इमरान की पत्नी का ऑडियो लीक: पूर्व PM के दोस्त से कहा- खान साहब के पास कई रिस्ट वॉच, प्लीज इन्हें बिकवा दीजिए

इस्लामाबादएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

बुशरा और जुल्फी बुखारी।

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान दूसरे देशों से मिले महंगे तोहफे करोड़ों रुपए में बेचने के मामले में फंस गए हैं। खासतौर से सऊदी अरब के क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान (MBS) से मिली डायमंड रिस्ट वॉच और गिफ्ट सेट बेचने के मामले में इमरान के खिलाफ पुख्ता सबूत सामने आ रहे हैं। खान तमाम आरोपों से इनकार कर ही रहे थे कि उनकी पत्नी और दोस्त का ऑडियो वायरल हो गया।

पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, इमरान की पत्नी बुशरा बीबी और दोस्त जुल्फी बुखारी का ऑडियो इस बात का सबूत है कि इमरान के कहने पर ही बुशरा ने जुल्फी से संपर्क किया और उन्हें घड़ियां बिकवाने को कहा। जुल्फी इमरान सरकार में मंत्री रह चुके हैं और उनके बड़े राजदार माने जाते हैं।

यह फोटो 17 फरवरी 2019 की है। तब सऊदी अरब के प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान यानी MBS पाकिस्तान दौरे पर आए थे। इमरान की मेहमान नवाजी का आलम ये था कि खुद प्रिंस को न सिर्फ रिसीव करने पहुंचे, बल्कि कार भी खुद ही ड्राइव की थी।

यह फोटो 17 फरवरी 2019 की है। तब सऊदी अरब के प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान यानी MBS पाकिस्तान दौरे पर आए थे। इमरान की मेहमान नवाजी का आलम ये था कि खुद प्रिंस को न सिर्फ रिसीव करने पहुंचे, बल्कि कार भी खुद ही ड्राइव की थी।

ऑडियो लीक में क्या

  • बुशरा और जुल्फी बुखारी का यह ऑडियो कुछ दिन पहले लीक हुआ था। हालांकि, तब तक किसी बड़े मीडिया हाउस ने इसकी पुष्टि नहीं की थी। अब ‘द डॉन’ ने इस बारे में रिपोर्ट पब्लिश की है।
  • यह ऑडियो सिर्फ 21 सेकंड का है। बुशरा बीबी ने जुल्फी बुखारी को फोन लगाया। दोनों ने एक-दूसरे के हालचाल पूछे। इसके बाद बुशरा ने जुल्फी से कहा- खान साहब (इमरान) के पास कुछ घड़ियां हैं। उन्होंने मुझसे कहा है कि मैं ये घड़ियां आपको दे दूं ताकि आप इन्हें बेच दें। ये रिस्ट वॉचेस खान साहब इस्तेमाल नहीं करते। इसलिए आप इन्हें बिकवा दीजिए।
  • जुल्फी घड़ियां बिकवाने के लिए हां कह देते हैं। इस बातचीत में जुल्फी बार-बार बुशरा को मुर्शिद कहते हैं। यह लफ्ज गुरू के लिए इस्तेमाल किया जाता है। इमरान खान खुद बुशरा को रूहानी ताकत और अपनी आध्यात्मिक गुरू बता चुके हैं। जाहिर है, उनके दोस्त भी इसीलिए बुशरा को गुरू कह रहे होंगे।

सबूत मिलते चले गए

  • जब इमरान पर सरकारी खजाने (तोशाखाना) के गिफ्ट्स बेचने के आरोप लगे तो उनकी पार्टी ने बचाव में फर्जी सबूत पेश किए। कहा- तमाम गिफ्ट्स नियमों के मुताबिक तोशाखाना से खरीदे गए थे। एक घड़ी इस्लामाबाद के एक शोरूम में बेची गई थी। इसके बिल भी मौजूद हैं।
  • खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) ने जो बिल मीडिया को दिखाया। वो दरअसल, हाथ से लिखा एक कागज था। मजे की बात यह है कि जिस दुकान का यह बिल था, उसके मालिक ने वीडियो जारी करके साफ कर दिया कि यह फर्जी बिल है। अशफाक नाम के शोरूम मालिक ने कहा- हम प्रॉपर बिल देते हैं। जो बिल दिखाया जा रहा है, वो जाली है। न तो वो हैंडराइटिंग मेरी है और न सिग्नेचर। मैं PTI पर केस दायर करने जा रहा हूं।
  • खान एक और जगह फंस गए। दरअसल, उन्होंने दावा किया कि घड़ी इस्लामाबाद में बेची गई थी। लेकिन, दुबई के एक अमीर कारोबारी ने वीडियो जारी करके उनके झूठ की कलई खोल दी। पाकिस्तानी मूल के इस बिजनेसमैन ने कहा- इमरान की पत्नी बुशरा की दोस्त फराह गोगी ने मुझे सऊदी क्राउन प्रिंस की घड़ी और एक गिफ्ट सेट 2 लाख डॉलर में बेचा। मैंने इसका कैश पेमेंट किया। इसके सबूत मेरे पास मौजूद हैं।
  • कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि सऊदी सरकार ने इस बिजनेसमैन से यह घड़ी और गिफ्ट आयटम्स वापस खरीद लिए हैं।
तस्वीर बुशरा बीबी की है। उन पर आरोप है कि दोस्त फराह के जरिए उन्होंने करोड़ों कमाए।

तस्वीर बुशरा बीबी की है। उन पर आरोप है कि दोस्त फराह के जरिए उन्होंने करोड़ों कमाए।

क्या है नियम
पाकिस्तान की पत्रकार आलिया शाह के मुताबिक- पाकिस्तान में प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति या दूसरे पद पर रहने वालों को लोगों मिले तोहफों की जानकारी नेशनल आर्काइव को देनी होती है। इन्हें तोशाखाना में जमा कराना होता है।

अगर तोहफा 10 हजार पाकिस्तानी रुपए की कीमत वाला होता है तो बिना कोई पैसा चुकाए इसे संबंधित व्यक्ति रख सकता है। 10 हजार से ज्यादा है तो 20% कीमत देकर गिफ्ट अपने पास रखा जा सकता है। अगर 4 लाख से ज्यादा का गिफ्ट है तो इसे सिर्फ वजीर-ए-आजम (प्रधानमंत्री) या सदर-ए-रियासत (राष्ट्रपति) ही खरीद सकता है। अगर कोई नहीं खरीदता तो नीलामी होगी।

फराह गोगी (बाएं) ने उसी दिन पाकिस्तान छोड़ दिया था, जिस दिन इमरान सरकार गिरी थी।

फराह गोगी (बाएं) ने उसी दिन पाकिस्तान छोड़ दिया था, जिस दिन इमरान सरकार गिरी थी।

चोरी पकड़े जाने की एक कहानी और भी

  • पाकिस्तानी पत्रकार आरिफ अजाकिया और इमदाद अली शूमरो के मुताबिक- इमरान को सऊदी MBS ने गोल्ड से बनी और हीरों से जड़ी बेशकीमती रिस्ट वॉच गिफ्ट की थी। उन्होंने ग्राफ कंपनी से दो लिमिटेड एडिशन घड़ियां बनवाईं थीं। एक खुद के पास रखी थी। दूसरी इमरान को गिफ्ट की थी। इसकी कीमत करीब 16 करोड़ रुपए थी।
  • इमरान ने यह रिस्ट वॉच पिंकी पीरनी (पत्नी बुशरा बीबी) को रखने के लिए दे दी। बुशरा चलीं और उन्होंने यह घड़ी एक स्टाफर को दी, कीमत पता करने को कहा। स्टाफर ने बताया कि यह तो बेहद महंगी है।
  • बुशरा ने उस स्टाफर से इसे बेचने को कहा। ब्रांडेड घड़ी देखकर शोरूम के मालिक ने इसकी मैन्यूफेक्चरिंग कंपनी को फोन कर दिया और यहीं से इमरान की कलई खुल गई। मेकर्स ने सीधे MBS के ऑफिस से संपर्क किया और बता दिया कि आपने जो 2 घड़ियां बनवाईं थीं, उनमें से एक बिकने के लिए आई है। ये आपने भेजी है या चोरी हुई है?
  • हो सकता है, इस मामले में दावे अलग-अलग हों, लेकिन एक बात तो तय है कि सऊदी क्राउन प्रिंस से मिली डायमंड रिस्ट वॉच और गिफ्ट सेट खान ने बेचा था। अब इस मामले की जांच पाकिस्तान की फेडरल इन्वेस्टिगेिटव एजेंसी (FIA) कर रही है।

पहले भी उठे थे बुशरा पर सवाल

  • कुछ महीने पहले पाकिस्तान के सबसे बड़े जमीन माफिया मलिक रियाज और उसकी बेटी अंबर रियाज की एक ऑडियो क्लिप सामने आई थी। इसमें अंबर पिता मलिक रियाज से पंजाबी में कहती है- मेरी फराह गोगी (बुशरा की दोस्त) से बातचीत हो गई है। वो कह रही है कि बुशरा बीबी को 3 नहीं बल्कि 5 कैरट का डायमंड चाहिए। रिंग वो खुद बनवा लेगी, लेकिन उसका पेमेंट हमें करना होगा। बुशरा और फराह ने इमरान खान साहब से बात कर ली है। वो फौरन ठेके की सारी फाइलें ओके करा देंगे। इस पर मलिक रियाज कहते हैं- कोई दिक्कत नहीं। 5 कैरट का डायमंड भेज देते हैं।
  • यह डायमंड रिंग पहने बुशरा को देखा भी गया है। इसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल भी हुईं थीं। आरोप है कि इस रिश्वत के बदले इमरान सरकार ने मलिक रियाज को अरबों रुपए के ठेके दिलवाए।
  • इमरान की तीसरी पत्नी बुशरा बीबी की खास सहेली माने जाने वाली फराह खान उर्फ फराह गुज्जर उर्फ फराह शहजादी पर अरबों रुपए का भ्रष्टाचार करने का आरोप लगा। जिस दिन इमरान की कुर्सी गई, उसी दिन फराह पाकिस्तन से दुबई भाग गईं।

खबरें और भी हैं…

Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *