्र प्रसाद कठेरिया और सहायक गोदाम प्रभारी मनोज कुमार वर्मा के खिलाफ सरकारी धन का के गबन और आवश्यक वस्तु अधिनियम की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया है।
अपर पुलिस अधीक्षक नम्रता श्रीवास्तव ने बताया कि मुकदमा दर्ज होने के बाद दोनों आरोपी लापता हो गए हैं तथा उनकी तलाश की जा रही है।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।



अन्य न्यूज़



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *